हिसार गृहकर शाखा में एंट्री बैन पर पार्षद-अफसर आमने सामने, पार्षद कर रहे इस्तीफा देने की तैयारी

गृहकर शाखा में जनप्रतिनिधियों की नो एंट्री का मामला तूल पकड़ गया है।
Publish Date:Tue, 22 Sep 2020 09:41 AM (IST) Author: Manoj Kumar

हिसार, जेएनएन। गृहकर शाखा में जनप्रतिनिधियों की नो एंट्री का मामला तूल पकड़ गया है। अफसर व जनप्रतिनिधि अब आमने सामने आ गए हैं। नौबत यहां तक पहुंच गई है कि सोमवार को पार्षदों ने इस्तीफा देने के मामले तक पर विचार विमर्श किया है। पार्षदों ने पार्षदकक्ष में बैठक की जिसमें विभिन्न टैक्स, फीस कमेटी और तहबाजारी सब कमेटियों के चेयरमैन भूप ङ्क्षसह रोहिला और प्रीतम सैनी पहुंचे। उनके अलावा पार्षद अनिल जैन, जयवीर गुर्जर, पार्षद प्रतिनिधि प्रवीन केडिया, उदयवीर ङ्क्षसह ङ्क्षमटू मौजूद थे। उन्होंने निगम की स्थिति से मेयर को अवगत करवाया और मंगलवार को पार्षदों की बैठक बुला ली है। उधर कमिश्नर ने गृहकर शाखा में स्टाफ भी कुछ परिवर्तन किए हैैं।

सोमवार को भी पार्षदों की एंट्री रही बैन

नगर निगम में अफसरशाही इस कदर हावी हो चुकी है कि सोमवार को जनता को गृहकर शाखा के गेट पर खिड़कियों से अपनी फाइलों के बारे में पूछना पड़ा। वहां न तो जनता के लिए बैठने का कोई प्रबंध था न ही अन्य सुविधाएं केवल खिड़की खुली और वहीं से जो बताना या फाइल देनी है वह दो ओर जाओ। काम कब होगा वह बता दिया जाएगा। गेट पर ताला लटका हुआ था जो केवल निगम कर्मचारियों के लिए ही खोला गया। पार्षदों की एंट्री पूर्णतया बंद रही।

भ्रष्टाचार के सबूत जुटाने में लगे पार्षद

नगर निगम अफसरों और कर्मचारियों के भ्रष्टाचार के सबूत अब आगामी हाउस की बैठक में गूंज सकते है। सोमवार को कई पार्षद निगम अफसरों के भ्रष्टाचार के सबूत जुटाने और पूर्व में हुई भ्रष्टाचार पर जवाब लेने की तैयारी करने में जुट गए है। सोमवार को हुई बैठक में पार्षद बोले हम जनता के काम के लिए निगम आते है। हमारी एंट्री बैन का मतलब है कि शहर की जनता की एंट्री बैन करना। जब जनता और जनप्रतिनिधियों के लिए ही निगम का गेट बंद हो जाएगा। तो निगम खोलने की क्या जरूरत है उसे भी बंद कर देना चाहिए। पार्षदों का अपमान किया जा रहा है जो सहन नहीं होगा।

गृहकर शाखा में स्टाफ की मानिटङ्क्षरग के लिए लगाई महिला कर्मचारी

मामला बढ़ा तो नगर निगम कमिश्नर ने गृहकर शाखा के कर्मचारियों के कार्य की मॉनिटङ्क्षरग के लिए एक महिला कर्मचारी वहां तैनात तक दी है। जो कर्मचारियों की फाइलों को देखेगी। उसके सुपरविजन में फाइल चैक होकर आगे अधीक्षक के पास जाएंगे। इसके अलावा ओर भी स्टाफ में परिवर्तन किए गए है।

पार्षद व जनता गृहकर शाखा में आएगी तो कर्मचारी काम कब करेंगे। कार्य जल्द और व्यवस्थित तरीके से हो इसके लिए व्यवस्था बनाई गई है। एक महिला कर्मचारी भी गृहकर शाखा में लगाई है।

- अशोक गर्ग, कमिश्नर, नगर निगम हिसार।

गृहकर शाखा में नो एंट्री को लेकर पार्षदों में विचार विमर्श हुआ है। मेयर को पूरे मामले से अवगत करवाया है। मंगलवार को मेयर के साथ बैठक है। बैठक के बाद ही इस संबंध में हम अपनी बात कहेंगे।

- भूप ङ्क्षसह रोहिला और प्रीतम सैनी, चेयरमेन सब कमेटी और पार्षद

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.