कचरा डंपिग स्थान बदलेगा निगम, चीफ इंजीनियर ने नए चिन्हित स्थान तक सड़क बनाने का इंजीनियरों को दिए आदेश

कचरा डंपिग स्थान बदलेगा निगम, चीफ इंजीनियर ने नए चिन्हित स्थान तक सड़क बनाने का इंजीनियरों को दिए आदेश

जागरण संवाददाता हिसार गांव ढंढूर व आसपास की करीब 15 हजार आबादी के लिए राहत की ख

JagranWed, 14 Apr 2021 06:03 AM (IST)

जागरण संवाददाता, हिसार : गांव ढंढूर व आसपास की करीब 15 हजार आबादी के लिए राहत की खबर है। गांव ढंढूर के पास स्थित नगर निगम के डंपिग स्टेशन पर कचरे में आग लगने से उठने वाले धुएं से ग्रामीणों को राहत मिल पाएगी। नगर निगम प्रशासन आगामी 10 दिनों में डंपिग स्टेशन पर कचरा डालना बंद करेगा। इसकी बजाए बजाए पूर्व में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट के लिए चिन्हित 32 एकड़ भूमि पर शहर से निकलने वाला कचरा डंप किया जाएगा। यह फैसला मंगलवार को नगर निगम के चीफ इंजीनियर रमन शर्मा ने डंपिग स्टेशन निरीक्षण के दौरान लिया। चीफ इंजीनियर ने निगम इंजीनियरों के साथ डंपिग स्टेशन और वहां से करीब 2 किलोमीटर की दूरी पर चिन्हित की गई नई जगह 32 एकड़ भूमि का निरीक्षण किया। निरीक्षण को दौरान डंपिग स्टेशन पर मौजूद कई लाख टन लिगेसी वेस्ट (पुराना कूड़ा) के निस्तारण के संबंध में अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए। इस अवसर पर एक्सईएन एचके शर्मा, एमई अमित बेरवाल, जेई रवि कुमार सहित आईएनडी सैनिटेशन एजेंसी के महाप्रबंधक आरएन नांगवान और प्रबंधक रवि कुमार मौजूद रहे।

-----------------------

डंपिग स्टेशन पर लिगेसी वेस्ट का होगा निस्तारण, ठेकेदार की पहुंची पोपलेन और जेसीबी

निगम के डंपिग स्टेशन पर पड़ा कई लाख टन लिगेसी वेस्ट (पुराना कूड़ा) के निस्तारण के लिए ठेकेदार के माध्यम से उसका निस्तारण करवाया जाएगा। सोमवार को ठेकेदार ने एक पोकलेन और एक जेसीबी डंपिग स्टेशन पर लगा दी है। जो कचरा निस्तारण से पहले वहां बने कचरे के पहाड़ों के बीच से रास्ता बना रहे है ताकि कचरे के अंतिम प्वाइंट तक पहुंचा जा सके। इसके लिए ठेकेदार की टीम ने कचरे में रास्ता बनाने का कार्य शुरु कर दिया है।

--------------------

कैसे होगा लिगेसी वेस्ट निस्तारण

ठेकेदार की टीम पहले नगर निगम के डंपिग स्टेशन पर पड़े कचरे को अलग अलग करेगा। उसमें लिगेसी वेस्ट से कंक्रीट, पॉलीथिन, प्लास्टिक की बोतलें, मिट्टी सहित अन्य पदार्थ को अलग अलग किया जाएगा। इसके बाद जिस वेस्ट को रिसाइकिल किया जा सकता है उसे बाद में रिसाइकिल करवाया जाएगा। इस प्रकार नगर निगम प्रशासन डंपिग स्टेशन पर प्रतिदिन डाले जा रहे कचरे का निस्तारण करेगा। अब नगर निगम का कचरा निस्तारण के तहत यह टारगेट है कि इस कचरे का पूर्ण रुप से निस्तारण करवाकर डंपिग स्टेशन पर लगे कचरे के पहाड़ों को खत्म किया जा सके।

-----------------------

शहर में कचरे की ये है स्थिति

- प्रतिदिन शहर से औसतन 180 टन कचरा निकलता है।

- पिछले 10 साल से अधिक समय से प्रतिदिन गांव ढंढूर के पास स्थित डंपिग स्टेशन पर निगम कचरा डंप कर रहा है।

- कचरे में लंबे समय से आग लगने का सिलसिला जारी है। गांव के सरपंच मनोज शर्मा आरोप लगाते रहे है कि कचरे से निकलने वाले धुएं के कारण आसपास की 15 हजार से अधिक आबादी परेशानी है। गांव के अधिकांश बुजुर्ग दमा, चर्म या अन्य बीमारियों का धुएं के कारण शिकार हो चुके है। इस धुएं ने लोगों के जीवन को नरक बना दिया है।

- प्रदेश मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने 29 दिसंबर 2014 को सॉलिड वेस्ट मैनजेमेंट प्लांट लगाने की घोषणा की थी। अभी तक प्लांट नहीं लग पाया है।

-------------------

आइएनडी सैनिटेशन एजेंसी के अधिकारियों को आदेश दिए है कि एक माह के अंदर अंदर डंपिग साइट पर कचरा प्रबंधन का कार्य शुरू करे। इसके लिए डंपिग स्टेशन पर 10 दिनों के अंदर अपनी जरुरत की सारी मशीनरी वहां लगा लगाने का कार्य पूरा करे। ताकि कचरे की समस्या का उचित समाधान हो सके। इसके अलावा डंपिग स्टेशन पर कचरा डालने की बजाए निगम टीम वहां से दो किलोमीटर दूर दूसरी साइट पर कचरा डंप करेगी।

रमन शर्मा, चीफ इंजीनियर, नगर निगम हिसार।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.