महामारी में स्वास्थ्य के लिए जागरूक हुए लोग, रेस्टोरेंट-कैफे का मेन्यू भी बदला, फास्ट फूड भी हो चला हेल्दी

कोरोना महामारी का असर रेस्टोरेंट-कैफे के मेन्यू पर भी पड़ा है। अब लोग स्वास्थ्य के प्रति जागरूक हुए हैं।हाइजिनिक न्यूट्रिशियस फूड की डिमांड बढ़ी है। ऐसे में फास्ट फूड को भी हेल्दी बना दिया गया है। मेन्यू में जिम डाइट भी शामिल स्टूडेंट्स के लिए विशेष डिस्काउंट भी है।

Umesh KdhyaniSat, 12 Jun 2021 04:51 PM (IST)
रोहतक के एक रेस्टोरेंट में परोसा जा रहा सैंडविच।

रोहतक [केएस मोबिन]।  क्या आपने कभी सोचा है, फास्ट फूड भी हेल्दी हो सकता है? बिना फिक्र के हर रोज पिज्जा, बर्गर, सैंडविच का जायका ले सकते हैं? न बीमार होने का डर न स्वाद से कोई समझौता! अगर यह अकल्पनीय लग रहा है? तो आपके संशय को थोड़ा दूर करते हैं। कोविड-19 पेंडेमिक में रेस्टोरेंट-कैफे अपने मेन्यू अपडेट कर रहे हैं। स्वास्थ्य के प्रति बढ़ती जागरूकता इसकी बड़ी वजह रही है। रेस्टोरेंट-कैफे, फास्ट फूड में इस्तेमाल किए जाने वाले इंग्रेडिएंट्स को भी इस तरह बदला जा रहा है? ताकि स्वाद के साथ ही डिश में न्यूट्रिशन भरपूर मात्रा में रहें।

हाइजिनिक, न्यूट्रिशियस फूड की डिमांड ऐसी है कि रेस्टोरेंट में जिम डाइट भी परोसी जा रही है। युवाओं खासकर स्टूडेंट्स के लिए स्पेशल डिस्काउंट भी फूड आइट्म्स पर रखे जा रहे हैं। माडल टाउन स्थित हेल्थ-वेल्थ कैफे के संचालक विवेक, अशोक व रिदम बताते हैं कि उनके यहां मेन्यू को पूरी तरह हेल्थ कान्सस रखा गया है। इस फूड कंसेप्ट पर पिछले चार वर्षाें से कार्य कर रहे हैं। करनाल से शुरूआत की गई थी, फिलहाल, करनाल, गुरुग्राम और रोहतक के माडल टाउन में कैफे संचालित हैं। हेल्दी फूड की डिमांड पहले भी थी। पेंडेमिक के बाद घर से बाहर खाने को लेकर लोग ज्यादा सतर्क हो गए हैं। रेहड़ियों आदि पर स्वाद तो मिल जाता है लेकिन हाइजिन का ध्यान नहीं रखा जाता।

स्टार्टर में भी स्प्राउट, सूप का बढ़ रहा चलन

रेस्टोरेंट-होटल में स्टार्टर में स्नैक्स, फास्ट फूड और चाय व काफी डिश व पेय पदार्थ परोसे जाते हैं। स्टार्टर में भी काफी परिवर्तन किए जा रहे हैं। नूडल्स, फ्राइज आदि की बजाए अब स्प्राउट, वेजिटेबल सूप आदि का चलन बढ़ रहा है। चाय और काफी को भी बदला गया है। रेगुलर चाय की जगह ग्रीन टी, लेमन-टी आदि की डिमांड की जाने लगी है। इसी तरह मेन काेर्स में भी काफी बदलाव किए जा रहे हैं।

गेहूं का पिज्जा बेस स्वाद के साथ पोषण से भरपूर

हेल्थ-वेल्थ कैफे पर पिज्जा का बेस बदलकर इसे पोषण से भरपूर कर दिया गया है। यहां के संचालक विवेक बताते हैं कि पिज्जा का बेस मैदे का बना होता है, हम मैदे की जगह गेहूं का इस्तेमाल करते हैं। सैंडविच में फ्रेश व्हीट ब्रेड और सब्जियां इस्तेमाल की जाती हैं। इससे स्वाद बढ़ने के साथ ही पोषण तत्व भी काफी मात्रा में मिलते हैं। यही वजह है कि जिम जाने वाले भी पिज्जा, सैंडविच जैसे फास्ट फूड का आर्डर करते हैं।

बीवरेज के शौकीनों के लिए भी काफी कुछ

फूड आइट्मस के साथ ही बीवरेज (पेय पदार्थ) को भी हेल्दी बनाया जा रहा है। लाइम वाटर से लेकर विभिन्न तरह के जूस-शेक कस्टमर की डिमांड के अनुसार तैयार किए जा रहे हैं। स्लिमर डिटोक्स जूस व अन्य कई बीवरेज ऐसे हैं जोकि बाडी में एक तरह से प्यूरीफायर की तरह कार्य करता है। नॉन वैज के शौकीन चिकन ब्रेस्ट सैलेड, चिकन सैलड विद राइस, फिश आदि का जायका ले सकते हैं।

हिसार की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.