सीवर ओवरफ्लो होने से 25 हजार की आबादी के घरों में दूषित पेयजल सप्लाई, जनता परेशान

जागरण संवाददाता हिसार पार्षद साहब अब तो सीवरेज लाइन साफ करवा दो हमारे घरों में दूषि

JagranTue, 15 Jun 2021 05:37 AM (IST)
सीवर ओवरफ्लो होने से 25 हजार की आबादी के घरों में दूषित पेयजल सप्लाई, जनता परेशान

जागरण संवाददाता, हिसार : पार्षद साहब, अब तो सीवरेज लाइन साफ करवा दो, हमारे घरों में दूषित पानी आ रहा है। ये शब्द वार्ड-17 की जनता के है जो पार्षद के पास पहुंचे और दूषित पेयजल दिखाते हुए समस्या के समाधान की मांग की। वार्ड-17 निवासी दूषित पेयजल सप्लाई से परेशान है। कारण है कि सीवरेज की सफाई नहीं होने से वे ओवरफ्लो हो चुके है जिस कारण सीवरेज का गंदा पानी पेयजल लाइनों तक पहुंच रहा है। सालों से सीवरेज की सफाई नहीं होने से दूषित पेयजल सप्लाई का सिलसिला रुक नहीं रहा हे। स्थिति लोगों के बीमार होने तक हो गई है। जनस्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदार अफसर आज तक समस्या का स्थाई समाधान करने में नाकाम रहे हैं। ऐसे में सोमवार को भी दूषित पेयजल सप्लाई का सिलसिला जारी रहा।

--

इन कालोनियों में दूषित पेयजल हो रहा सप्लाई

पार्षद महेंद्र जुनेजा ने कहा कि पटेल नगर, आठ मरला कालोनी, वाल्मीकि मोहल्ला, संजय नगर, राजपूत मोहल्ला, सीआइडी कालोनी के आसपास की गली सहत पटेल नगर के आसपास के क्षेत्र में जहां से कैमरी रोड जलघर से पेयजल सप्लाई हो रहा है उन अधिकांश क्षेत्रों में दूषित पेयजल सप्लाई हो रहा है। जिसकी शिकायत लोगों ने मुझे की है। मैं तो हैरान हूं कि अफसर कार्रवाई क्यों नहीं कर रहे जबकि मैं साल 2014 से लगातार इस समस्या से जनस्वास्थ्य विभाग के अफसरों को अवगत करवा रहा हूं लेकिन कोई समाधान नहीं हो पा रहा है।

--------------

एनजीटी जज के सामने साल 2019 में गुंज चुका मामला, समाधान आज तक नहीं

पर्यावरण संरक्षण के लिए गठित कमेटी की समीक्षा बैठक पहुंचे एनजीटी जज प्रीतम पाल पहुंचे थे। उन्होंने जनस्वास्थ्य विभाग के अफसरों का झूठ पकड़ते हुए वार्ड-17 में शुद्ध पेयजल सप्लाई के आदेश दिए थे। उनके आदेश पर एक बार व्यवस्था जरुर हुई लेकिन कुछ समय बाद फिर वहीं हालात बन गए। जिसका सिलसिला आज तक जारी है। जबकि जज ने अफसरों को व्यवस्था में बड़े स्तर पर सुधार करने के आदेश दिए थे ताकि लोगों को नियमित शुद्ध पेयजल मिल सके।

----------

मिलगेट क्षेत्र में भी यहीं हालात

प्रदेश के डिप्टी सीएम का आवास अर्बन एस्टेट में है। उस क्षेत्र में भी पिछले कई दिनों से कई घरों में दूषित पेयजल सप्लाई हो रहा था जिसके समाधान में एचएसवीपी की टीम ने कार्य किया है। लेकिन मिलगेट क्षेत्र में आज भी दूषित पेयजल सप्लाई समस्या बना हुआ है। कई क्षेत्रों में पटेल नगर व वाल्मीकि मोहल्ले जैसे हालात है। यहीं नहीं पटेल नगर में दूषित पेयजल की समस्या का मुद्दों सालों से हाउस की बैठकों में उठता रहा है समाधान का आज भी इंतजार है।

----------

जलघर की स्थिति

जलघर से इन वार्डों में पेयजल होता है सप्लाई : वार्ड-14, 15, 16 और 17

जलघर से इतनी जनसंख्या को पेयजल होता है सप्लाई : 36196

जलघर की क्षमता : 9 एमएलडी

--------------

जनस्वास्थ्य विभाग के पास सीवरेज लाइनें व मैनहोल की सफाई का बजट आता है लेकिन न जाने वह बजट कहां लगता है। सीवरेज तो साफ होते नहीं। मेरी सरकार व प्रशासन से मांग है कि मामले की जांच करवाई जाए की वास्तव में सीवरेज व ड्रेनेज साफ होती है या जिम्मेदार अफसर कागजों में ही सब साफ कर देते है। मेरे वार्ड में वर्तमान में अनुमानित 25 हजार लोगों के घरों में दूषित पानी सप्लाई हो रहा है।

- महेंद्र जुनेजा, पार्षद वार्ड-17

--------

दूषित पेयजल सप्लाई की समस्या मेरे वार्ड से लेकर कई ओर वार्डों में भी है। इस बारे में आगामी हाउस की बैठक में जनस्वास्थ्य विभाग के अफसरों से जवाब लिया जाएगा। जिला प्रशासन भी इस मामले में संज्ञान लें।

- मनोहर लाल, चेयरमैन, (पेयजल सप्लाई व सीवरेज, सब कमेटी), नगर निगम हिसार।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.