पहली बार प्रदर्शन में एकजुट हुए सभी गुट, कुलदीप की अगुवाई में सरकार के खिलाफ मोर्चा

पहली बार प्रदर्शन में एकजुट हुए सभी गुट, कुलदीप की अगुवाई में सरकार के खिलाफ मोर्चा
Publish Date:Tue, 22 Sep 2020 08:54 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, हिसार : जिला मुख्यालय पर सोमवार को कांग्रेस पार्टी के प्रतिनिधियों ने आदमपुर के विधायक कुलदीप बिश्नोई के नेतृत्व में तीन कृषि विधेयकों के विरोध में जोरदार प्रदर्शन किया। इस मौके पर बड़ी संख्या में कांग्रेस नेता व कार्यकर्ता मौजूद रहे। कुलदीप बिश्नोई ने उपस्थित कांग्रेसियों को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र सरकार का कृषि संबंधित तीन नए विधेयक काला कानून हैं। इससे देश का किसान बर्बाद हो जाएगा। सरकार ने कोरोना महामारी में जल्दबाजी में यह विधेयक लाकर किसानों के साथ धोखा किया है। यह कानून केंद्र सरकार देश के बड़े-बड़े घरानों को लाभ पहुंचाने के लिए बनाया है। इससे देश के किसानों को बड़ा भारी नुकसान होगा।

कुलदीप बिश्नोई ने कहा कि कांग्रेस पार्टी किसान हितैषी है और इस आंदोलन में किसान के साथ खड़ी है। कांग्रेस के प्रदेश मुख्य प्रवक्ता बजरंग गर्ग ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि जिस प्रकार कृषि संबंधित विधेयक रविवार को राज्यसभा में पास किया गया, वह लोकतंत्र की हत्या करने जैसा था। सरकार ने कृषि संबंधित तीन नए विधेयक लाकर देश व प्रदेश को किसान, आढ़ती व मजदूरों को नुकसान पहुंचाने का काम किया है। इसे किसी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। नए विधेयक से किसान को फसल के पूरे दाम नहीं मिलेंगे और मंडी बंद हो जाएगी।

धरना प्रदर्शन के उपरांत कांग्रेस नेताओं ने तीन विधेयकों के विरोध में जिला उपायुक्त के माध्यम से राज्यपाल के नाम ज्ञापन दिया। कार्यक्रम का मंच संचालक कांग्रेस लीगल विभाग के चेयरमैन लाल बहादुर खोवाल ने किया। ये रहे मौजूद

इस प्रदर्शन में चौधरी जगन्नाथ पूर्व सदस्य लोक सेवा कमीशन, हरपाल बुरा, भूपेन्द्र गंगवा, रणधीर पनिहार, बाला देवी, ओम प्रकाश पंघाल, रामनिवास राड़ा, अश्विनी शर्मा, राजेन्द्र सुरा, धर्मवीर गोयत, अनिल मान, सुमन शर्मा, कांग्रेस नेता तेजवीर पूनिया, योगेन्द्र योगी, स्नेहलता निबल, कमल सहरावत, धर्मबीर सिंह लोहान, आनंद जाखड़, छत्रपाल सोनी, विजेंद्र हुड्डा, तेलूराम जांगड़ा, एडवोकेट मुकेश सैनी, कुलबीर सिंह सोहल, दिलबाग सिंह, सत्यवीर पुनिया, योगेश सिहाग, सुशील शर्मा, प्रदीप कोहली, गीता सिहाग, राजबाला शर्मा, दिलबाग सिंह ढांडा, मनोज टाक माही, मक्खन लाल बिश्नोई, कृष्ण महला, संदीप इंदौरा, कर्नल सुंदर सिंह, सुभाष बिश्नोई, अजय कांत जांगड़ा, नरेश जांगड़ा, संजय गौत्तम, भूपेन्द्र पनिहार, सन्तोष चमारखेड़ा, शशि गोयल, राममेहर घिराय, सुभाष गोयल, इंद्र राज वाल्मीकि, अमर गुप्ता, लीलू राम चौहान प्रदेश महासचिव, दलजीत पंघाल, सुनील प्रभुवाला, राजवीर सरपंच खेदड़, कृष्ण कुमार नैन, राजेन्द्र बंसल, निरंजन गोयल, जयप्रकाश, रघुबीर, बलवंत फोजी, सविन शर्मा पंघाल, रविदत्त शर्मा कालवास, अनूप कनोह, पपु बुरा, पृथ्वी सिंह चनोत, राजेन्द्र सातरोड़, धर्मबीर शर्मा सातरोड़, वीरेंद्र बामल, कृष्ण कुमार मांगाली आदि कांग्रेसी भारी संख्या में मौजूद थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.