हिसार में बाजारों में फैली अव्यवस्था

हिसार में बाजारों में फैली अव्यवस्था
Publish Date:Thu, 29 Oct 2020 07:47 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, हिसार : कोविड-19 से जनता की सुरक्षा के नाम पर इस बार नगर निगम ने फड़ बाजार से बाहर कर दी है। इसका मुख्य उद्देश्य यही है कि मार्केट में भीड़ न हो और लोगों के बीच शारीरिक दूरी बनी रहे। वहीं दूसरी तरफ बाजारों में रेहड़ी चालकों का कब्जा हो रहा है। साथ ही कुछ व्यापारी तो अपना सामान सड़क तक फैला रहे हैं, जबकि निगम प्रशासन उन्हें बरामदे में सामान रखने की अनुमति दे चुका है। रामचाट भंडार के पास तो स्थाई अड़डे तक बन रहे हैं।

नगर निगम की तहबाजारी टीम लगभग हर दिन मार्केट में जा रही है और अतिक्रमण हटाने का दावा कर रही है, जबकि वास्तविकता इसके एकदम विपरित है। हालात ये हैं कि मार्केट में हर तरफ अतिक्रमण है। इससे हर समय जाम की स्थिति रहती है। भीड़ के कारण शारीरिक दूरी मात्र औपचारिकता बनकर रह गई है।

वहीं ग्राहकों की बढ़ती संख्या को देखते हुए राजगुरु मार्केट वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान गौतम नारंग की अध्यक्षता में व्यापारियों से बैठक हुई। जिसमें बाजार की मौजूदा स्थिति को बेहतर करने को लेकर विचार-विमर्श किया गया। पंजाबी धर्मशाला में हुई बैठक में महासचिव सुरेंद्र बजाज सहित एसोसिएशन पदाधिकारी दर्शन खुराना, रवि महता, सुशील गोयल और टीनू आहुजा मौजूद रहे। व्यापारियों बोले- व्यवस्था बनाने में प्रशासन दिखाए तेजी

व्यापारी नेता अनिल शर्मा, राजेन्द्र चुटानी व अशोक असीजा ने नगर निगम प्रशासन से मांग की है कि बाजारों में बेहतर व्यवस्था करवाए। ट्रैफिक पुलिस भी यातायात व्यवस्था व पार्किंग व्यवस्था दुरुस्त करने में मार्केट का सहयोग करे, तभी कारोबार तेजी से बढ़ेगा।

व्यापारियों की प्रमुख मांगें

- न्यू राजगुरु मार्केट में सार्वजनिक शौचालय का निर्माण करवाएं।

- पुराने सभी शौचालयों की मरम्मत की जाए।

- शहर की मुख्य बाजारों में सीसीटीवी कैमरे लगवाएं।

- बेसहारा पशुओं और बंदरों को पकड़ने के कार्य में तेजी लाई जाए।

- तेलियान पुल क्षेत्र में लगने वाली रेहड़ी मार्केट का सुधार करवाया जाए।

- शहर में शहीद भगत सिंह, राजगुरु व सुखदेव की प्रतिमाओं का शहीदी स्मारक का निर्माण करवाया जाए।

- मुल्तानी चौक पार्क, नागोरी गेट बाजार में महिलाओं के लिए शौचालय का निर्माण करवाएं।

----------------------

चंद रेहड़ी संचालकों पर मेहरबान तहबाजारी टीम

शहर में कई रेहड़ी संचालकों पर तहबाजारी टीम पूरी तरह मेहरबान है। हालात ये हैं कि इन संचालकों ने स्थाई कब्जा कर रखा है। टीम कार्रवाई करने आती है तो इन्हें नजरअंदाज कर देती है। अतिक्रमण हटाने की मांग को लेकर धरना देने वाले अनिल महिला के निगम टीम पर भ्रष्टाचार के आरोप सच होते नजर आ रहे हैं। यहीं कारण है कि जिदल चौक की ग्रीन बेल्ट पर चार-पांच रेहड़ी वालों को ही हटवा पाने में निगम की तहबाजारी टीम नाकाम साबित हो रही है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.