बोलेरो चालक ने रोहतक CBI के एसपी से छीना था आइडी कार्ड, अब चढ़ा पुलिस के हत्थे

रोहतक में अपनी भतीजी की शादी में आए सीबीआई एसपी के साथ बलोरो चालक ने गाली-गलौच की और उनका आइडी कार्ड भी छीना। सीबीआई एसपी से अभद्रता करने वाले युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और उससे आईडी कार्ड भी बरामद कर लिया है।

Rajesh KumarPublish:Fri, 03 Dec 2021 05:37 PM (IST) Updated:Fri, 03 Dec 2021 05:37 PM (IST)
बोलेरो चालक ने रोहतक CBI के एसपी से छीना था आइडी कार्ड, अब चढ़ा पुलिस के हत्थे
बोलेरो चालक ने रोहतक CBI के एसपी से छीना था आइडी कार्ड, अब चढ़ा पुलिस के हत्थे

जागरण संवाददाता, रोहतक। दिल्ली के सीबीआइ एसपी के साथ अभद्रता और आइडी कार्ड छीनने वाले आरोपित को सीआइए-1 की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित से पूछताछ के बाद एसपी का आइडी कार्ड भी बरामद कर लिया गया है। सहायक पुलिस अधीक्षक मेधा भूषण ने बताया कि दिल्ली सीबीआइ के एसपी रवि गंभीर ने शिकायत दर्ज कराई थी। इसमें बताया था कि वह एक दिसंबर को अपने भतीजे पराग के साथ कार में खरावड़ स्थित एक बैंक्वट हाल में आए थे। जहां पर उनकी भतीजी की शादी थी। 

एसपी के साथ की गाली-गलौच

बैंक्वट हाल के नजदीक पहुंचते ही पीछे से आ रही तेज रफ्तार बुलेरो गाड़ी ने उनकी कार को क्रास किया। जिस पर एसपी ने अपनी कार रोक ली। बुलेरो चालक ने भी थोड़ी दूर जाकर अपनी गाड़ी रोकी और वापस आकर एसपी के साथ गाली-गलौच शुरू कर दी थी। एसपी ने उन्हें अपना परिचय देते हुए आइडी कार्ड भी दिखाया। आरोपित ने आइडी कार्ड और उनकी कार की चाबी छीन लिया। एसपी के बार-बार परिचय देने के बाद भी आरोपित उनके साथ अभद्रता करता रहा। बाद में आरोपित चाबी वहीं पर फेंककर आइडी कार्ड लेकर फरार हो गया।

आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है

वारदात के बाद एसपी ने रोहतक एसपी उदय कुमार मीना को मामले की जानकारी दी, जिससे पुलिस में भी हड़कंप मच गया। आनन-फानन में कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए इसकी जांच सीआइए-1 की टीम को दी गई थी। सीआइए-1 प्रभारी अनेश कुमार ने बताया कि जांच के बाद इस मामले में सोनीपत के माहरा गांव निवासी आरोपित विक्रम को गिरफ्तार कर लिया। जिससे आइडी कार्ड भी बरामद कर लिया है। फिलहाल आरोपित से पूछताछ की जा रही है। साथ ही उसका पुराना रिकार्ड खंगाला जा रहा है। पता किया जा रहा है कि पहले उसका कोई आपराधिक रिकार्ड है या फिर नहीं।