बिश्नोई सभा चुनाव: कुलदीप गुट के खिलाफ एकजुट हुआ विरोधी ग्रुप, प्रधान-उप प्रधान पद पर दूसरे प्रत्याशियों ने दिया समर्थन

बिश्नोई सभा चुनाव: कुलदीप गुट के खिलाफ एकजुट हुआ विरोधी ग्रुप, प्रधान-उप प्रधान पद पर दूसरे प्रत्याशियों ने दिया समर्थन

बिश्नोई सभा चुनाव में वीरवार को एक नया मोड़ आने से यह चुनाव और भी रोचक हो गया है। अभी तक प्रधान व उप प्रधान पद पर चार-चार उम्मीदवार अपनी दावेदारी ठोक रहे थे।

JagranFri, 26 Feb 2021 06:20 PM (IST)

जागरण संवाददाता, हिसार: बिश्नोई सभा चुनाव में वीरवार को एक नया मोड़ आने से यह चुनाव और भी रोचक हो गया है। अभी तक प्रधान व उप प्रधान पद पर चार-चार उम्मीदवार अपनी दावेदारी ठोक रहे थे। मगर वीरवार को लोक निर्माण विभाग के रेस्ट हाउस में हुई बैठक ने सारे पासे पलट दिए। दोनों ही पदों पर दो-दो उम्मीदवारों ने मौजूदा उम्मीदवार को अपना समर्थन दे दिया। यह काम सूचना आयुक्त जय सिंह बिश्नोई की मध्यस्थता के बाद हुआ। अगर सामान्य रूप से समझें तो विधायक कुलदीप विरोधी गुट अब एकजुट हो गया है। जय सिंह बिश्नोई सात घंटे की बैठक के बाद कुलदीप विरोधी गुटों में शामिल उम्मीदवारों को किसी एक पर सहमति बनाने के लिए सहमत हो गए। इस हिसाब से अब प्रधान और उप प्रधान दोनों पदों पर कुलदीप गुट और विरोधी गुट के उम्मीदवार आमने सामने आ गए हैं। गौरतलब है कि कई राज्यों में बिश्नोई सभा से जुड़े सदस्य सामाजिक, आर्थिक व राजनीतिक रूप से खासी अहमियत रखते हैं। विरोधी गुट में इन उम्मीदवारों ने दिया समर्थन

अभी तक प्रधान पद पर जगदीश चंद्र कड़वासरा, कृष्ण बैनीवाल, चांदीराम पूनिया, संजय ज्याणी उम्मीदवार थे। जिसमें जगदीश चंद्र को कुलदीप गुट का उम्मीदवार माना जाता है। वहीं कृष्ण बैनीवाल विरोधी गुट में शामिल थे। अन्य दो उम्मीदवार अलग-अलग दावेदारी कर रहे थे। ऐसे में बैठक में प्रधान पद पर खड़े चांदीराम पूनिया और संजय ज्याणी ने एकराय होते हुए अपना समर्थन कृष्ण बैनीवाल को दे दिया। अब प्रधान पद पर चुनाव में कुलदीप गुट से जगदीश और विरोधी गुट से कृष्ण आमने-सामने उतरेंगे। इस प्रस्ताव का अनुमोदन पूर्व जिला पार्षद हंसराज ने किया।

उप प्रधान पद पर रामकुमार ईशरवाल को मिला समर्थन कुलदीप विरोधी गुट में जहां एक तरफ प्रधान पद पर सहमति बन गई तो दूसरी तरफ उप प्रधान पद पर भी सहमती बनी। जिसमें रामकुमार ईशरवाल को अन्य उम्मीदवारों ने समर्थन दे दिया। उपप्रधान पद पर पहले रामकुमार ईशरवाल, अमर सिंह, आत्माराम, सुरेंद्र कुमार मैदान में थे, अब दो उम्मीदवार ही आमने सामने होंगे। वहीं सचिव पद पर दो प्रत्याशियों में काफी देर तक बातचीत तो चली मगर सहमति नहीं बन सकी। मगर जल्द ही सहमति बनने की गुंजाइश जरूर है। अभी तक बिश्नोई सभा का यह रहा है रिकॉर्ड

पिछले लंबे समय से बिश्नोई सभा में पदाधिकारियों के चुनाव आदमपुर से विधायक कुलदीप बिश्नोई समर्थक जीतते रहे हैं। मगर इस बार कहानी कुछ अलग ही चल रही है। इस बार कुलदीप विरोधी गुट एकजुट हो गए हैं। इस काम को करने में जय सिंह बिश्नोई भी शुरुआत से अहम भूमिका निभा रहे हैं। विरोधी गुटों को एकजुट करने के लिए वह वीरवार को विशेष तौर पर चंडीगढ़ से हिसार आए और सुबह 9 बजे से लेकर दोपहर तीन बजे तक उम्मीदवारों की बैठक लेकर उन्हें एकजुट किया। इस अवसर पर संजय जाणी, हनुमान जाणी पूर्व सरपंच आदमपुर, पालाराम करीर, रामकुमार काकड़, कृष्ण देव पंवार, जगदीश खीचड आदमपुर, जगदीश पूनिया तलवण्डी राणा, परसराम कालीराणा सदलपुर, दलीप तलवंडी रुक्का, इन्द्र डूडी पूर्व सरपंच रावतखेड़ा, राजेंद्र गोदारा झुम्पा, कृष्ण गोदरा चौधरीवाली, प्रदीप जाणी चिड़ौद, ओमप्रकाश जौहर खैरमपुर, विकास माल, मदन खीचड़ आदि मौजूद थे। यह है चुनाव का शेड्यूल

मतदान- 28 फरवरी, सुबह 10 बजे से सायं चार बजे तक

चुनाव परिणाम- मतदान समाप्ति के बाद

चुनाव अधिकारी कार्यालय- बिश्नोई मंदिर परिसर चुनाव स्थान- बिश्नोई मंदिर परिसर, पारिजात चौक

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.