झज्जर में वकीलों और स्वास्थ्यकर्मियों का विवाद गहराया, पुलिस के खिलाफ सड़कों पर उतरे वकील

झज्जर में वकीलों और स्वास्थ्यकर्मियों में टकराव की स्थिति बन गई है। बार एसोसिएशन प्रधान और सिविल अस्पताल की चिकित्सक में विवाद का मामला है। वकीलों ने प्रधान पर दर्ज मामला रद करने और चिकित्सक पर मामला दर्ज करने की मांग की है।

Umesh KdhyaniThu, 05 Aug 2021 02:56 PM (IST)
झज्जर में पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन करते वकील।

जागरण संवाददाता, झज्जर। झज्जर सिविल अस्पताल की एक महिला चिकित्सक के साथ झज्जर बार एसोसिएशन के प्रधान अजीत सिंह सोलंकी से जुड़े विवाद में वीरवार को जिला मुख्यालय पर वकीलों ने जोरदार प्रदर्शन किया। पुलिस प्रशासन के खिलाफ नाराजगी व्यक्त की। बार परिसर से लघु सचिवालय तक सैकड़ों वकीलों ने पैदल मार्च निकाला।

इधर, आमने-सामने की बनी स्थिति में स्वास्थ्य विभाग के स्टाफ ने काले बिल्ले लगाकर काम किया। पूरे जिला के स्वास्थ्य स्टाफ ने मामले में न्याय दिलाए जाने की मांग उठाई है। अभी तक के अपडेट के मुताबिक, शुक्रवार को पूरे हरियाणा की बार एसोसिएशन के प्रतिनिधि झज्जर में पहुंचते हुए अपना समर्थन देंगे। हालांकि, दोनों स्तर पर बनी टकराव की इस स्थिति के चलते पूरे प्रदेश में इसकी गूंज सुनाई दे रही है। जबकि, चिकित्सकों की एसोसिएशन ने भी मोर्चा संभालते हुए एकजुटता दिखाई है। 

एक दूसरे पर लगाए थे दु्र्व्यवहार के आरोप

बता दें कि बुधवार को एसोसिएशन के एक प्रतिनिधिमंडल ने पुलिस कप्तान राजेश दुग्गल से मुलाकात करते हुए प्रधान के खिलाफ दर्ज किए गए मामले को रद कराने सहित चिकित्सक के खिलाफ मामला दर्ज कराए जाने की मांग उठाई थी। जबकि, चिकित्सकों की एसोसिएशन की ओर से जारी बयान में कहा गया था कि चिकित्सक के साथ प्रधान अजीत सिंह सोलंकी ने दुर्व्यवहार किया है। कोविड के दौर में चिकित्सक हर स्थिति में बेहतर करने का प्रयास कर रहे हैं। लेकिन, हो रही इस तरह की घटनाएं उनका मनोबल कमजोर करती हैं। एसोसिएशन ने दर्ज कराए गए मामले में कड़ी कार्रवाई किए जाने की मांग उठाई है। 

झज्जर सिविल अस्पताल में काले बिल्ले लगाकर काम करते स्वास्थ्य कर्मचारी।

स्वास्थ्यकर्मियों ने काले बिल्ले लगा काम किया

वीरवार को स्वास्थ्य कर्मियों ने तय कार्यक्रम के तहत काले बिल्ले लगाकर कार्य किया। साथ ही चेताते हुए कहा कि अगर महिला चिकित्सा अधिकारी के खिलाफ किसी भी प्रकार की कोई कार्यवाही की जाती है तो इस स्थिति में हरियाणा के सभी चिकित्सा अधिकारी व अन्य स्वास्थ्य कर्मचारी अनिश्चित कालीन हड़ताल के लिए बाध्य हो जाएंगे।

झज्जर में चिकित्सक पर मामला दर्ज करने को लेकर एसपी से मिलने पहुंचे बार एसोसिएशन के सदस्य।  

वकीलों ने चिकित्साधिकारी पर केस दर्ज करने की उठाई मांग

इस विवाद में बार की ओर से गठित की गई कमेटी द्वारा चिकित्सा अधिकारी के खिलाफ मामला दर्ज कराए जाने की मांग उठाई जा रही है। पुलिस कप्तान से मुलाकात करते हुए अपना पक्ष भी रखा जा चुका है। पुलिस कप्तान ने उचित कार्रवाई के लिए आश्वस्त किया है। अब, चिकित्सा अधिकारी के समर्थन में एसोसिएशन उतर आई है। दोनों पक्षों के बीच सुलह का रास्ता निकालने का भी प्रयास हो रहा है। इस तरह की चर्चाएं दिन में भी सामने आईं। लेकिन, अभी तक के हालात को देखते हुए विषय सिरे नहीं चढ़ पाया है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.