Hisar news: जानें हिसार में सेक्टर वासी और दुकानदार क्यों हुए आमने सामने, क्या है विवाद की जड़

हिसार के पीएलए सेक्टर की कामर्शियल मार्केट के पीछे सर्विस लेन को लेकर पीएलए निवासियों और दुकानदारों के बीच आपसी विवाद पैदा हो गए है। क्षेत्रवासियों का आरोप है कि कामर्शियल भवन मालिकों ने मार्केट में अवैध कब्जे कर लिए है।

Naveen DalalMon, 20 Sep 2021 07:38 AM (IST)
हिसार के पीएलए निवासियों और दुकानदारों के बीच आपसी विवाद बढ़ा।

हिसार, जागरण संवाददाता। हिसार के पीएलए सेक्टर की कामर्शियल मार्केट के पीछे सर्विस लेन को लेकर पीएलए निवासियों और दुकानदारों के बीच आपसी विवाद पैदा हो गए है। पीएलए सेक्टर में एसपी आवास के सामने टाउन पार्क तक बनी सर्विस रोड़ को लेकर पीएलए ब्लाक वन वेलफेयर एसोसिएशन और पीएलए मार्केट एसोसिएशन ने एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप जड़े है।

क्षेत्रवासियों का आरोप है कि कामर्शियल भवन मालिकों ने मार्केट में अवैध कब्जे कर लिए है। दुकानों के पीछे रसोई तक बना डाली है। कचरा सड़क पर फैंकते है। वहीं दूसरी तरफ दुकानदारों का आरोप है कि अवैध कब्जे तो मकान मालिकों ने कर रखे है। सड़क पर करीब 8-8 फीट तक रैंप बना दिए। सर्विस रोड पर गेट लगा कामर्शियल मार्केट के लिए बनी सड़क को बंद कर दिया है। ऐसे में एसोसिएशन एक दूसरे के विरोध में खड़ी होने से पीएलए में टकराव की स्थिति पैदा हो गई है।

दोनों पक्षों के ये है तर्क

1. पीएलए ब्लाक वन वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान रवि महता ने कहा कि एसपी आवास के सामने से टाउन पार्क तक मकानों के सामने वाली सड़क शहर की वीआइपी सड़क में से एक है। क्योंकि यहां पूर्व वितमंत्री कैप्टन अभिमन्यू आवास, पूर्व निगम परिषद चेयरमैन से लेकर दिल्ली के सीएम के मामा का आवास है। इस सड़क पर दिन में लड़के लड़कियां गाड़ी में बैठे रहते है। रात को गाड़ियों में लोग यहां शराब पीते है। हुड़दंग करते है। दुकानदारों ने दुकानों के पिछे कब्जे कर लिए है। यह स्थान दुकानदारों का कचरा डंपिंग स्टेशन बन चुका है। यहां रहने वालों के लिए यह परेशानी का सबब बन गया है। हम मेयर, एचएसवीपी प्रशासक से लेकर निगम कमिश्नर को शिकायत कर चुके है। उन्हें मौका दिखा चुके है। अफसरों की यहां सेटिंग है इसी कारण न तो पार्किंग से रेहड़ियां हटी और न अवैध कब्जे हटवाए गए है। प्रशासन और सरकार से मांग है कि कब्जे हटाए जाए।

2. पीएलए मार्केट एसोसिएशन के प्रधान अमित कुमार ने कहा कि कामर्शियल बिल्डिंग संचालकों ने अवैध कब्जे नहीं किए हुए बल्कि यह सड़क तो लोगों ने शौचालय के रुप में प्रयोग कर रहे थे। हमने यहां सीवरेज लाइन डलवाई और सफाई करवाई। आज जिन लोगों को यहां कब्जे दिख रहे थे जब यहां लोग खुले में शौचालय कर रहे वह सहीं था क्या।हमने सड़क को बेहतर करवाया है। रहीं बात मलबे कि तो वह सीवरेज लाइन डाली उसका पड़ा है। उसे भी हटवाया जाएगा। इसके अलावा जो गाड़ियां यहां आकर खड़ी होती है वह भी क्षेत्रवासियों की देन है क्योंकि एक तरफ उन्होंने गेट लगाकर सड़क बंद कर दी। सड़क पर 8-8 फीट के रैंप बना दिए। हमारी पार्किंग में रेहड़ी लग रही है। उनको भी इनका समर्थन नजर आ रहा है। हमारी प्रशासन से मांग है कि अवैध गेट हटाने से लेकर रेहड़ियां हटवाई समस्याएं खत्म हो जाएगी।

हिसार नगर निगम रोड रगूलाइजेशन और विजिलेंस एंव एंक्रोचमेंट सब कमेटी के चेयरमैन महेंद्र जुनेजा ने कहा कि एसोसिएशनों को बैठकर बातचीत से अपनी समस्याएं सुलझानी चाहिए। सभी मिलकर प्रशासन से बातचीत करें। प्रयास करने से समस्याओं के समाधान अवश्य निकल पाएंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.