किसान आंदोलन में युवती से दुष्‍कर्म का आरोपित हिसार का अनूप चानौत केजरीवाल का रहा है करीबी

किसान आंदोलन में आई प. बंगाल की युवती से दुष्‍कर्म के चार आरोपितों में से एक अनूप चानौत है

अनूप चानौत आम आदमी पार्टी का हरियाणा में जाना-माना चेहरा है। दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल से अनूप चानौत का गहरा नाता है। अनूप के बुलावे पर अरिवंद केजरीवाल हांसी में उसके गांव चानौत आए थे और एक बड़ी जनसभा यहां की थी। अब वह दुष्‍कर्म का आरोपित है

Manoj KumarMon, 10 May 2021 12:38 PM (IST)

हिसार, जेएनएन। किसान आंदोलन में पश्चिम बंगाल की युवती से दुष्‍कर्म करने का आरोपित आम आदमी पार्टी का हिसार लोकसभा का अध्यक्ष अनूप चानौत हांसी के चानौत गांव का है। अनूप के पिता बलबीर दूहन पेशे से किसान हैं। गांव में ही खेती बाड़ी करते हैं। परिवार में अनूप का एक बड़ा भाई है और दो बहनें हैं। अनूप अपने भाई बहनों में सबसे छोटा है। मध्मवर्गीय परिवार से संबंध रखने वाले अनूप चानौत करीब 10 साल पहले आम आदमी पार्टी से जुड़ा। हालांकि अनूप का अधिकतर कार्यक्षेत्र दिल्ली ही रहा।

दिल्ली विधानसभा चुनावों में अनूप ने अरविंद केजरीवाल के लिए प्रचार किया था। अनूप चानौत को 2019 के हरियाणा के विधानसभा चुनावों में बरवाला विधानसभा से टिकट मिला था। मगर इनका फार्म निरस्त हो गया था। इसके बाद अनूप किसान आंदोलन से जुड़ा और शुरू से ही दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर धरने पर है। वह अक्सर अपनी फेसबुक पर दिल्ली बार्डर पर आंदोलन की तस्वीरे पोस्ट करता है।

अनूप चानौत आम आदमी पार्टी का हरियाणा में जाना-माना चेहरा है। दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल से अनूप चानौत का गहरा नाता है। अनूप के बुलावे पर अरिवंद केजरीवाल हांसी में उसके गांव चानौत आए थे और एक बड़ी जनसभा यहां की थी। दिल्ली में जब अन्ना हजारे ने भ्रष्टाचार के खिलाफ रामलीला मैदान में आंदोलन किया था तब अनूप हिसार से गया था और वहां वेलेंटियर के रूप में सेवा की थी। धरने पर ही केजरीवाल और मुनीष सिसोदियों के संपर्क में आए। इसके बाद जब केजरीवाल अन्ना हजारे से अलग होकर राजनीति में आए तब अनूप भी आम आदमी पार्टी में शामिल हो गया।

कुछ साल पहले अनूप ने गांव के पास ही ढाबा खोला था। कुछ साल तक राजनीति के साथ ढाबा भी चलाया। इसके बाद ढाबे को ठेके पर दिया और पूरा समय राजनीति को दे दिया। अनूप किसान आंदोलन शुरू होने के बाद बहुत कम गांव आया है। वह अधिकतर समय दिल्ली बार्डर पर धरने पर रहता है। अनूप और अंकुर सांगवान गुरनाम चढूनी के भी नजदीकी रहे हैं। टीकरी बार्डर पर जब भी चढूनी का आना हुआ तो अनूप हमेशा ही उनके नजदीक रहा है। वह आंदोलन में शुरुआत से ही संयुक्त किसान मोर्चा के मंच पर सक्रिय रहता था।

शुरुआत में भूख हड़ताल में भी शामिल रहा। युवती की मौत से पहले ही वह यहां से गायब हो गया था। अनूप ने ही सबसे पहले टीकरी बार्डर के पास  सड़क पर दीवार बनाकर पक्का ठिकाना बनाया था। इसी में बंगाल की युवती के साथ दुष्कर्म किए जाने का आरोप है। हालांकि कुछ दिन पहले इस तंबू को तोड़ दिया गया। हालांकि इस प्रकरण में अब अनूप चानौत ने एक वीडियो जारी किया है जिसमें खुद को निर्दोष बताया है और किसी और को आरोपित बताते हुए छेड़खानी होने की बात को कबूला है। अनूप पर जल्‍द ही शिकंजा कसने वाला है।

मेरा केस से लेना देना नहीं, युवती की सिर्फ सेवा की थी : कविता

बहल (भिवानी) : किसान आंदोलन के दौरान एक युवती के साथ दुष्कर्म की साजिश की आरोपित युवती कविता आर्य बहल के पास एक गांव की हैं। वह चंडीगढ़ विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर की पढ़ाई कर कर रही है। किसान आंदोलन शुरू होने के बाद से ही कविता उससे जुड़ गई थी। वह दिल्ली सहित राजस्थान, पंजाब में सक्रिय रही।

कविता का कहना है कि वे सब 12 अप्रैल को ट्रेन में पश्चिम बंगाल से साथ आए थे। कुल सात लोग थे। उसमें वह युवती भी थी। कविता ने बताया कि उसके दो से तीन दिन बाद भाभी की तबीयत खराब होने पर वह गांव बहल के पातवान में आ गई थी। 24 अप्रैल को वापस दिल्ली बार्डर पर गई थी। वहां पर कमेटी वालों से उसने बंगाल से आई युवती के बारे में पूछा था। कमेटी के सदस्यों ने बताया कि उस युवती की तबीयत काफी खराब है। वह उसको संभाले और उसकी देखभाल करें। कविता ने बताया कि इस दौरान युवती के पिता का फोन आया तो उसने ही बात की थी। पिता ने युवती को डाक्टर को दिखाने के लिए कहा था। कविता ने बताया कि बीमार होते हुए युवती ने बताया था कि आरोपित अनिल मलिक ने ट्रेन में उससे बदतमीजी की हैं। उसके बाद वह कोरोना पॉजिटिव हो गई। चार से पांच दिन तक जीवित रही और उसकी सेवा की। मेरा इस प्रकरण से कोई लेना-देना नहीं है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.