बुरी खबर: पेट्रोल पंप पर साइको किलर के हथौड़े के वारों से घायल दूसरे युवक की भी मौत

दो हत्‍या करने वाला साइको किलर अभी तक पकड़ा नहीं गया है।
Publish Date:Mon, 28 Sep 2020 08:59 AM (IST) Author: Manoj Kumar

हिसार, जेएनएन। हिसार में सिरसा रोड पर पुरानी चुंगी के पास गोयल ब्रदर्स पेट्रोल पंप पर हुए हमले में पंप मैनेजर की मौत के बाद घायल बृजेश की भी रविवार सुबह घटना के 53 घंटे बाद उपचार के दौरान मौत हो गई।

गौरतलब है कि वीरवार रात 2.30 बजे पेट्रोल पंप पर एक अज्ञात हमलावर ने पंप के तीन कर्मियों पर हथौड़े से वार किए थे। जिसमें पंप मैनेजर राजस्थान के झरडिय़ा निवासी 48 वर्षीय हनुमान की मौके पर मौत हो गई थी। वहीं पेट्रोल पंप पर प्रदूषण जांच केंद्र में ऑपरेटर उतर प्रदेश के मिर्जापुर जिले के गांव बेलखरा अहरीर निवासी 24 वर्षीय बृजेश और राजस्थान के चूरू जिले के साखु गांव निवासी 31 वर्षीय सेल्समैन घनश्याम गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

घायलों को शहर के चूड़ामणि अस्पताल के आइसीयू में दाखिल करवाया गया था, जहां रविवार सुबह 7.30 बजे के करीब उपचार के दौरान बृजेश ने दम तोड़ दिया। सदर थाना पुलिस ने सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर सिविल अस्पताल भिजवाया। जहां पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर स्वजनों को सौंप दिया। स्वजन पुलिस की मदद से शव को दाह संस्कार करने के लिए उत्तरप्रदेश में अपने गांव ले गए।

---------------

सिर का बाया हिस्सा क्षतिग्रस्त होने से हुई बृजेश की मौत

बृजेश की मौत उसके सिर का बाया हिस्सा पूरी तरह से क्षतिग्रस्त होने से हुई। पोस्टमार्टम डाक्टरों के मेडिकल बोर्ड ने किया। सिविल अस्पताल में हुए पोस्टमार्टम में सामने आया कि बृजेश के सिर के बाएं हिस्से पर एक ही जगह पर 10 से 11 बार वार किया गया। जिससे उसके दिमाग का सुरक्षा कवच टूट गया था। चिकित्सकों के अनुसार दिमाग का एक सुरक्षा-कवच होता है, जो काफी मजबूत होता है। सामान्य चोट में यह नहीं टूट पाता। लेकिन हमलावर ने इस केस में एक ही जगह पर कई बार वार कर दिमाग के सुरक्षा कवच को तहस-नहस कर डाला। जिससे बृजेश के दिमाग का हिस्सा कान के रास्ते बाहर आया हुआ था। जिसके कारण उसे हमले के बाद एक बार भी होश नहीं आया और उसकी मौत हो गई।

भाई बोला-मैंने ही बृजेश को यहां बुलाया था

मृतक बृजेश के बड़े भाई संतोष ने बताया कि उसकी बृजेश से फोन पर हर दूसरे-तीसरे दिन बात होती रहती थी। घटना से दो दिन पहले भी उसकी बृजेश से फोन पर बात हुई थी। संतोष ने बताया कि वह 2012 से इसी पेट्रोल पंप पर काम कर रहा था। पंप मालिक संजय गोयल से बात करके उसने अपने छोटे भाई को यहां बुलाया था। पंप मालिक ने छोटे भाई बृजेश का टिकट कंफर्म करवा उसे लॉकडाउन के बाद यहां बुलवा लिया था। संतोष ने बताया कि वह होली पर उप्र चला गया था। वारदात की सूचना मिलने पर संतोष परिवार के चार अन्य सदस्यों समेत ट्रेन से यूपी से हिसार के लिए 25 सितंबर की रात एक बजे चला। 27 सितंबर की सुबह 3 बजे के करीब हिसार पहुंचे। संतोष ने शक जाहिर किया कि यह किसी कर्मचारी का ही काम हो सकता है। क्योंकि अकसर उन्हें यह सुनने को मिलता था कि बाहरी राज्य से आकर यहां काम करने लगे हैं। यहां के लोकल कर्मचारी इस बात के लिए कई बार उन्हें ताने भी दे देते थे।

आस-पास के एरिया की सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही पुलिस

सदर थाना पुलिस पंप के आसपास एरिया की सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है, हालांकि पुलिस को अभी तक कोई सुराग हाथ नहीं लगा है। पुलिस ने दो लोगों की मौत के बाद कार्रवाई तेज कर दी है। पुलिस ने पंप के अन्य कर्मियों से भी पूछताछ की है। साथ आसपास एरिया के लोगों से भी पूछताछ कर रही है। एसपी ने सीआइए-वन, टू , एवीटी व पुलिस की चार टीमें बनाई हैं। पंप मालिक संजय गोयल की शिकायत पर सदर थाना पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ धारा 459 व 460 के तहत केस दर्ज किया था। अब इस मामले में डबल मर्डर जुड़ गया है। पुलिस ने घटनास्थल से बरामद मृतक बृजेश और हनुमान के मोबाइल जांच के लिए भिजवाए हैं।

घनश्याम की हालत में सुधार

हमले में घायल सेल्समैन घनश्याम की हालत में सुधार है। रविवार को वह होश में आ गया। चोट लगने के बाद उसे वेंटिलेटर पर रखा गया था। उसके दिमाग का ऑपरेशन कर वेंटिलेटर हटा दिया गया है। हालांकि अभी आइसीयू में ही उपचाराधीन है।

----हमलावार को पकडऩे के प्रयास जारी हैं। पेट्रोल पंप के आस-पास के एरिया की सीसीटीवी फुटेज चेक की जा रही हैं। हालांकि अभी तक आरोपित का कोई सुराग नहीं लगा है। पीडि़तों  केमोबाइल जांच के लिए भिजवाए गए हैं।

- इंस्पेक्टर मनोज कुमार, इंचार्ज, सदर थाना, हिसार।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.