रोहतक नगर निगम में टेंडर की शर्तें बदलने के आरोप, चहेतों को काम देने का किया जा रहा दावा

निगम के अधिकारी आरोपों का खंडन कर रहे हैं। जबकि ठेकेदार एसोसिएशन ने पूरे प्रकरण में जांच के साथ ही निष्पक्षता से काम कराने के लिए उच्चाधिकारियों से शिकायत की है। यह भी दावा किया है कि चहेतों को काम मिला तो फिर गड़बड़ी की संभावनाएं अधिक बढ़ जाएंगी।

Manoj KumarMon, 22 Nov 2021 10:33 AM (IST)
रोहतक में ठेकेदार एसोसिएशन ने शर्तों को लेकर आपत्ति, दावा किया लाभ पहुंचाने बदले नियम

जागरण संवाददाता, रोहतक। नगर निगम के लिए नवंबर माह खास है। एक तरफ अधूरे काम पड़े थे। इस माह में सभी वार्डों में विकास कराने के लिए एक-एक लाख रुपये के टेंडर होने का दावा किया है। दूसरी ओर, करीब 20 नए कामों की शर्तें बदलने और चहेतों को काम देने के भी आरोप लगने लगे हैं। निगम के अधिकारी आरोपों का खंडन कर रहे हैं। जबकि ठेकेदार एसोसिएशन ने पूरे प्रकरण में जांच के साथ ही निष्पक्षता से काम कराने के लिए उच्चाधिकारियों से शिकायत की है। यह भी दावा किया है कि चहेतों को काम मिला तो फिर गड़बड़ी की संभावनाएं अधिक बढ़ जाएंगी।

ठेकेदार एसोसिएशन के सचिव और समाजसेवी अयज खुंडिया ने नगर निगम के आयुक्त डा. नरहरि बांगड़ से शिकायत की थी। करीब 10 अन्य ठेकेदार के साथ पहुंचकर इन्होंने यही आरोप लगाए थे कि बोहर में सीवरेज और सड़क निर्माण व मरम्मत के कार्यों के लिए टेंडर किए गए हैं। इनमें 17.93 लाख और 20.44 लाख के अलावा अन्य भी कार्य शामिल हैं। जिला विकास योजना यानी डी-प्लान के लिए होने वाले कार्य भी शामिल हैं। इन कार्यों को कराने के लिए शर्तें बदलने को लेकर कुछ ठेकेदारों ने यही आपत्ति जताई कि कामों को कराने में निष्पक्षता और पारदर्शिता रहेगी तो बेहतर कार्य होंगे।

सोसाइटी 50 लाख रुपये तक के काम कराने में सक्षम, बदले नियम

ठेकेदार एसोसिएशन ने दावा किया है कि को-आपरेटिव सोसाइटी 50 लाख रुपये तक के कार्य कराने में सक्षम हैं। इसके लिए नियम व शर्तें जरूरी नहीं हैं। अधिकारियों ने सीए की तीन साल की रिपोर्ट के साथ ही तीन साल पुरानी सोसाइटी तक के नियम बनाने का दावा किया है। इस कारण से कई ठेकेदार काम कराने से वंचित रह जाएंगे। वहीं, इस प्रकरण में एसोसिएशन के प्रतिनिधि मंडल को निगम के आयुक्त डा. नरहरि बांगड़ स्पष्ट कर चुके हैं कि कोई नियम नहीं बदले, सब कुछ ठीक है।

इस माह इन योजनाओं पर होगा काम

1. 3.93 करोड़ से हिसार रोड पर निर्मित होंगी दुकानें

नगर निगम ने हिसार रोड पर गुरुद्वारा टिकाना साहब के सामने वाली 73 दुकानों को तोड़कर निर्मित कराने के लिए टेंडर किए हैं। इन्हें आठ फीट पीछे करके दुकानें निर्मित की जाएंगी। इन दुकानों के लिए निर्माण के लिए 1.55 करोड़ मंजूर किए हैं। इसी तरह से पुरानी सब्जी मंडी की 107 दुकानें नए सिरे से निर्मित करके दुकानदारों को मालिकाना हक दिया जाएगा। इन दुकानों के निर्माण पर 2.40 करोड़ खर्च होंगे। टेंडर हो चुके हैं, 21 दिन टेंडर खोलने का समय तय किया है।

--

2. पावर हाउस की दुकानों पर अहम फैसला

पावर हाउस चौक पर निर्मित हो रहीं 112 दुकानें के निर्माण में आने वाली लागत बढ़ने को लेकर अधिकारियों ने नए सिरे से कलेक्टर रेट तय करने का फैसला लिया है। इसी तरह से चिन्योट कालोनी में गांधी कैंप के घर, मकान, प्लाट अधिग्रहित वालों को 100-100 गज के प्लाट दिए जाएंगे। इसके लिए भी कलेक्टर रेट तय होगा।

--

3. सोनीपत रोड पर चार फेज में होगा मल्टीस्टोरी इमारतों का निर्माण

सरकार के पास सोनीपत रोड पर कमर्शियल स्टोरी के निर्माण का प्रस्ताव भेजा है। निगम ने इसके के लिए चार फेज तय किए हैं। 800 गज जमीन पर दुकानें निर्मित होंगी। 1600 गज में स्टिल्ड पार्किंग, दो फ्लोर पर निगम कार्यालय व बैंक कार्यालय, 3500 गज और 2400 गज जमीन को लेकर भी योजना तय की है।

--

4. डेयरी काम्प्लेक्स के लिए 14 करोड़ मिलने की बंधी आस

नगर निगम के मेयर गोयल और आयुक्त डा. नरहरि बांगड़ ने कन्हेंली रोड स्थित डेयरी काम्प्लेक्स में अधूरे पड़े कामों को पूरा कराने के लिए 14 करोड़ का बजट मांगा था। इस माह के आखिर तक मंजूरी मिलने के आसार हैं। यहां सीवरेज, सड़क, पेयजल आपूर्ति व दूसरे काम अभी भी प्रभावित हैं। कुछ कामों की जांच भी हुई।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.