अजय सिंह चौटाला बाेले- किसानों की आड़ में हो रही राजनीति, विपक्षी विधानसभा में क्‍यों नहीं बोलते

डॉ. अजय सिंह चौटाला ने किसान आंदोलन को राजनीति से प्रेरित बताया

फतेहाबाद में अजय सिंह चौटाला ने कहा कि कांग्रेस व इनेलो कह रही कि किसानों का समर्थन हैं? तो इन पार्टियों के लोग विधानसभा में इस मुद्दे को क्यों नहीं बोलते? कांग्रेस के लोकसभा में 40 सदस्य क्यों नहीं बोलते? किसानों का बातचीत से ही हल निकलेगा।

Publish Date:Thu, 26 Nov 2020 05:26 PM (IST) Author: Manoj Kumar

फतेहाबाद, जेएनएन। सरकार के खिलाफ किसानों की जबरदस्त मोर्चाबंदी व कोरोना के कहर के आलोक में जननायक जनता पार्टी ने अपनी प्रस्तावित जन आभार रैली स्थगित कर दी है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं संरक्षक डॉ. अजय सिंह चौटाला ने यहां कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए 9 दिसंबर की भिवानी में होने वाली रैली के स्थगन की घोषणा की। उन्होंने इस निर्णय के लिए कोरोना काल में भीड़ पर सरकार की नीतिगत हिदायत और पार्टी कार्यकर्ताओं की रायशुमारी का हवाला दिया। साथ ही, यह भी जोड़ा कि रैली की तारीख भी कार्यकर्ताओं से मशविरा के उपरांत ही रखी जाएगी।

डॉ. अजय सिंह चौटाला ने किसान आंदोलन को राजनीति से प्रेरित बताया। कार्यकर्ताओं के संबोधन पश्चात मीडिया से मुखातिब डॉ. चौटाला ने प्रदेशभर में किसानों के आंदोलन को कांग्रेस व अन्य विपक्षी दलों की दोमुंही राजनीति का हिस्सा बताया। उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि कांग्रेस व इनेलो कह रही कि किसानों का समर्थन हैं? तो इन पार्टियों के लोग विधानसभा में इस मुद्दे को क्यों नहीं बोलते? कांग्रेस के लोकसभा में 40 सदस्य क्यों नहीं बोलते? क्या केवल हरियाणा व पंजाब में ही किसान हैं? हरियाणा सरकार ने खुद एमएसपी रेट पर खरीद की है। केंद्र सरकार के मंत्री ने घोषणा की है। जजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष ने दो टूक कहा कि किसानों की समस्या का हल बातचीत से ही निकलेगा। किसानों को अगर अब भी शंकाएं हैं? तो सरकार के साथ बात करनी चाहिए। विपरीत परिस्थितियों को देखते हुए उन्हें अपना आयोजन रद करना चाहिए।

एक सवाल के जवाब में डॉ. अजय चौटाला ने कहा कि संगठन को ज्यादा प्रभावी बनाकर सरकार के साथ बेहतर समन्वय स्थापित किया जाएगा। नियुक्तियां कर संगठन की जिम्मेदारियां दी जा रही हैं। निजी क्षेत्र में 75 फीसद प्रदेश के लोगों को रोजगार के अपने पुत्र व उप मुख्यमंत्री के स्टैंड को वाजिब करार देते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें उद्योगपतियों के बनिस्बत नौजवानों के हित सर्वोपरि दिखाई दे रहे हैं। सरकार उन्हें कौशल व प्रशिक्षण दे रही है। एक अन्य सवाल के जवाब में डॉ. चौटाला ने उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला व अनिल विज के संबंधों में खटास को नकार दिया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.