जजपा प्रधान अजय चौटाला का हरियाणा Deputy CM पर बड़ा बयान, बोले- मेरी जेब में रहता है दुष्यंत का इस्तीफा

जननायक जनता पार्टी के अध्‍यक्ष अजय चौटाला ने राज्‍य के उपमुख्‍यमंत्री दुष्‍यंत चौटाला पर बड़ा बयान दिया है। अजय चौटाला ने कहा कि दुष्‍यंत चौटाला का इस्‍तीफा हमेशा मेरी जेब में होता है। ले‍किन इस्‍तीफा देने से कृषि कानून वापस नहीं होगा।

Sunil Kumar JhaFri, 06 Aug 2021 09:41 AM (IST)
जजपा अध्‍यक्ष अजय चौटाला और हरियाणा के उपमुख्‍यमंत्री दुष्‍यंत चौटाला की फाइल फोटो।

रोहतक, जागरण संवादददाता। Ajay Chautala and Dushyant Chautala : जननायक जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. अजय सिंह चौटाला ने अपने बेटे और हरियाणा के उपमुख्‍यमंत्री दुष्‍यंत चौटाला पर बड़ा बयान दिया है। उन्‍होंने कहा कि दुष्‍यंत चौटाला का इस्‍तीफा हमेशा मेरी जेब में रहता है और जब जरूरी होगा दे देंगे। लेकिन इस्‍तीफा देने से किसानों की समस्‍याओं का समाधान नहीं होगा और कृषि कानून वापस नहीं होंगे।

बोले- इस्‍तीफा देने से कृषि कानून नहीं होंगे वापस, दुष्‍यंत का विरोध करने वाले भी अपने ही लोग

अजय चौटाला ने कहा कि तीन कृषि कानूनों को लेकर उपमुख्‍यमंत्री दुष्यंत चौटाला का विरोध करने वाले भी अपने ही लोग हैं। विरोध करना संवैधानिक अधिकार है। लेकिन, विरोध करना ही समस्या का समाधान नहीं है। यदि दुष्यंत चौटाला के इस्तीफे से कृषि कानूनों का रास्ता निकलता है तो उनका इस्तीफा जेब में रहता है, कभी भी ले सकते हैं।

कहा- छोटे भाई अभय चौटाला ने भी दिया था इस्तीफा, लेकिन कृषि कानून वापस नहीं हुए

वह महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय परिसर में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। इसके साथ ही, उन्होंने कहा कि उनके छोटे भाई अभय सिंह चौटाला ने भी इस्तीफा दिया था, लेकिन कानून वापस नहीं हुए। सरकार ने कृषि कानूनों को लेकर अपने दरवाजे खोल रखे हैं। किसानों को अपनी मांगों को लेकर बातचीत का रास्ता अपनाने की जरूरत है। उन्होंने और दुष्‍यंत चौटाला ने अपने स्तर पर प्रयास किए हैं और किसान की समस्या को समझते हैं। लेकिन, यह सब बातचीत से ही संभव है।

अजय चौटाला ने कहा कि समस्याओं का हल राजनीतिक ताकत से होता है, इस्तीफा देने से नहीं। तीन कृषि कानूनों के समाधान पर अजय चौटाला ने कहा कि सरकार और किसान दोनों ही जिद पर अड़े हुए हैं। इसलिए दोनों ही पक्षों को बातचीत से समाधान निकालने की जरूरत है।

अजय चौटाला ने चौटाला परिवार की कलह और राजनीति के चलते परिवार टूटने के सवाल पर कहा कि यह राजनीतिक बात हो सकती है। लेकिन, शरीर से हाड़ (हड्डी) और मांस कभी दूर नहीं हो सकते हैं। उन्‍होंने कहा कि परिवार और रिश्ते कभी दूर या समाप्‍त नहीं हो सकते हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.