हिसार में 76 वर्षीय प्रोपर्टी डीलर ने समधी के घर पर फंदा लगा दी जान, कांग्रेस पार्षद सहित 4 लोगों पर केस दर्ज

76 वर्षीय भरत सिंह ने सोमवार रात आजाद नगर क्षेत्र गांव स्थित स्कोलर कालोनी में अपने समधी के घर पर फंदा लगा जान दे दी। सूचना मिलने पर आजाद नगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और मृतक के शव काे शहर के सिविल अस्पताल की मोर्चरी में भिजवाया।

Manoj KumarWed, 28 Jul 2021 11:59 AM (IST)
35 वर्षीय महिला ने बुजुर्ग पर दर्ज करवाया था दुष्कर्म का मामला, आहत होकर बुजुर्ग ने दी जान

जागरण संवाददाता, हिसार: शहर के उत्तम नगर निवासी और हाल हनुमानगढ़ रह रहे 76 वर्षीय भरत सिंह ने सोमवार रात आजाद नगर क्षेत्र गांव स्थित स्कोलर कालोनी में अपने समधी के घर पर फंदा लगा जान दे दी। सूचना मिलने पर आजाद नगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और मृतक के शव काे शहर के सिविल अस्पताल की मोर्चरी में भिजवाया। जहां पुलिस ने मृतक का पोस्टमार्टम करवाकर शव स्वजनों को सौंप दिया। आजाद नगर थाना पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार भरत सिंह राजस्थान के हनुमानगढ़ में प्रोपर्टी डीलर का काम करता था। बीते दो दिन से भरत सिंह हिसार में स्कोलर कालोनी में अपने समधी के घर आया हुआ था। सोमवार रात भरत सिंह ने शौचालय में खुंटी पर एक कपड़े के सहारे फंदा लगाकर जान दे दी।

पुलिस के अनुसार भरत सिंह के पास से एक पेज का सुसाइड नोट बरामद हुआ है। जिसमें उसने इस बात का जिक्र किया है कि 17 जुलाई को हनुमानगढ़ में एक महिला ने भरत सिंह के खिलाफ दुष्कर्म का आरोप लगाकर उनके खिलाफ शिकायत दी थी, शिकायत पर हुनमानगढ़ में उनके खिलाफ केस दर्ज किया गया था। इस बात से परेशान होकर वह अपनी जीवन लीला समाप्त कर रहे है। पुलिस ने भरत सिंह के बेटे कुलजीत की शिकायत पर हनुमानगढ़ से कांग्रेसी पार्षद प्रमोद सोनी, मैरिज पैलेस मालिक पाल सिंह, प्रोपर्टी डीलर पंकज नागपाल और रावतसर निवासी 35 वर्षीय महिला के खिलाफ केस दर्ज किया है।

महिला ने दर्ज करवाया झूठा केस,आत्महत्या के लिए उकसाने पर केस दर्ज -

मामले में मृतक के बेटे कुलजीत ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि उसके पिता भरत सिंह हनुमानगढ़ में उसकी बहन के खाली मकान में रहते थे और दो दिन पहले ही हनुमानगढ़ से हिसार आए थे। उसके पिताजी ने उसे बताया था कि पार्षद प्रमोद सोनी, पंकज नागपाल और पाल सिंह ने इस महिला को कमरा किराये पर लेने के लिए उसके पास भेजा। उस दिन तो महिला चली गई, लेकिन 17 जुलाई को पाल सिंह के साथ वापस आई। जाते-जाते पाल सिंह और महिला उसके पिता को झूठे केस में फंसाने की धमकी देकर गए। इसके बाद इस महिला ने थाने में शिकायत देकर उसके पिता के खिलाफ झूठा दुष्‍कर्म केस दर्ज करवा दिया था। कुलजीत के अनुसार वह महिला और अन्य तीन आरोपित लगातार उसके पिता से पैसे की मांग कर रहे थे और इन सबसे परेशान होकर उसके पिता ने फंदा लगाकर अपनी जान दी है। कुलजीत की शिकायत पर पुलिस ने आरोपितों पर धारा 306 और 34 के तहत केस दर्ज किया है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.