चीनी नागरिक को पूछताछ के लिए बीएसएफ से लेगी यूपी एटीएस

-भारत-बांग्लादेश सीमा से घुसपैठ करते पकड़ा गया हान जुनवेई -गुरुग्राम के होटल से ही संचा

JagranSat, 12 Jun 2021 08:51 PM (IST)
चीनी नागरिक को पूछताछ के लिए बीएसएफ से लेगी यूपी एटीएस

-भारत-बांग्लादेश सीमा से घुसपैठ करते पकड़ा गया हान जुनवेई

-गुरुग्राम के होटल से ही संचालित कर रहा था अपना अवैध कारोबार

आदित्य राज, गुरुग्राम

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) द्वारा घुसपैठ करते भारत-बांग्लादेश सीमा से पकड़े गए चीनी नागरिक हान जुनवेई को जल्द ही पूछताछ के लिए उत्तर प्रदेश की एंटी टेरेरिस्ट स्क्वायड लेगी। इसके लिए तैयारी शुरू कर दी गई है। पूछताछ के आधार भारत में उसके सभी ठिकानों पर छापेमारी शुरू की जाएगी। उससे यह भी जानकारी हासिल की जाएगी कि फर्जी कागजात के आधार पर सिम कार्ड उपलब्ध कराने में स्थानीय किन-किन लोगों ने उसकी मदद की थी। पहचान होने पर सभी को शिकंजे में लिया जाएगा। आवश्यकता पड़ने पर हरियाणा की गुरुग्राम पुलिस का भी सहयोग लेगी।

चीनी नागरिक हान जुनवेई गुरुग्र्राम के डीएलएफ फेज-तीन इलाके के प्लाट नंबर टी-14/9 में स्टार स्प्रिंग होटल्स एवं रिसार्ट नाम से होटल चलाता था। उसने 10 साल के लिए प्रति माह 15 लाख रुपये की लीज पर लिया था। होटल में 80 से अधिक कमरे हैं। डीएलएफ फेज-तीन इलाके में होटल होने की वजह से ग्राहकों की कमी नहीं थी। कोरोना संकट में कारोबार ढीला होने पर वह दिसंबर में चीन चला गया था। जनवरी में उत्तर प्रदेश की एंटी टेरेरिस्ट स्क्वायड (एटीएस) को जानकारी मिली कि हान जुनवेई व उसके कारोबारी सहयोगी एवं कर्मचारी फर्जी आइडी पर सिम खरीदने के बाद एक्टिवेट कर चीन भेजते हैं। सूचना के आधार पर होटल में छापेमारी की गई थी। मौके से उसके दो सहयोगी गिरफ्तार कर लिए गए थे। यही नहीं, जांच के दौरान अब तक 18 लोग (चीनी एवं भारतीय दोनों को मिलाकर) गिरफ्तार किए जा चुके हैं। हान जुनवेई सहित कई फरार थे। उम्मीद है हान जुनवेई से पूछताछ में पूरे नेटवर्क की जानकारी सामने आएगी। वह गुरुग्राम ही नहीं, बल्कि मुंबई, हैदराबाद सहित कई जगह अपने कारोबार का जाल बिछा रखा था।

दो हजार से अधिक सिम खरीदे थे : एटीएस की जांच के मुताबिक दो हजार से अधिक सिम फर्जी कागजात के आधार पर खरीदे गए थे। उसे एक्टिवेट कराकर चीन भेजा गया। वहां से इन नंबरों के माध्यम से साइबर फ्राड किया जाता था, यानी खातों से आनलाइन पैसे निकाल लिए जाते थे। हान जुनवेई सिम खरीदकर चीन भेजने का काम गुरुग्राम होटल से ही करता था। वैसे, पूरी सच्चाई उससे पूछताछ से सामने आएगी। जांच में फर्जी कागजात के आधार पर चार खातों की भी जानकारी सामने आ चुकी है। पूरा कारोबार ही फर्जी कागजातों के आधार पर किया जा रहा था, इस वजह से आरोपित पकड़ में नहीं आ रहे थे।

वर्जन

मामले की जांच उत्तर प्रदेश की एटीएस कर रही है। जांच में उसे जो सहयोग गुरुग्राम पुलिस से अपेक्षित होगा, किया जाएगा। जहां तक गुरुग्राम पुलिस द्वारा अपने स्तर पर छानबीन करने का सवाल है तो इसके ऊपर काम किया जा रहा है। पता किया जा रहा है कि चीनी नागरिक हान जुनवेई सही मायने में कबसे गुरुग्राम में रह रहा था।

-करण गोयल, सहायक पुलिस आयुक्त (साइबर क्राइम), गुरुग्राम

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.