छापेमारी अभियान में दूसरे दिन पकड़ी एक करोड़ 78 लाख की चोरी

छापेमारी अभियान में दूसरे दिन पकड़ी एक करोड़ 78 लाख की चोरी

बिजली चोरों पर शिकंजा कसने के लिए दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम का ताबड़तोड़ छापेमारी अभियान दूसरे दिन रविवार को भी जारी रहा।

JagranSun, 28 Feb 2021 08:35 PM (IST)

महावीर यादव, बादशाहपुर (गुरुग्राम)

बिजली चोरों पर शिकंजा कसने के लिए दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम का ताबड़तोड़ छापेमारी अभियान दूसरे दिन रविवार को भी जारी रहा। दूसरे दिन के अभियान में सभी 15 उपमंडल में बिजली चोरों पर 1.78 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है। 259 चोरी के मामलों में 780 किलोवाट बिजली चोरी पकड़ी गई। शनिवार को अभियान के दौरान 222 मामले पकड़े गए थे और दो करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया था।

बिजली चोरी पकड़ने में गुरुग्राम सर्कल-2 आगे रहा, जबकि सर्कल-1 इस अभियान में कमजोर साबित हुआ। पूरे अभियान पर निगरानी रखने के लिए बिजली निगम के निदेशक आरके सोढा व दिल्ली जोन के मुख्य अभियंता केसी अग्रवाल भी पूरा दिन क्षेत्र में दौरा करते रहे। चोरी की बिजली से प्रतिष्ठान, फैक्ट्री व घर रोशन हो रहे थे। कई फार्म हाउसों में भी बिजली चोरी हो रही थी।

बिजली मंत्री रणजीत सिंह चौटाला ने इनपुट मिलने पर प्रदेश भर में बिजली चोरी पकड़ने का अभियान चलाने का निर्देश दिया है। बिजली मंत्री के निर्देश पर बिजली निगम के दो निदेशक, मुख्य अभियंता, अधीक्षण अभियंताओं की टीम बनाई गई। इस टीम ने एक साथ लगातार बिजली चोरी पकड़ने का अभियान चलाने का निर्णय लिया। शनिवार को 44 टीमों ने सुबह 4 बजे से छापेमारी अभियान शुरू किया। इस अभियान में दो करोड़ रुपये की बिजली चोरी पकड़ी गई।

बड़े स्तर पर बिजली चोरी पकड़ने का अभियान चलाकर करोड़ों रुपये की बिजली चोरी पकडे जाने पर बड़े अधिकारी उपमंडल अभियंताओं की पीठ थपथपा रहे हैं। इतने बड़े स्तर पर बिजली चोरी पकड़ना यह भी दर्शाता है? कि क्षेत्र में बिजली चोरी बहुत हो रही है। 2 दिन में बादशाहपुर उपमंडल में ही 75 लाख की चोरी पकड़ी गई। आखिर इतने बड़े स्तर पर चोरी कैसे हो रही है? इस पर भी अधिकारियों को विचार करने की जरूरत है। लगातार बिजली चोरी का अभियान चलाने की भी जरूरत है।

रविवार को चला अभियान

- जिले भर में 44 टीमों ने दिनभर बिजली चोरों पर छापेमारी की

- गुरुग्राम-1 में 119 बिजली चोरों से 393 किलोवाट की बिजली चोरी पकड़ 77 लाख रुपये का जुर्माना लगाया।

-गुरुग्राम-टू में 140 मामलों में 395 किलोवाट की चोरी पकड़कर 101 लाख रुपये जुर्माना लगाया।

-सर्कल-1 के आइडीसी उपमंडल में 25 मामलों में 104 किलोवाट लोड पकड़ 20 लाख का जुर्माना लगाया

- न्यू कालोनी उपमंडल में आठ चोरी के मामलों में 50 किलोवाट लोड पकड़ा गया, जिस पर 8.62 लाख रुपये जुर्माना लगाया गया है।

- न्यू पालम विहार में 29 चोरी के मामलों में 59 किलोवाट चोरी पकड़़कर 15 लाख रुपये जुर्माना किया गया।

- कादीपुर उपमंडल में 12 मामले पकड़े गए। 32 किलो वाट बिजली चोरी पर 5.60 जुर्माना किया।

- मानेसर में 9.85, फरुखनगर में 8.36, पटौदी में 3.90 की और भोड़ाकला में 5.85 की चोरी पकड़ी गई।

- सर्कल- 2 के मारुति उपमंडल में 35 मामलों में 106 किलो वाट चोरी पकड़ कर 29 लाख रुपये जुर्माना लगाया। - डीएलएफ सिटी में 15 मामले पकड़े गए। जिसमें 38 किलोवाट लोड पर 10.38 लाख का जुर्माना लगाया गया है।

- साउथ सिटी उपमंडल में 11 मामलों में 48 किलो वाट की चोरी पकड़ी गई। इन बिजली चोरों पर 15.92 लाख का जुर्माना लगाया गया है।

-सोहना रोड उपमंडल में 12 चोरी के मामले पकड़े। 24 किलोवाट लोड पर 5.84 का जुर्माना लगाया।

-बादशाहपुर उपमंडल ने 21 चोरी के मामले पकड़े। 66 किलो वाट लोड पर 17 लाख रुपये जुर्माना लगाया गया। सोहना उपमंडल में 25 चोरी के मामलों में 76 किलो वाट बिजली चोरी पकड़ी गई। इन बिजली चोरों पर 18.62 लाख का जुर्माना किया गया है।

-तावडू उपमंडल में 21 चोरी के मामलों में 35 किलो वाट चोरी पकड़ कर 4.73 लाख का जुर्माना लगाया गया है

चोरी के मामले बढ़ने से ट्रांसफार्मर पर अतिरिक्त लोड बढ़ जाता है, जिसकी वजह से ईमानदार उपभोक्ता प्रभावित होते हैं। बिजली चोरों पर शिकंजा कसने से उपभोक्ताओं को बेहतर बिजली सुविधा उपलब्ध हो पाएगी। बिजली चोरी पकड़ने का अभियान जारी रहेगा। बिजली चोरों के साथ अब सख्ती से निपटा जाएगा।

केसी अग्रवाल, मुख्य अभियंता, दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम, दिल्ली जोन

बिजली चोरी पकड़ने पहुंची टीम पर हमला

जासं, गुरुग्राम: गांव गाडौली में शनिवार दोपहर बिजली चोरी पकड़ने पहुंची टीम के साथ कुछ लोगों ने न केवल मारपीट की बल्कि पत्थरों से भी हमला बोला। शिकायत के आधार पर सेक्टर-10 थाना पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। थाना प्रभारी सुरेश कुमार का कहना है कि आरोपितों की तलाश की जा रही है। जल्द ही सभी को गिरफ्तार किया जाएगा।

दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के कंस्ट्रक्शन डिविजन में कार्यरत एसडीओ नाथूराम के नेतृत्व में एक टीम बिजली चोरी पकड़ने के लिए हुकमचंद के घर पहुंची थी। टीम को देखते ही महिलाओं ने दरवाजा बंद कर दिया था। इसके बाद बिजली चोरी का वीडियो बनाने के लिए टीम पड़ोसी तिलकराज के मकान में पहुंची। तिलकराज के घर में भी चोरी की जा रही थी। इस पर टीम चोरी का वीडियो बनाने लगी तो घर में मौजूद लोगों ने न केवल गालियां देनी शुरू कर दीं बल्कि लाठियों एवं पत्थरों से हमला कमर दिया। हमला करने वालों में महिलाएं भी शामिल थीं। टीम के सदस्य जेई रामबहादुर, लाइनमैन रविद्र को चोट लगी। लोगों के विरोध की वजह से टीम के सदस्यों को गांव से जान बचाकर भागना पड़ा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.