फिरौती मांगने के लिए नोएडा में प्रापर्टी डीलर का अपहरण करने वाले थे बदमाश, गिरफ्तार

फिरौती मांगने के लिए नोएडा में एक प्रापर्टी डीलर का अपहरण करने वाले थे तीनों बदमाश

सहायक पुलिस आयुक्त (क्राइम) प्रीतपाल ने बताया कि आरोपित सहदेव नोएडा में एक प्रापर्टी डीलर के पास नौकरी करता था। इसके ऊपर कर्जा है। अपना कर्जा उतारने के लिए उसने दो साथियों के साथ मिलकर प्रापर्टी डीलर का अपहरण करके फिरौती मांगने की योजना बनाई थी।

Publish Date:Mon, 25 Jan 2021 04:23 PM (IST) Author: Mangal Yadav

गुरुग्राम (आदित्य राज)। गांव घाटा के नजदीक से हथियार के बल चालक को बंधक बनाकर कार लूट की वारदात को अंजाम देने के तीनों आरोपितों को क्राइम ब्रांच की सिकंदरपुर टीम ने उत्तरप्रदेश के मथुरा (टोल प्लाजा के नजदीक से) से रविवार रात गिरफ्तार कर लिया। उनकी पहचान उत्तरप्रदेश के जालौन जिले के गांव मिर्जापुर निवासी सहदेव सिंह, धीरेंद्र एवं गांव रुरा निवासी दीपेश के रूप में की गई। उनके कब्जे से लूटी गई स्विफ्ट डिजायर कार के साथ ही उसके कागजात, एक पर्स, एक चांदी की चेन एवं एक लैपटाप बरामद की गई।

आरोपित फिरौती मांगने के इरादे से नोएडा के एक प्रापर्टी डीलर का अपहरण करने वाले थे। उसी वारदात को अंजाम देने के लिए कार लूटी थी। तीनों को सोमवार दोपहर अदालत में पेश कर पूछताछ के लिए दो दिन की रिमांड पर लिया गया है।

पिछले सप्ताह 21 जनवरी को फरीदाबाद के सेक्टर-9 निवासी कारोबारी सतीश भाटी की कार लेकर उनका चालक मुबारक खान मानेसर आया था। वापस फरीदाबाद लौटने के दौरान वह कुछ देर के लिए गांव घाटा मोड़ के नजदीक रुका था। उसी दौरान हथियारबंद तीन बदमाशों ने चालक को बंधक बनाकर कार लूट की वारदात को अंजाम दिया था। चालक के साथ मारपीट करते हुए कुछ दूरी पर उतार दिया था। तभी से आरोपितों की तलाश की जा रही थी।

नोएडा में प्रापर्टी डीलर का अपहरण करने वाले थे बदमाश

सहायक पुलिस आयुक्त (क्राइम) प्रीतपाल ने बताया कि आरोपित सहदेव नोएडा में एक प्रापर्टी डीलर के पास नौकरी करता था। इसके ऊपर कर्जा है। अपना कर्जा उतारने के लिए उसने दो साथियों के साथ मिलकर प्रापर्टी डीलर का अपहरण करके फिरौती मांगने की योजना बनाई थी। इसी इरादे से उसने कार लूटी थी। आरोपित धीरेंद्र उसके गांव का ही रहने वाला है जबकि दीपेश पड़ोसी गांव का है। कार लूट की वारदात को अंजाम देने के लिए सहदेव हथियार उत्तरप्रदेश के कानपुर से 30 हजार रुपये में खरीदकर लाया था। रिमांड के दौरान उससे न केवल वारदात में प्रयोग हथियार की बरामदगी की जाएगी बल्कि अन्य साथियों के बारे में भी जानकारी हासिल की जाएगी।

गत वर्ष नवंबर से अब तक लूट की मुख्य वारदात

29 नवंबर : सेक्टर-82 इलाके में कारोबारी को बंधक बनाकर सेलेरियाे कार लूट 4 दिसंबर : खेड़कीदौला टोल प्लाजा के नजदीक एक कारोबारी से 35 हजार की लूट 20 दिसंबर : गांव धनकोट के नजदीक द्वारका एक्सप्रेस-वे पर कारोबारी से कार लूट 25 दिसंबर : ओल्ड दिल्ली रोड स्थित मारुति कंपनी के नजदीक से कार लूट 10 जनवरी : डीएलएफ फेज-एक इलाके में चाकू की नोंक पर आटो रिक्शा की लूट 11 जनवरी : हथियार के बल अतुल कटारिया चौक के नजदीक 10 लाख की लूट 15 जनवरी : रेवाड़ी के एक कारोबारी से कैब में तीन लाख 25 हजार की लूट 21 जनवरी : गांव घाटा मोड़ से हथियार के बल चालक को बंधक बनाकर कार लूट

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.