महोत्सव में गौरवशाली इतिहास के साथ मिलेगा गीता का ज्ञान

जिले में 12 से 14 दिसंबर तक आयोजित होने जा रहे गीता जयंती महोत्सव में इस बार लोगों को प्रदेश के गौरवशाली इतिहास से रूबरू होने का मौका मिलेगा। महोत्सव की तैयारियां जिला प्रशासन की ओर से तेजी से चल रही हैं।

JagranPublish:Wed, 08 Dec 2021 07:12 PM (IST) Updated:Wed, 08 Dec 2021 07:35 PM (IST)
महोत्सव में गौरवशाली इतिहास के साथ मिलेगा गीता का ज्ञान
महोत्सव में गौरवशाली इतिहास के साथ मिलेगा गीता का ज्ञान

जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: जिले में 12 से 14 दिसंबर तक आयोजित होने जा रहे गीता जयंती महोत्सव में इस बार लोगों को प्रदेश के गौरवशाली इतिहास से रूबरू होने का मौका मिलेगा। महोत्सव की तैयारियां जिला प्रशासन की ओर से तेजी से चल रही हैं। इस बार गीता जयंती का थीम आजादी की 75वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में मनाए जा रहे अमृत महोत्सव पर रखा गया है।

आजादी आंदोलन में प्रदेशवासियों के बलिदान और संघर्ष की झलक महोत्सव में दिखेगी। आंदोलन के कई अनछुए पहलुओं का यहां पता चलेगा। इसके लिए सूचना, जनसंपर्क तथा भाषा विभाग द्वारा प्रदर्शनी में 27 डिस्पले पैनल लगाए जाएंगे। इन पैनलों पर सन 1857 की क्रांति से लेकर आजादी प्राप्ति तक हरियाणावासियों का योगदान और प्रदेश के गठन से लेकर मौजूदा समय तक की विकास यात्रा को तथ्यों के साथ दर्शाया जाएगा। जिससे कि दर्शकों को आजादी आंदोलन के अनछुए पहलुओं और गुमनाम नायकों की वीर गाथाओं से परिचित कराया जाएगा। उपायुक्त डा. यश गर्ग ने बताया कि स्वतंत्रता संग्राम में हरियाणावासियों का योगदान अतुलनीय रहा। प्रदेश का विकास किस प्रकार से हुआ है इसकी भी झलक यहां लोगों को दिखेगी। प्रदेश में सड़कों, बिजली, पानी सहित अन्य इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास को भी दर्शाया जाएगा।

गीता जयंती महोत्सव में विभिन्न विभागों द्वारा सरकार की योजनाओं पर आधारित स्टाल भी लगाई जाएंगी। इसके अलावा यहां लोगों को गीता ग्रंथ में निहित शिक्षाओं से भी परिचित होने का अवसर मिलेगा। रविवार को तीन दिवसीय प्रदर्शनी का शुभारंभ किया जाएगा। गीता महोत्सव के अंतिम दिन नगर शोभा यात्रा निकाली जाएगी। आमजन के लिए महोत्सव में प्रवेश निशुल्क होगा।