चोरी की साजिश में दो डाक्टर गिरफ्तार

खेड़कीदौला थाना क्षेत्र में तीन माह पहले दर्ज 50 लाख रुपये की चोरी के मामले की जांच कर रही एसटीएफ गुरुग्राम की टीम ने एक प्राइवेट अस्पताल के संचालक और उसके सहयोगी डाक्टर को गिरफ्तार किया है।

JagranPublish:Wed, 10 Nov 2021 09:01 PM (IST) Updated:Wed, 10 Nov 2021 09:03 PM (IST)
चोरी की साजिश में दो डाक्टर गिरफ्तार
चोरी की साजिश में दो डाक्टर गिरफ्तार

जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: खेड़कीदौला थाना क्षेत्र में तीन माह पहले दर्ज 50 लाख रुपये की चोरी के मामले की जांच कर रही एसटीएफ गुरुग्राम की टीम ने एक प्राइवेट अस्पताल के संचालक और उसके सहयोगी डाक्टर को गिरफ्तार किया है। दोनों को बुधवार को जिला अदालत में पेश कर दो दिन की रिमांड पर लेकर मामले में दोनों की भूमिका की जांच की जा रही है। पहले इस मामले की जांच सेक्टर 31 की क्राइम टीम कर रही थी। मामला विवादित होने पर डीजीपी ने जांच एसटीएफ को सौंप दी थी।

एसटीएफ के अनुसार यह चोरी कुल तीन करोड़ 90 लाख रुपये की है, जिसमें सोने के आभूषण व विदेशी मुद्रा भी शामिल है। एसटीएफ गुरुग्राम की टीम ने मामले की छानबीन के बाद मंगलवार की रात खाडसा रोड पर निजी अस्पताल के संचालक डा. सचिन्द्र जैन नवल व उनके सहयोगी डा.जीपी सिंह को चोरी की साजिश में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

बता दें कि एक अक्टूबर की रात बजघेड़ा थाना इलाके से तीन बदमाशों को क्राइम ब्रांच की टीम ने दबोचा था। दो भागने में सफल हो गए थे। उनकी पहचान दिल्ली के छावला निवासी दारा सिंह, न्यू रोशनपुरा निवासी अमित उर्फ मीता और रोशन विहार निवासी अभिनव उर्फ चुन्नू के रूप में की गई थी। पूछताछ में सामने आया था कि तीनों बदमाश कुख्यात गैंगस्टर विकास लगरपुरिया गैंग से जुड़े हैं। पूछताछ में उन्होंने स्वीकार किया था कि उन्होंने 20 अगस्त की रात खेड़कीदौला थाना इलाके में संचालित अल्फाजी कार्प मैनेजमेंट सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड नामक कंपनी से 50 लाख रुपये की चोरी की थी। उस चोरी की प्लानिग में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल जनकपुरी में तैनात एएसआइ विकास गुलिया भी शामिल था। विकास गुलिया और कुख्यात गैंगस्टर विकास लगरपुरिया एक ही गांव के रहने वाले हैं। विकास सिपाही भर्ती हुआ था। दो बार स्पेशल प्रमोशन से एएसआइ बना था।

क्राइम ब्रांच सेक्टर-31 की टीम ने विकास को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इस मामले का मास्टरमाइंड गैंगस्टर विकास लगरपुरिया है। वह छह साल से विदेश में बैठ कर गिरोह का संचालन कर रहा है।