सड़क बन गई नहर, लोग घर में कैद रहने को हुए मजबूर

बरसात के तेज होते ही दिल्ली-एक्सप्रेस -वे स्थित सिरहौल बार्डर पर एक तरफ काफी जलभराव हुआ। शंकर चौक पर भी जलभराव के चलते कारें रेंगती दिखाई दीं।

JagranWed, 28 Jul 2021 06:45 PM (IST)
सड़क बन गई नहर, लोग घर में कैद रहने को हुए मजबूर

संवाद सहयोगी, नया गुरुग्राम: बुधवार को हुई झमाझम बारिश के बाद नये गुरुग्राम के कई इलाकों, मुख्य सड़कों, लाइसेंस कालोनी एवं सेक्टरों में लोगों को जलभराव की समस्या से दो-चार होना पड़ा। बरसात के तेज होते ही दिल्ली-एक्सप्रेस -वे स्थित सिरहौल बार्डर पर एक तरफ काफी जलभराव हुआ। शंकर चौक पर भी जलभराव के चलते कारें रेंगती दिखाई दीं। डीएलएफ साइबर सिटी के अंडरपास के नजदीक रैपिड मेट्रो स्टेशन डीएलएफ-दो के नजदीक भी काफी जलभराव रहा।

नया गुरुग्राम के अधिकांश इलाकों में जलभराव का मुख्य कारण गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण (जीएमडीए) के अधिकारियों की लापरवाही रही है। इस बार भी अधिकारियों ने अपने कार्यालय में ही बैठकर ड्रेनों का निरीक्षण कर लिया जिसका खामियाजा आज सड़कों पर हो रहे जलभराव से लोगों को उठाना पड़ रहा है। वहीं जीएमडीए अधिकारियों का दावा है कि शहर का ड्रेनेज सिस्टम चालू है तभी पानी की निकासी हो रही है।

सेक्टर-29 की सड़के तालाब में तब्दील हो गई, सिग्नेचर टावर अंडरपास से सटी सड़क पानी से लबालब हो गई। लगभग दो से ढाई फुट पानी भरा रहा। यहां पर जीएमडीए की मास्टर ड्रेन पानी नहीं ले पा रही थी। उधर, गलेरिया मार्केट रोड पर सुशांत लोक-एक स्थित ए-ब्लॉक में निगम के उप-महापौर के घर के नजदीक सड़क पानी से लबालब रही। यहां सक्शन टैंकर और पंप लगाकर पानी निकाला गया। यहीं नहीं सड़क से और पानी न आए, इसके लिए मिट्टी की बोरियां भी लगाई गईं। यहां पर मास्टर ड्रेन के पानी न लेने से समस्या पैदा हुई। साउथ सिटी स्थित ए- ब्लॉक में भी जलभराव की समस्या से लोग दो चार हुए।

मालिबू कालोनी की सड़कें पानी से हुई लबालब

सोहना रोड स्थित मालिबू टाउन प्लाटिड कालानी की सड़कें भी नदियां बन गई। मालिबू टाउन निवासी अलका दलाल, प्रतीत कुमार का कहना है कि कालोनी में ड्रेनेज नाम की कोई व्यवस्था नहीं है। हर बरसात में ऐसी ही परेशानी होती है। पार्क व्यूह रेिजडेंसी सोसायटी में कारें डूबीं

पालम विहार सेक्टर तीन स्थित पार्क व्यू रेजिडेंसी सोसायटी का नजारा किसी स्वीमिग पूल से कम नहीं था। सोसायटी परिसर में खड़ी कारें आधी डूब गईं। कई जगह तीन से चार फुट पानी भरा, जहां बच्चों ने स्वीमिग का भी लुत्फ उठाया।

नगर निगम की तरफ से जोन तीन के संयुक्त आयुक्त संजीव कुमार ने गोल्फकोर्स रोड, सेक्टर-27-28 चौक, सुशांत लोक एक स्थित ए- ब्लॉक , साउथ सिटी समेत कई इलाकों का निरीक्षण कर जलभराव की निकासी को लेकर दिशा-निर्देश दिए। क्या कहते है जीएमडीए के मुख्य अभियंता

मुख्य अभियंता प्रदीप कुमार का कहना है कि पानी के निकासी के पुख्ता इंतजाम किए गए है। शहर की मुख्य ड्रेन लेग-एक, दो व तीन फुल होकर चल रही है। बारिश रूकने के बाद अमूमन तीन से चार घंटे में पानी निकासी हो जाती है। केवल कुछ ही जगह है जिसमें सेक्टर-29, मेदांता के पास जहां पानी निकासी में थोड़ा समय लगता है। सेक्टर29 में स्पीड ब्रेकर बनाए गए थे जिसकी वजह से दिक्कत आई लेकिन ड्रेन की क्षमता बढ़ाने के लिए नए टेंडर लगा दिए है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.