कल रात से बदलेगा मौसम, 14 तक हल्की बरसात व आंधी की संभावना

कल रात से बदलेगा मौसम, 14 तक हल्की बरसात व आंधी की संभावना

जिले में पिछले कुछ दिनों से लगातार मौसम बदल रहा है। अप्रैल महीने में तापमान 44 डिग्री पर पहुंच गया था लेकिन मई महीना अपेक्षाकृत अभी तक ठंडा रहा है। रविवार को भी दिनभर मौसम बदलता रहा। सुबह हल्के बादल छाए रहे तो दोपहर को तेज धूप रही लेकिन देर शाम को फिर बादल छा गए। मौसम विशेषज्ञों की माने तो 10 मई को मौसम साफ रहेगा लेकिन 11 मई की रात से फिर मौसम परिवर्तनशील हो जाएगा। जिससे तापमान में गिरावट आई आएगी। रविवार को अधिकतम तापमान 37 डिग्री व न्यूनतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

JagranMon, 10 May 2021 07:20 AM (IST)

जागरण संवाददाता, फतेहाबाद :

जिले में पिछले कुछ दिनों से लगातार मौसम बदल रहा है। अप्रैल महीने में तापमान 44 डिग्री पर पहुंच गया था, लेकिन मई महीना अपेक्षाकृत अभी तक ठंडा रहा है। रविवार को भी दिनभर मौसम बदलता रहा। सुबह हल्के बादल छाए रहे तो दोपहर को तेज धूप रही, लेकिन देर शाम को फिर बादल छा गए। मौसम विशेषज्ञों की माने तो 10 मई को मौसम साफ रहेगा लेकिन 11 मई की रात से फिर मौसम परिवर्तनशील हो जाएगा। जिससे तापमान में गिरावट आई आएगी। रविवार को अधिकतम तापमान 37 डिग्री व न्यूनतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार एक और पश्चिमी विक्षोभ के आंशिक प्रभाव के कारण 11 मई की रात्रि से मौसम में फिर से बदलाव आने की संभावना है। पश्चिमीविक्षोभ के प्रभाव से राजस्थान के उपर बनने वाले एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन से 12 से 14 मई के बीच राज्य के ज्यादातर क्षेत्रों में तेज गति से धूलभरी हवाएं चलने व गरज-चमक के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। जिससे दिन के तापमान में गिरावट तथा रात्रि तापमान में हल्की बढोतरी दर्ज होने की संभावना है।

----------------------

कृषि विभाग ने ये जारी की एडवाइजरी

- तूड़ी आदि को अच्छे से ढक दें ताकि आंधी आए तो ना उडं़े।

- मंडी में गेहूं ले जाते समय तिरपाल अपने साथ अवश्य रखे, ताकि संभावित बारिश से अनाज को भीगने से बचाया जा सके।

-बारिश की संभावना को देखते हुए नरमा की बिजाई के लिए तैयार खेत में नमी संचित करे व अगले दो तीन दिन बिजाई रोक ले।

-------------------------------------

ये कहना है किसानों का

गांव बड़ोपल के किसान रमेश कुमार, सुरजीत सिंह, भूप सिंह व महेंद्र ने बताया कि उन्होंने तीन दिन पहले ही नरमे की बिजाई की है। अगर बरसात हो गई तो नुकसान अधिक होगा। एक एकड़ नरमे की बिजाई में तीन से चार हजार रुपये का खर्च आ रहा है। अगर बरसात हुई तो नरमे की बिजाई प्रभावित होगी जिससे उन्हें आर्थिक नुकसान होगा। किसानों का कहना है कि इस बार नहरबंदी के कारण पानी भी समय पर नहीं आया इसलिए नरमे की बिजाई समय पर नहीं हो सकी। अब बार बार मौसम खराब हो रहा है जिससे उन्हें आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है।

----------------------------------------------------------------------

11 मई की रात्रि को मौसम में बदलाव आने की संभावना है। 12 से 14 मई तक मौसम परिवर्तनशील रहेगा और आंधी के साथ हल्की बरसात हो सकती है। ऐसे में किसान नरमे की बिजाई रोक ले ताकि उन्हें आर्थिक नुकसान ना हो।

मदन लाल खिचड़,

वरिष्ठ वैज्ञानिक कृषि मौसम विज्ञान विभाग हिसार।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.