top menutop menutop menu

कभी था सौंदर्य की मिसाल, आज झेल रहा उपेक्षा का दाग

कभी था सौंदर्य की मिसाल, आज झेल रहा उपेक्षा का दाग
Publish Date:Mon, 03 Aug 2020 11:52 PM (IST) Author: Jagran

संवाद सूत्र, कुलां :

फतेहाबाद में स्वच्छ ता व सुंदरीकरण की मिसाल बना गांव धारसूल कलां का राजकीय कन्या माध्यमिक विद्यालय इन दिनों दो पंचायतों की आपसी अनबन के चलते उपेक्षा का दंश झेल रहा है। गांव में निकासी की समुचित व्यवस्था न होने के कारण वर्षा व गांव का दूषित पानी विद्यालय परिसर में भरने के साथ ही प्रांगण में जमा हो रहा है। जिम्मेदारों की इस उदासीनता से यहां आवागमन में दिक्कत हो रहीं है अथवा ग्रामीणों को मौजूदा कोरोना काल की स्थिति में संक्रामक बीमारी का भय सता रहा है, वहीं यदि शीघ्र ही जल निकासी का प्रबंध न किया गया तो स्कूली छात्राओं को भी मुसीबत झेलनी पड़ेगी। कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर इन दिनों स्कूलों में छुट्टियां होने के कारण स्कूल बंद है, परंतु हालात न बदले तो मानसून सीजन में स्थिति अतिरिक्त बदतर होगी।

धारसूल कलां गांव में निकासी प्रबंध न होने की समस्या काफी पुरानी है। इससे पहले दूषित पानी विद्यालय परिसर में जमा होता था, परंतु अब गंदा पानी विद्यालय प्रांगण में प्रवेश कर रहा है। दरअसल ऐसा धारसूल कलां व धारसूल खुर्द गांव में आपसी तालमेल न होने के कारण हो रहा है। गांव में दूषित पानी निकास इंतजाम न होने पर अथवा ग्रामीणों की बार बार शिकायत के बाद धारसूल कलां पंचायत ने गंदे पानी के निकास के लिए नाली निर्माण कर, धारसूल खुर्द गांव के जोहड़ में निकासी की गई थी। परंतु इसके बाद धारसूल खुर्द गांव में जल ओवरफ्लो की समस्या उत्पन्न होने पश्चात धारसूल खुर्द के ग्रामीणों ने धारसूल कलां गांव के पानी की निकासी पर रोक लगा दी गई है। नतीजन इससे धारसूल कलां गांव का गंदा पानी नाली से ओवरफ्लो होकर कन्या विद्यालय परिसर व प्रांगण में भर रहा है।

---------------------------

सुंदरीकरण की मिसाल है कन्या विद्यालय

विदित है कि गत वर्ष धारसूल कलां गांव के उक्त कन्या विद्यालय द्वारा मुख्यमंत्री स्कूल सुंदरीकरण प्रतियोगिता में जिला स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त किया गया था, परंतु इन दिनों ग्राम पंचायत की उदासीनता के चलते विद्यालय परिसर व प्रांगण में जमा गंदा पानी स्कूल की सुंदरता पर दाग लगा रहा है।

---------------------

धारसूल कलां गांव के दूषित पानी की निकासी लंबे अर्सो से धारसूल खुर्द जोहड़ में हो रही थी। परंतु मौजूदा धारसूल खुर्द पंचायत ने निकासी पर रोक लगा दी थी। इसके बाद हमने करीब 1 माह पूर्व नाली निर्माण कर पुन निकासी व्यवस्था की गई थी, परंतु धारसूल खुर्द गांव के लोगों ने इस पर रोक लगा दी है। जिससे पानी ओवरफ्लो होकर विद्यालय में जमा हो रहा है।

हरपाल सिंह सरपंच गांव धारसूल कलां

-----------------------

धारसूल कला ग्राम पंचायत द्वारा गंदे पानी की निकासी धारसूल खुर्द गांव के जोहड़ में की गई है। इससे हमारे गांव का जोहड़ ओवरफ्लो होने से समस्या उत्पन्न हो रही है। इससे आसपास के घरों को सेम आ गई है। ऐसे में मजबूरन पानी निकासी अवरुद्ध की गई है।

राजकुमार बबली, सरपंच, धारसूल खुर्द

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.