अब हर सदस्य एक होगा परिवार पहचान पत्र, अलग-अलग आइडी रखने से मिलेगी मुक्ति

अब हर सदस्य एक होगा परिवार पहचान पत्र, अलग-अलग आइडी रखने से मिलेगी मुक्ति

जागरण संवाददाता फतेहाबाद अब परिवार के सभी सदस्यों को अपना आधार नंबर हो या फिर किसी

Publish Date:Wed, 05 Aug 2020 09:58 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, फतेहाबाद : अब परिवार के सभी सदस्यों को अपना आधार नंबर हो या फिर किसी प्रकार की आइडी लेकिन घूमना नहीं पड़ेगा। केवल परिवार पहचान पत्र अपने साथ होना चाहिए। प्रदेश सरकार ने इसके लिए परिवार पहचान पत्र जारी कर दिए है। फतेहाबाद जिले में लघु सचिवालय में कार्यक्रम आयोजित हुआ। मंगलवार को 23 परिवारों को यह परिवार पहचान पत्र जारी किया गया। इस कार्यक्रम सिरसा लोकसभा क्षेत्र की सांसद सुनीता दुग्गल बतौर मुख्यातिथि उपस्थित रहीं। इस अवसर पर टोहाना के विधायक देवेन्द्र सिंह बबली, उपायुक्त डा. नरहरि सिंह बांगड़, एडीसी अजय चोपड़ा आदि सभी संबंधित विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।

सांसद सुनीता दुग्गल ने जिला फतेहाबाद के 23 परिवारों के मुखियाओं को परिवार पहचान पत्र सौंपे। सांसद ने कहा कि परिवार पहचान पत्र जनहित में अनूठी व एकदम अलग पहल के रूप में एक क्रांतिकारी कदम साबित होगा। यह पहचान पत्र योग्य लाभार्थियों को विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ दिलवाएगा। पहले आम आदमी खासकर ग्रामीण क्षेत्र के नागरिक जो सरकारी कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पूरी तरह से नहीं ले पाते थे। वे सब अब इस परिवार पहचान पत्र के माध्यम से घर बैठे ही प्रत्येक योजना का लाभ उठा पाएंगे।

----------------------------

आठ अंकों का जारी होगा पहचान पत्र

सभी नागरिकों को 8 अंकों का पहचान नंबर जारी होगा। भ्रष्टाचार पर अंकुश व डुप्लीकेट की संभावनाएं कम होंगी। नागरिक अपने पहचान पत्र के पंजीकरण के लिए निकटतम कॉमन सर्विस सेंटर या सरल केंद्र पर जाएं। सभी योजनाओं का लाभ एक ही पहचान पत्र से मिलेगा, बार-बार प्रमाण पत्र तथा दूसरे दस्तावेज दिखाने से छुटकारा मिलेगा।

------------------------

इन योजनाओं को मिल जाएगा लाभ

सांसद सुनीता दुग्गल ने कहा कि इस अनूठी पहल के बाद परिवार पहचान पत्र के माध्यम से आम नागरिकों को बुढ़ापा पेंशन, राशन कार्ड, विधवा पेंशन, छात्रवृत्ति भत्ता, वोटर आईडी कार्ड जैसी तमाम सुविधाओं के लिए अधिकारियों व राजनेताओं के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। यह कार्ड तमाम योजनाओं के लिए एक पहचान पत्र का काम करेगा और इसके साथ सरकार द्वारा जारी सभी जनकल्याणकारी योजनाओं का डाटा जुड़ जायेगा। इससे लाभार्थी को घर बैठे ही सभी सुविधाओं का लाभ मिल पाएगा।

------------------------------------

2011 जनगणना के अनुसार जिले के साढ़े 9 लाख जनसंख्या

उपायुक्त डा. नरहरि सिंह बांगड़ ने कहा कि 2011 की जनगणना के अनुसार जिला में 2 लाख 36 हजार के लगभग परिवार है और साढ़े 9 लाख के करीब आबादी है। उपायुक्त ने कहा कि एक लाख 97 हजार 159 घरों का सर्वे हो चुका है जो 99.5 प्रतिशत है। जिला फतेहाबाद सर्वे में प्रदेश में चौथे पायदान पर है। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार ने जनता के उत्थान के लिए परिवार पहचान पत्र की शुरूआत की है, जिसके माध्यम से लोगों को घरों में बैठे विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ मिलेगा।

------------------

ये रहे मौजूद

जिला स्तरीय परिवार पहचान पत्र समारोह में अतिरिक्त उपायुक्त अजय चोपड़ा, जिप चेयरमैन राजेश कसवां, नप चेयरमैन दर्शन नागपाल, डीआइपीआरओ एआर कसाना, डीआईओ सिकंदर, डीएसओ ओपी इंदौरा, भाजपा ओबीसी मोर्चा प्रधान राजेन्द्र प्रजापति, विजय गोयल, प्रताप सिहाग, डा. मुकेश कुमार, राधे सिंह, निशांत कामरा, सरपंच अशोक कुमार आदि मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.