पहली बार गृह जिले में एचटेट,पिछली बार की तुलना में 2.3 फीसद ज्यादा पहुंचे परीक्षार्थी

जागरण संवाददाता, फतेहाबाद

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की तरफ से आयोजित अध्यापक पात्रता लेवल तीन की परीक्षा शनिवार को परीक्षार्थियों ने पहली बार अपने गृह जिले में दी। हालांकि महिला परीक्षार्थियों को मिली छूट के बावजूद कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ा। नाक की पिन और कानों की बालियां उतारने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। परीक्षा जिला मुख्यालय के 11 केंद्रों पर कड़ी पुलिस सुरक्षा के बीच हुई। 3357 परीक्षार्थियों में से 3154 परीक्षार्थी परीक्षा देने के लिए पहुंचे, 203 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। हालांकि पिछली बार की तुलना में 2.3 फीसद परीक्षार्थी ज्यादा परीक्षा देने के लिए पहुंचे हैं। इस बार 93.95 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी तो पिछली बार 91.65 परीक्षार्थियों ने दी थी।

एचटेट लेवल तीन की परीक्षा के लिए केंद्र के अंदर 12 बजकर 50 मिनट पर एंट्री शुरू हुई। महिला परीक्षार्थियों के कान की बालियां व नाक का कोका न उतरने के कारण उन्हें सुनार के पास जाना पड़ा। परीक्षा केंद्रों पर महिलाएं नोज पिन को लेकर जांच टीम के साथ बहसबाजी करती हुई नजर आई। परीक्षार्थियों का कहना था कि नोज पिन की छूट मिली है लेकिन जांच टीम ने कहा कि नोज पिन और कानों की बालियां डालकर नहीं जा सकती हैं।

------

ऐसे हुई जांच :

परीक्षा केंद्र में एंट्री दो बजे तक चली। पुलिस कर्मियों द्वारा चेकिग करने के बाद ही परीक्षार्थियों को अंदर जाने दिया गया। परीक्षार्थियों के जूते व जुराबें उतरवाकर चेकिग की गई। डयूटी मजिस्ट्रेट ने परीक्षार्थियों के एडमिट कार्ड की जांच की। रूमाल तक बाहर रखवा दिए गए।

-------

पति को भी देनी पड़ी परीक्षा :

परीक्षा देने के लिए पहुंची महिला परीक्षार्थियों के साथ उनके बच्चे भी पहुंचे थे। इन्हें संभालने के लिए किसी महिला के पति तो किसी महिला के मां-बाप को परीक्षा देनी पड़ी। महिलाओं के परीक्षा केंद्र के अंदर जाने के बाद करीब साढ़े तीन घंटे तक बच्चों को संभालना पड़ा।

-------

2.3 फीसद ज्यादा पहुंचे परीक्षार्थी

वर्ष कुल परीक्षार्थी परीक्षा देने पहुंचे अनपुस्थित रहे

जनवरी 2019 4339 3977 362

नवंबर 2019 3357 3154 203

-------

नवविवाहिताओं को मिली चूड़ा डालकर जाने की अनुमति :

इस बार नवविवाहिताओं को शगुन का चूड़ा डालकर परीक्षा केंद्र जाने की अनुमति मिली। परीक्षा केंद्रों पर काफी संख्या में नवविवाहिताएं चूड़ा डालकर आई हुई थी। पहले पुलिस कर्मियों ने नवविवाहिताओं को चूड़ा डालकर जाने से रोका, लेकिन शिक्षा विभाग के अधिकारियों की अनुमति के बाद जाने दिया गया।

------- ---------

दिव्यांग परीक्षार्थियों के लिए नहीं दिखी व्यवस्था :

दिव्यांग परीक्षार्थियों को भी एंट्री करने के लिए एक घंटे का इंतजार करना पड़ा। इनके लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई। दिव्यांग परीक्षार्थियों को लाइन में लगकर अपनी बारी का इंतजार करना पड़ा।

----------

सड़क पर लगा जाम, पुलिस को करनी पड़ी मशक्कत :

लेवल तीन की परीक्षा खत्म होने के बाद हिसार-सिरसा रोड पर जाम लग गया। अधिकतर विद्यार्थी अपने साधनों से आए हुए थे। परीक्षा की समाप्ति के बाद बस स्टैंड के सामने, लालबत्ती चौक पर जाम की स्थिति रही। शाम साढे 6 बजे तक जाम की स्थिति रही। बस स्टैंड पर परीक्षा के बाद स्थिति समान्य रही। यहां पर परीक्षार्थियों की ज्यादा भीड़ नहीं दिखी। रतिया, भूना, टोहाना क्षेत्र व गांवों से आए परीक्षार्थी अपने साधनों पर ही आए थे। वही पहली बार बसें खाली गई। बस स्टैंड पर भीड़ भी नहीं रही।

---------

आज होगी एचटेट लेवल एक और दो की परीक्षा :

एचटेट लेवल दो की परीक्षा आज जिला मुख्यालय के 14 सेंटरों पर सुबह के सत्र में होगी। 4082 परीक्षार्थियों को केंद्र अलॉट हुआ है। इसके लिए एंट्री सुबह 7 बजकर 50 मिनट पर शुरू होगी। लेवल एक की परीक्षा 12 सेंटरों पर शाम के सत्र में होगी। इसकी एंट्री 12 बजकर 50 मिनट पर शुरू होगी।

------

उपायुक्त धीरेंद्र खड़गटा के दिशा निर्देशानुसार एचटेट परीक्षा के लिए नियुक्त किए गए संयोजक एवं उपमंडलाधीश सुरजीत सिंह नैन, फ्लाइंग टीम समेत अतिरिक्त उपायुक्त महाबीर प्रसाद व अन्य प्रशासनिक अधिकारियों ने परीक्षा केंद्रों का औचक निरीक्षण किया। परीक्षा शांति पूर्वक संपन्न हुई है। रविवार को भी दो चरणों में परीक्षा है, इसको लेकर धारा 144 लागू है।

- दयानंद सिहाग

जिला शिक्षा अधिकारी

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.