कालेज के शुभारंभ से पहले ही गेट के सामने लगा कूड़े का ढेर

कालेज के शुभारंभ से पहले ही गेट के सामने लगा कूड़े का ढेर

जिला प्रशासन स्वच्छता अभियानों पर करोड़ों रुपये पानी की तरह क्यूं न बहा ले लेकिन स्थानीय पंचायतें नगर पालिका व नगर परिषद के अधिकारी की लापरवाही के चलते संपूर्ण स्वच्छता के लक्ष्य को प्राप्त करना बेमानी लग रहा है। स्वच्छता अभियान को ठेंगा दिखाने करने का ताजा उदाहरण भूना में देखने को मिल रहा है।

Publish Date:Sun, 24 Jan 2021 07:46 AM (IST) Author: Jagran

संवाद सूत्र, भूना :

जिला प्रशासन स्वच्छता अभियानों पर करोड़ों रुपये पानी की तरह क्यूं न बहा ले, लेकिन स्थानीय पंचायतें, नगर पालिका व नगर परिषद के अधिकारी की लापरवाही के चलते संपूर्ण स्वच्छता के लक्ष्य को प्राप्त करना बेमानी लग रहा है। स्वच्छता अभियान को ठेंगा दिखाने करने का ताजा उदाहरण भूना में देखने को मिल रहा है। करोड़ों रुपये की लागत से निर्मित राजकीय महाविद्यालय का भले ही अभी तक उद्घाटन न हुआ हो, लेकिन इससे पूर्व ही कालेज के गेट पर गंदगी के ढेर लग गए हैं।

थाना रोड पर निर्मित कालेज के गेट पर गंदगी के ढेर आमजन व विद्यार्थियों को शर्मसार कर रहे हैं और कालेज की शोभा बिगाड़ रहे हैं। पूरी तरह से बनकर तैयार हो चुके इस कालेज के मैदान पर अभ्यास करने के लिए प्रतिदिन सुबह-शाम सैकड़ों खिलाड़ी पहुंचते हैं, जो गंदगी के आलम से गुजरने पर मजबूर हैं। मगर नगर पालिका इस ओर ध्यान देने को तैयार नहीं है। कस्बावासियों ने नगर पालिका के उच्चाधिकारियों ने समस्या से निजात दिलवाने के लिए गुहार लगाई है।

----------

करोड़ रुपये की लागत से बना महाविद्यालय

बता दें कि नया बस स्टैंड के सामने सरकार द्वारा राजकीय महाविद्यालय का निर्माण करवाया गया है। जिसपर करोड़ों रुपये खर्च किए गए हैं। नया बस स्टैंड से थाना रोड पर राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के साथ ही इस कालेज का गेट नंबर-2 बनाया गया है। विडंबना इस बात की है कि जिस कालेज का अभी तक शुभारंभ ही नहीं हो पाया, उस कालेज के गेट के बाहर गंदगी के ढेर लगने शुरू हो गए हैं, जो शिक्षा जगत को शर्मसार कर रहे हैं। कालेज में आने-जाने वाले व राह से गुजरने वाले लोगों के लिए कूड़े के ढेर बदबू का कारण बने हुए है।

--------------------------

ये कहना है लोगों का

स्थानीय निवासी रमेश कुमार, सुरजीत सिंह, सिमरजीत सिंह ने बताया कि कई बार नगरपालिका को इस समस्या से अवगत करवाया जा चुका हैं। लेकिन समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है। शहर में एकमात्र महाविद्यालय है। ऐसे में नगरपालिका के कर्मचारी यहां पर कूड़ा डालकर दीवरों को खराब कर रहे है। यहां से हर दिन सैकड़ों की संख्या में लोग गुजरते है। ऐसे में शिक्षा के मंदिर के सामने पड़ा कूड़ा भी व्यवस्था पर सवालिया निशान लगा रहा है।

---------------------

नगर पालिका के कर्मचारियों को कूड़ा हटाने के निर्देश दे दिए गए हैं और जल्दी ही कुड़ा उठवाकर समस्या से निजात दिलवाई जाएगी। भूना में जल्द ही डोर-टू-डोर कूड़ा उठना भी शुरू हो जाएगा। ऐसे में डंपिग प्वाइंट भी खत्म हो जाएंगे।

राखी वाल्मीकि,

चेयरपर्सन, नगरपालिका, भूना।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.