स्क्रीनिंग के बाद स्कूलों में मिली एंट्री

जिले में 141 दिनों के बाद पहली से तीसरी कक्षा के विद्यार्थी चेहरे पर दिखी मुस्कान

JagranMon, 20 Sep 2021 11:39 PM (IST)
स्क्रीनिंग के बाद स्कूलों में मिली एंट्री

जागरण संवाददाता, फतेहाबाद :

पिछले 141 दिनों से प्राइमरी स्कूलों में विद्यार्थी की आवाज तक सुनाई नहीं दे रही है। केवल चौथी व पांचवीं कक्षा के विद्यार्थी ही आ रहे थे। ऐसे में न तो स्कूल में चहल पहल थी और नही अध्यापकों का मन लग रहा था। कोरोना संकट खत्म होते ही प्रदेश सरकार ने सोमवार से पहली से तीसरी कक्षा तक के विद्यार्थियों को स्कूल आने की अनुमति दे दी। पहले दिन विद्यार्थियों की संख्या अपेक्षा से कम रही, लेकिन जितने भी आए उनके चेहरों पर एक उमंग व खुशी साफ नजर आ रही थी। पिछले कई महीनों से घर में बैठे विद्यार्थी अपने दोस्तों से मिले। वहीं अध्यापकों का मन भी स्कूल में लगा। अध्यापक कोरोना संकट से ही स्कूल में आ रहे है, लेकिन स्कूल खाली होने के कारण मन नहीं लग रहा था। ऐसे में अब आनलाइन से अधिक विद्यार्थियों को अधिक समझ आएगी।

सोमवार को स्कूल खुलने से पहले ही शिक्षा विभाग ने आदेश जारी कर दिए थे कि बच्चों के प्रवेश करने से पूर्व स्क्रीनिग करे। अगर कोई बच्चा बीमार है तो उसे घर भेज दे, वहीं अभिभावकों से अपील की थी कि अगर बच्चा बीमार है तो स्कूल न भेजे।

---------------------------------------

पहले दिन 17 फीसद विद्यार्थियों की संख्या रही कम

सोमवार को पहली से तीसरी कक्षा तक की कक्षाएं शुरू होने के पहले दिन बच्चों की संख्या कम रही। शिक्षा विभाग ने आदेश जारी किए थे कि हर स्कूल में केवल 50 फीसद तक ही विद्यार्थियों को बुलाया जाए। यहीं कारण है कि पहले दिन इनकी संख्या कम रही। लेकिन 17 फीसद ही विद्यार्थी कम आए। जिले में तीनों कक्षाओं में 30,475 संख्या है। इनमें से 15237 विद्यार्थियों को बुलाया गया था। सोमवार को पहले दिन 12,660 विद्यार्थी पढ़ने के लिए आए। प्राइवेट स्कूलों में तो पिछले कुछ दिनों से कक्षाएं लगनी शुरू हो गई थी, लेकिन सरकारी स्कूलों में ऐसा नहीं थी। शहरों की अपेक्षा ग्रामीण क्षेत्रो में विद्यार्थियों की संख्या कम रही।

------------------------------------------

इन नियमों को पूरा करने के बाद मिली एंटी

-विद्यार्थियों को गेट पर रोककर स्क्रीनिग की।

-कक्षा में प्रवेश करने से पूर्व हाथ साफ करवाये गए।

-जो विद्यार्थी बीमार मिला उसे घर भेजा गया

-अगर कोई विद्यार्थी मास्क लेकर नहीं आया तो उसे मास्क दिया गया

-कक्षा में प्रवेश करने के बाद एक बैंच पर एक ही विद्यार्थी को बैठने दिया।

-किसी भी स्कूल में आधी छुट्टी नहीं की गई।

-विद्यार्थियों के जाने के बाद सैनिटाइजर का छिड़काव किया गया।

--------------------------------------------------------

अब जाने सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या व आए विद्यार्थी

कक्षा विद्यार्थी सरकारी आने की अनुमति पहुंचे

पहली 9332 4666 3420

दूसरी 10638 5319 4520

तीसरी 10505 5252 4720

कुल 30,475 15237 12,660

---------------------------------------

इन आंकड़ों पर डाले नजर

जिले में सरकारी स्कूल : 620

जिले में प्राइवेट स्कूल : 400

वर्जन...

स्कूल खुलने के बाद विद्यार्थियों के चेहरे पर मुस्कान देखी गई। वहीं सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को आदेश भी दिया गया था कि वे स्कूलों का निरीक्षण करे। अनेक स्कूलों का निरीक्षण भी किया गया। पहले दिन विद्यार्थियों की संख्या कम रही है।

दयानंद सिहाग, जिला शिक्षा अधिकारी फतेहाबाद।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.