सरेआम हत्या के प्रमाण मिल गए हैं, अब फांसी से ही संतोष

सरेआम हत्या के प्रमाण मिल गए हैं, अब फांसी से ही संतोष
Publish Date:Thu, 29 Oct 2020 09:18 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, फरीदाबाद : बीकाम फाइनल वर्ष की छात्रा निकिता की हत्या पर शोक जताने के लिए बृहस्पतिवार को विभिन्न दलों के विधायक व करणी सेना के अध्यक्ष सूरजपाल अम्मू, अपना घर सोसायटी उनके निवास स्थान पर पहुंचे और निकिता की माता विजयवती, पिता मूलचंद तोमर, भाई नवीन व मामा हाकिम को सांत्वना दी। सुबह से लेकर देर शाम तक नेताओं व अन्य सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों का आगमन जारी रहा।

करणी सेना के अध्यक्ष सूरजपाल अम्मू में इस घटना के प्रति बेहद रोष दिखा, उन्होंने कहा कि निकिता की बहादुरी पर उन्हें गर्व है, जिन्होंने मुस्लिम धर्म अपनाने की बजाय या हार मानने की बजाय अपनी जान देना ज्यादा उचित समझा। निकिता ने धर्म बचाने के लिए कुर्बानी दी है। अम्मू ने आगे कहा कि यह हत्या सरेआम है। हत्या करते हुए वीडियो वायरल हो गए हैं। साक्ष्य सामने हैं और अब इस मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में होकर जल्द से जल्द फैसला आए और दोषियों को फांसी की सजा होने चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि प्रदेश सरकार पर उन्हें पूरा भरोसा है और मुख्यमंत्री ने अब तक उचित कदम उठाए हैं। अम्मू ने मुख्य आरेापित तौशीफ के परिवार वालों को भी निशाने पर लिया।

तिगांव से भाजपा विधायक राजेश नागर व फरीदाबाद क्षेत्र से विधायक नरेंद्र गुप्ता ने स्वजनों को सांत्वना देते हुए कहा कि दिनदहाड़े एक बेटी की हत्या होना बहुत ही कष्टकारी है। बेटियां सभी की सांझी विरासत होती हैं। यदि उन पर किसी भी प्रकार से आंच आएगी तो सरकार किसी का मुंह नहीं ताकेगी। इस घटना को लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल बेहद सजग और सतर्क है, जिसका प्रमाण है कि आरोपितों को पांच घंटे के अंदर पकड़ लिया गया। अब आरोपितों को दोषी ठहरवा कर जल्द से जल्द सजा दिलवाने का काम किया जाएगा। पलवल से विधायक दीपक मंगला ने परिजनों को आश्वासन दिया कि वह उन्हें जल्द न्याय दिलवाकर रहेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार और प्रशासन सभी को समय पर न्याय दिलाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। पूर्व उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने पीड़ित परिवार के घर जाकर उनसे मुलाकात की ओर सांत्वना दी। पूर्व मंत्री ने कहा कि निकिता पूरे देश की बेटी है। कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा ने भी दोषियों को कड़ी सजा देने की मांग की।

प्रदेश प्रवक्ता सुमित गौड़ व योगेश ढींगड़ा, कांग्रेस नेता ज्ञानचंद आहूजा, सुभाष कौशिक, मनोज अग्रवाल, बलजीत कौशिक, पूर्व उपमहापौर राजेंद्र भामला, जितेंद्र चंदेलिया, अशोक रावल, संजय सोलंकी, बाबूलाल रवि, रेनू चौहान भी सांत्वना देने पहुंचे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.