Aravali House Demolition Case: खोरी में अवैध निर्माण गिराने का विरोध तेज, हिरासत में लिए गए AAP नेता सुशील गुप्ता

Aravali House Demolition Case खोरी में अवैध निर्माण के विरोध में दिल्ली कूच करने की तैयारी कर रहे राज्यसभा सदस्य सुशील गुप्ता को थाना सराय ख्वाजा पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। वह खोरी से अपने समर्थकों के साथ लेकर बदरपुर बॉर्डर की ओर बढ़ रहे थे।

Jp YadavTue, 22 Jun 2021 11:00 AM (IST)
Aravali, Faridabad House Demolition: खोरी में अवैध निर्माण का विरोध में तेज, हिरासत में लिए गए राज्यसभा सदस्य सुशील गुप्ता

फरीदाबाद, जागरण संवाददाता। खोरी में अवैध निर्माण के विरोध में दिल्ली कूच करने की तैयारी कर रहे राज्य सभा सदस्य और आम आदमी पार्टी के नेता सुशील गुप्ता को थाना सराय ख्वाजा पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। वह खोरी से अपने समर्थकों और स्थानीय लोगों को साथ लेकर बदरपुर बार्डर की ओर बढ़ रहे थे। दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर काफी पुलिसबल तैनात कर दिया गया है।

उधर, सराय ख्वाजा थाना प्रभारी अशोक सैनी के अनुसार गुप्ता सहित अन्य लोगों को थाना सराय ख्वाजा में बिठाया हुआ है। बता दें सुप्रीम कोर्ट ने खोरी में अवैध निर्माण हटाने के आदेश दिए हैं। नगर निगम को छह हफ्ते के दौरान आदेश का पालन करना है। तभी से आम आदमी पार्टी अवैध निर्माण हटाने का विरोध कर रही है। राज्य सभा सदस्य सुशील गुप्ता यहां कई बार बैठक कर चुके हैं। भीड़ इकट्ठा कर कोरोना संक्रमण फैलाने के आरोप में पुलिस मुकदमा भी दर्ज कर सकती है।

प्रशासन ने तेज की कार्रवाई

वहीं, खोरी बस्ती में अतिक्रमण हटाने की दिशा में प्रशासन ने कार्रवाई तेज कर दी है। सोमवार को पुलिस ने फ्लैग मार्च कर संदेश दिया कि अतिक्रमण हटाने के दौरान किसी को कानून हाथ में नहीं लेने दिया जाएगा। फ्लैग मार्च की अध्यक्षता डीसीपी एनआइटी डा. अंशु सिंगला ने की। इस दौरान तीन डीसीपी, 14 एसीपी, 50 इंस्पेक्टर सहित तीन हजार पुलिसकर्मी मौजूद रहे।

डीसीपी ने बताया कि पिछले दिनों खोरी बस्ती में अतिक्रमणकारियों ने कानून व्यवस्था भंग करने की योजना बनाने के लिए सभा आयोजित की थी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर सभा करने वाले करीब एक दर्जन लोगों को जेल भेजा है। डीसीपी ने कहा कि पुलिस का ध्येय है कि अतिक्रमण हटाने के दौरान किसी तरह से कानून व्यवस्था भंग ना हो। अतिक्रमण सुप्रीम कोर्ट कोर्ट के आदेशानुसार नगर निगम द्वारा तोड़ा जाएगा। पुलिस की तरफ से नगर निगम के दस्ते को उचित सुरक्षा प्रदान की जाएगी। सुनिश्चित किया जाएगा कि कार्रवाई के दौरान किसी के द्वारा बाधा उत्पन्न न की जाए। अगर कोई ऐसा करता है तो पुलिस उससे सख्ती से निपटेगी। किसी को भी शांति व्यवस्था भंग नहीं करने दी जाएगी।

खोरी बस्ती से पलायन तेज

खोरी बस्ती में पुलिस की ओर से फ्लैग मार्च किए जाने के बाद अब अवैध निर्माण करने वालों ने अपने मकान और तेजी से खाली करने शुरू कर दिए हैं। सोमवार को बड़ी संख्या में लोग पलायन करते नजर आए। नगर निगम और पुलिस प्रशासन की ओर से यहां तोड़फोड़ की कार्रवाई को लेकर पहले ही मुनादी करा दी गई थी। सुप्रीम कोर्ट ने सात जून को नगर निगम को खोरी में अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई करके रिपोर्ट देने के आदेश दिए थे।

प्रशासन चाहता है कि लोग स्वयं ही अपने मकान खाली कर दें, ताकि तोड़फोड़ की कार्रवाई के दौरान लोगों को ज्यादा परेशानी न हो। सोमवार को यह भी जानकारी मिली कि लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक आवाज पहुंचाने को दिल्ली जाने की तैयारी में हैं। इस सुगबुगाहट के बाद पुलिस प्रशासन अलर्ट हो गया है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.