सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर खोरी बस्ती में जहां पर ढहाए गए थे अवैध निर्माण, वहां पर फिर से अतिक्रमण शुरू

अरावली क्षेत्र में बसी खोरी बस्ती में अवैध निर्माण ढहाने के बाद अब लोगों ने फिर से वहीं झुग्गियां बनानी शुरू कर दी हैं। पुरानी व नई खोरी में बड़ी संख्या में तिरपाल डाल कर लोग रहने लगे हैं।

Mangal YadavPublish:Mon, 27 Sep 2021 07:28 PM (IST) Updated:Mon, 27 Sep 2021 07:28 PM (IST)
सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर खोरी बस्ती में जहां पर ढहाए गए थे अवैध निर्माण, वहां पर फिर से अतिक्रमण शुरू
सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर खोरी बस्ती में जहां पर ढहाए गए थे अवैध निर्माण, वहां पर फिर से अतिक्रमण शुरू

फरीदाबाद [अनिल बेताब]। अरावली क्षेत्र में बसी खोरी बस्ती में अवैध निर्माण ढहाने के बाद अब लोगों ने फिर से वहीं झुग्गियां बनानी शुरू कर दी हैं। पुरानी व नई खोरी में बड़ी संख्या में तिरपाल डाल कर लोग रहने लगे हैं। कई लोग आर्थिक तंगी के चलते मजबूरी में वहां रह रहे हैं, तो बहुत से लोग ऐसे भी हैं, जिन्होंने आसपास के क्षेत्रों में किराये पर मकान लिए हुए है। दिन भर झुग्गी में रहते हँ और रात को किराये के मकान में चले जाते हैं। नगर निगम की ओर से अभी तक अतिक्रमण के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

अतिक्रमण करने वाले कई ऐसे लोग हैं, जिन्होंने पुनर्वास नीति के तहत नगर निगम में आवेदन किया हुआ है, मगर उन्हें मकान नहीं मिल पाया है। जब यहां नगर निगम ने कार्रवाई की थी, ताे पुलिस प्रशासन को भी कड़ी मशक्कत करनी पड़ी थी। लोगों के विरोध के बीच नगर निगम खोरी बस्ती से अवैध निर्माण को हटा पाया था। 

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर खोरी बस्ती में अवैध निर्माण ढहाए गए थे। शुरुआती दौर में लोगों ने तोड़फोड़ का विरोध किया था, मगर धीरे-धीरे नगर निगम ने पुरानी व नई खोरी के सभी अवैध निर्माण को ढहा दिया था। जिन लोगों ने यहां अवैध निर्माण किए हुए थे। उनमें से ही कई लोगों ने फिर से अतिक्रमण किया हुआ है।

सूरजकुंड, फरीदाबाद से खोरी में प्रवेश द्वार के आसपास के क्षेत्र के अलावा लालकुआं, दिल्ली से खोरी में आने वाले रास्ते पर भी कई झुग्गियां बन गई हैं। इस मामले में संयुक्त आयुक्त गौरव अंतिल ने कहा कि अवैध निर्माण के खिलाफ की गई कार्रवाई के बाद सी एंड डी (कंस्ट्रक्शन एंड डिमोलिशन) वेस्ट को खोरी बस्ती से उठवाया जा रहा है। वहां फिर से किए गए अतिक्रमण को भी हटाया जाएगा।