कोरोना के बढ़ते कदमों पर रोक को तैयारियों में जुटा स्वास्थ्य विभाग

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन की आहट और इन दिनों लगातार बढ़ते मामलों को देख स्वास्थ्य विभाग ने सतर्कता बरतनी शुरू कर दी है।

JagranPublish:Sat, 04 Dec 2021 06:40 PM (IST) Updated:Sat, 04 Dec 2021 06:40 PM (IST)
कोरोना के बढ़ते कदमों पर रोक को तैयारियों में जुटा स्वास्थ्य विभाग
कोरोना के बढ़ते कदमों पर रोक को तैयारियों में जुटा स्वास्थ्य विभाग

जागरण संवाददाता, फरीदाबाद : कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन की आहट और इन दिनों लगातार बढ़ते मामलों को देख स्वास्थ्य विभाग ने सतर्कता बरतनी शुरू कर दी है। इसके तहत अस्पताल प्रबंधन संक्रमितों के लिए अधिक संसाधन जुटाने में लगा हुआ है, ताकि लोगों को दूसरी लहर के दौरान हुई परेशानियों को दोबारा से नहीं करना पड़े। अस्पताल प्रबंधन का दावा है कि उनके पास 43 वेंटिलेटर उपलब्ध हैं। इसके अलावा एक हजार लीटर और 200 लीटर प्रति मिनट आक्सीजन उत्पादन करने वाले प्लांट भी उपलब्ध हैं।

उल्लेखनीय है कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान आक्सीजन एवं वेंटिलेटर के लिए मरीजों एवं तीमारदारों को काफी परेशान होना पड़ा था। पुरानी बातों से सबक लेते हुए जिला नागरिक बादशाह अस्पताल प्रबंधन ने समुचित उपचार व्यवस्था की अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसके तहत 100 बेड का अस्थायी अस्पताल बनाया गया है। फिलहाल इस अस्पताल में अन्य बीमारियों के मरीजों को भर्ती किया जा रहा है। इसके अलावा यदि संक्रमण पिछली लहर की तुलना में अधिक तेजी से फैलता है, तो पूरे नागरिक अस्पताल को कोरोना संक्रमितों के लिए आरक्षित किया जा सकता है। नागरिक अस्पताल प्रबंधन ने सभी 200 बेड पर आक्सीजन प्वाइंट भी लगा दिए हैं।

--------

एनेथेटिस्ट को दिया गया है प्रशिक्षण

नागरिक अस्पताल प्रबंधन की ओर से वेंटिलेंटर को चलाने के लिए सभी एनेथेटिस्ट को प्रशिक्षण दिया गया है। इसके अलावा संक्रमितों के इलाज के लिए सभी चिकित्सकों को भी प्रशिक्षण दिया जा चुका है। आक्सीजन प्लांट के अलावा नागरिक अस्पताल में 128 कंसंट्रेटर भी उपलब्ध हैं। यदि आक्सीजन की कमी होती है, तो इनका इस्तेमाल किया जाएगा।

---------

हमारे पास 43 वेंटिलेटर के अलावा 27 बाईपेप और चार सीपेप भी उपलब्ध हैं। छह-छह वेंटिलेटर के दो वार्ड तैयार हैं। आवश्यकता के अनुसार वेंटिलेटर की संख्या बढ़ाई जाएगी। स्टाफ को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। एक हजार लीटर क्षमता वाले प्लांट से सिलेंडर भी रिफिल किए जा सकेंगे। रिफिलिग के जल्द ही सब स्टेशन इंस्टाल किया जाएगा।

- डा. सविता यादव, प्रधान चिकित्सा अधिकारी, जिला नागरिक बादशाह खान अस्पताल।