गड़बड़झाला : सेक्टरों में नक्शे से हटकर हो रहे हैं धड़ल्ले से निर्माण

हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के सेक्टरों में नक्शे से हटकर किए जा रहे निर्माणों की शिकायत मुख्यमंत्री सहित राज्य चौकसी ब्यूरो के महानिदेशक जिला उपायुक्त और प्राधिकरण की प्रशासक को भेजी गई है।

JagranPublish:Mon, 29 Nov 2021 06:13 PM (IST) Updated:Mon, 29 Nov 2021 06:13 PM (IST)
गड़बड़झाला : सेक्टरों में नक्शे से 
हटकर हो रहे हैं धड़ल्ले से निर्माण
गड़बड़झाला : सेक्टरों में नक्शे से हटकर हो रहे हैं धड़ल्ले से निर्माण

जागरण संवाददाता, फरीदाबाद : हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के सेक्टरों में नक्शे से हटकर किए जा रहे निर्माणों की शिकायत मुख्यमंत्री सहित राज्य चौकसी ब्यूरो के महानिदेशक, जिला उपायुक्त और प्राधिकरण की प्रशासक को भेजी गई है। शिकायत में इन निर्माणों से राजस्व को हो रहे नुकसान और अधिकारियों की मिलीभगत के बारे में भी बताया गया है। शिकायतकर्ता विष्णु गोयल ने शिकायत में बताया है कि दो साल पहले अप्रैल में नक्शे से हटकर हो रहे निर्माण की शिकायत राज्य चौकसी ब्यूरो हरियाणा के महानिदेशक से की गई थी। महानिदेशक की ओर से प्रदेश के मुख्य सचिव को पत्र भेजकर इस मामले की जांच विभागीय विजिलेंस से कराने को कहा गया था। इसके बाद में जांच आगे न बढ़ सकी। इस मामले में कई अधिकारियों की मिलीभगत भी सामने आई थी। गोयल के अनुसार सेक्टर-21सी,45, 46, 16, 56 सहित अन्य सेक्टरों में नक्शे से हटकर फ्लैटों का निर्माण किया जा रहा है। इतना ही नहीं निर्माणाधीन इमारत को भी कंपलीशन दिया जा रहा है। यदि हाल ही में जारी किए गए कुछ कंपलीशन की जांच कर ली जाए तो सच्चाई सामने आ जाएगी। कंपलीशन लेने के बाद मकान मालिक मनमर्जी से निर्माण करता है। सरकार द्वारा चार मंजिला फ्लैट निर्माण को मंजूरी देने के बाद यहां अवैध निर्माण की बाढ़ आ गई है। चार मंजिला इमारत बनाने से पहले पार्किग होना जरूरी है, लेकिन ऐसा नहीं किया जा रहा है। प्राधिकरण की ओर से कोई कार्रवाई नहीं होने की वजह से इस तरह की गड़बड़ी विकराल रूप ले रही है। गोयल ने बताया कि उन्होंने कई बार प्राधिकरण के अधिकारियों को शिकायत भेजी है, लेकिन कार्रवाई आगे नहीं बढ़ सकी।

---

अभी मेरे पास इस तरह की शिकायत नहीं आई है। लेकिन यदि ऐसा कुछ है तो जांच कराई जाएगी। कुछ कंपलीशन की जांच करा लेंगे। अवैध निर्माण की जांच के लिए सर्वे शाखा के अधिकारियों को कहा जाएगा।

- मोनिका गुप्ता, प्रशासक, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण।