समाज में अंतिम पंक्ति में खड़े व्यक्ति तक पहुंचेगा योजनाओं का लाभ : मूलचंद शर्मा

प्रदेश के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि समाज में अंतिम पंक्ति में खड़े जरूरतमंद व्यक्ति तक सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाकर उसे समाज की मुख्य धारा में लाने का कार्य किया जा रहा है।

JagranMon, 29 Nov 2021 06:05 PM (IST)
समाज में अंतिम पंक्ति में खड़े व्यक्ति तक पहुंचेगा योजनाओं का लाभ : मूलचंद शर्मा

जागरण संवाददाता, फरीदाबाद : प्रदेश के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि समाज में अंतिम पंक्ति में खड़े जरूरतमंद व्यक्ति तक सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाकर उसे समाज की मुख्य धारा में लाने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आम जनता के हित को ध्यान में रखकर योजनाएं बनाई जा रही हैं। लोगों को जरूरत के अनुसार रोजगार मुहैया करवाया जा रहा है। मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना भी अंत्योदय से जुड़ी इसी योजना का एक हिस्सा है। परिवहन मंत्री सोमवार को सेक्टर-12 खेल परिसर में आयोजित मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान मेले का उद्घाटन के दौरान लोगों को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान ओलंपियन नीरज चोपड़ा ने भी सभी का उत्साहवर्धन किया। मेले में शहरी क्षेत्र के पांच जोन, 18 विभागों व सात बैंकों द्वारा अपने-अपने स्टाल लगाए गए। मंगलवार को भी मेले का आयोजन होगा। इस अवसर पर बड़खल की विधायक सीमा त्रिखा ने कहा कि मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार कल्याण योजना एक महत्वपूर्ण योजना है और इससे जरूरतमंदों को लाभ मिल रहा है। तिगांव के विधायक राजेश नागर ने इस तरह के मेलों को बेहतरीन बताया। उन्होंने कहा कि कोई व्यक्ति अगर अपना छोटा रोजगार शुरू करना चाहे तो इस तरह के मेले उसके लिए महत्वपूर्ण साबित होते हैं। फरीदाबाद के विधायक नरेंद्र गुप्ता ने कहा कि इस तरह की पहल के जरिए हम समाज के सभी लोगों को मुख्य धारा से जोड़ सकते हैं। पृथला के विधायक नयन पाल रावत ने बेहतरीन आयोजन के लिए प्रशासन को बधाई दी। इस अवसर पर एनआइटी से विधायक नीरज शर्मा, मेले के नोडल अधिकारी एवं मंडलायुक्त संजय जून, उपायुक्त जितेंद्र यादव, अतिरिक्त उपायुक्त सतबीर मान, एसडीएम फरीदाबाद परमजीत सिंह चहल, एसडीएम बल्लभगढ़ त्रिलोक चंद, एसडीएम बड़खल पंकज सेतिया, नगराधीश पुलकित मल्होत्रा मौजूद थे।

कम लोग पहुंचे

मेले के बारे में लोगों को जागरूक करने में प्रचार-प्रसार की कमी साफ तौर पर दिखाई दी। खेल परिसर में सभी स्टाल में विभागों के अधिकारी व कर्मचारी खूब थे, लेकिन यहां जिन्होंने रजिस्ट्रेशन कराया था, वे काफी कम पहुंचे। जो लोग पहुंचे, उनकी समझ में सिस्टम नहीं आया। अधिकतर लोग रोजगार के लिए आए थे। कुछ लोन दिलाने की मांग कर रहे थे। जबकि विभागीय अधिकारी उन्हें सरकारी स्कीमों के बारे में समझा रहे थे।

---------

मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान मेले में मैंने 255 लोगों की लिस्ट देखी, उनमें 57 ऐसे नाम शामिल थे जोकि उनके विधानसभा से थे ही नहीं। लिस्ट में ऐसे भी लोगों के नाम देखें जिनकी महीने की तनख्वाह करीब एक लाख या उससे भी अधिक है। ऐसे कई व्यक्ति हैं जो दिव्यांग हैं या सच में जिनको इस योजना का लाभ मिलना चाहिए, उनका नाम इस लिस्ट में है ही नहीं। लिस्ट में ज्यादातर सिफारिश में आये नाम शामिल किए गए हैं। यह मेला मात्र लोगों की आंखों में धूल झोकने के लिए आनन-फानन में रखा गया है। इससे अंतिम छोर के व्यक्ति को असल में मदद मिलनी चाहिए थी, लेकिन ऐसे लोगों को शामिल ही नहीं किया गया है।

- नीरज शर्मा, विधायक एनआइटी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.