नौकरी पाने को उमड़ी युवाओं की भीड़, 400 हुए चयनित

मौके पर काफी युवा ऐसे थे जिनकी नौकरी पिछले व इस साल कोरोना महामारी में चली गई। कई युवाओं ने बताया कि उनका अच्छा-खासा कारोबार चल रहा था लेकिन अब कुछ नहीं रहा। इस वजह से अब वे नौकरी के लिए दर-दर की ठोकर खाने को मजबूर हैं। इनमें एमए एमबीए बीटेक बीएड तक पास युवा भी थे।

JagranSun, 26 Sep 2021 08:11 PM (IST)
नौकरी पाने को उमड़ी युवाओं की भीड़, 400 हुए चयनित

जागरण संवाददाता, फरीदाबाद: दोपहर के 12 बजे हैं। हुडा कन्वेंशन हाल, सेक्टर-12 के अंदर व बाहर युवक-युवतियों की चहल-पहल है। किसी के हाथ में दस्तावेज का फोल्डर है तो किसी के हाथ में पालीथिन बैग। इंटरव्यू देकर कोई खुशी-खुशी तेज कदमों से चलता बाहर आ रहा है तो कोई विचारमग्न मुद्रा में पेड़ के नीचे खड़ा है। कुछ ऐसे ²श्य नजर आए रविवार को रोजगार मेले के दौरान। एक अदद नौकरी पाने की तलाश के साथ बड़ी संख्या में युवक-युवतियां दूरदराज से भी आए हुए थे। कई तो सुबह आठ बजे ही आ गए थे। भूखे-प्यासे युवाओं को बस नौकरी की तलाश व पाने की आस थी। इसके लिए बने विभिन्न कंपनियों व औद्योगिक इकाईयों के काउंटर पर अपना आवेदन देने की खूब मारामारी थी। कोरोना काल में कई हुए बेरोजगार

मौके पर काफी युवा ऐसे थे जिनकी नौकरी पिछले व इस साल कोरोना महामारी में चली गई। कई युवाओं ने बताया कि उनका अच्छा-खासा कारोबार चल रहा था, लेकिन अब कुछ नहीं रहा। इस वजह से अब वे नौकरी के लिए दर-दर की ठोकर खाने को मजबूर हैं। इनमें एमए, एमबीए, बीटेक, बीएड तक पास युवा भी थे। 2200 ने कराया रजिस्ट्रेशन

रोजगार मेले का आयोजन हरियाणा कौशल विकास मिशन द्वारा किया गया था। इसमें 2200 युवाओं ने सुबह 10 से दोपहर 1 बजे तक रजिस्ट्रेशन कराया। इस अवसर पर 25 उद्योगों से प्रतिनिधि आए हुए थे। इस दौरान मुख्य अतिथि केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर, हरियाणा के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा, विधायक नरेंद्र गुप्ता पहुंचे।

हरियाणा कौशल विकास मिशन के निदेशक अनंत प्रकाश पांडे की देखरेख में आयोजित रोजगार मेले में चीफ स्किल डेवलपमेंट आफिसर दीपक शर्मा, कौशल विकास विभाग की एचएसडीडी पूनम श्योरान व्यवस्था संभालते नजर आए। हरियाणा कौशल विकास मिशन की परियोजना प्रबंधक अधिकारी नेहा छाबड़ा के अनुसार करीब 400 युवाओं का नौकरी के लिए चयन किया गया है। प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत भी किया गया

इस अवसर पर कौशल विकास की प्रतियोगिता में भाग लेने वाले युवाओं को पुरस्कृत भी किया गया। इनमें जिला स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली 23 टीमों को 11,000 रुपये और द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाली 20 टीमों में से प्रत्येक को 5100 रुपये की धनराशि के चेक दिए गए। इन टीमों ने आटोमोबाइल, ब्यूटी पार्लर, मोबाइल से जुड़ी स्पर्धा में भाग लिया।

सुबह नौ बजे यहां आ गए थे। एक उद्योग में नौकरी के लिए दस्तावेज दे दिए हैं। मैंने फैशन डिजाइनिग, एनटीटी कोर्स किया हुआ है। अब नौकरी मिल जाए तो राहत मिलेगी।

- आरती, पलवल, न्यू कालोनी बीए और फैशन डिजाइनिग का कोर्स किया है। कहीं से पता लगा कि यहां रोजगार मेला लगा है, इसलिए सुबह ही आ गए थे। छह माह से नौकरी तलाश कर रही हूं।

- पिकेश, पलवल एमए, बीएड किया है। शादी हो चुकी है। एक बेटा है। दो साल से नौकरी ढूंढ रही हूं, लेकिन अभी तक सफलता नहीं मिली है। यहां नौकरी मिल जाएगी, इसी उम्मीद से आई थी। लेकिन यहां तो सैकड़ों पहले से ही लाइन में लगे हैं।

- सुदेश, सेक्टर-56 2016 में बीटेक किया था। अप्रैल में कोरोना की वजह से नौकरी चली गई। यहां किराये पर रहता हूं। परिवार का गुजारा करना मुश्किल हो रहा है। रोज घर से नौकरी की तलाश में इधर-उधर भटकता हूं

- कमलेश कुमार, सेक्टर-6 कैसी भी हो बस नौकरी चाहिए। घर का गुजारा करना मुश्किल हो रहा है। मकान का किराया, बच्चों की पढ़ाई और बुजुर्ग माता-पिता की दवा के लिए पैसों का इंतजाम करने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है। सुबह नौ बजे से यहां आए हैं, लेकिन अभी तक नंबर नहीं आया है। भीड़ बहुत है, इसलिए नौकरी की बेहद कम उम्मीद है।

- बलदेव राज, सेक्टर-31 एक निजी स्कूल में अकाउंटेंट था। बाद में अपना बिजनेस भी किया, नहीं चला तो नोएडा में नौकरी की। अब सात महीने से घर पर खाली बैठा हूं। किराये पर रहते हैं, इसलिए और मुश्किल बढ़ गई है।

- धीरज, सेक्टर-46

देश में रोजगार की कमी नहीं रहेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार युवाओं के हर हाथ को रोजगार देने के संकल्प के साथ कार्य कर रही है। केंद्र सरकार ने इसके लिए अलग से स्किल डेवलपमेंट विभाग बनाया है, जिसमें हुनरमंद युवाओं को स्वरोजगार स्थापित करने के लिए हजारों करोड़ रुपये की धनराशि ऋण के रूप देने का काम किया है, ताकि देश युवा रोजगार देने वाले बनें। हमारी बेरोजगार युवाओं से अपील है कि स्वरोजगार के लिए प्रेरित हों। देश की पहली स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी पलवल में बनाई गई है। वहां कौशल के आधार पर युवाओं को रोजगार भी मुहैया करवाया जा रहा है। इस मेगा रोजगार मेले में 23 कंपनी आई है, जिनके जरिए चयनित युवाओं को रोजगार दिया जाएगा।

-कृष्णपाल गुर्जर, केंद्रीय राज्य मंत्री

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.