औद्योगिक नगरी को इंदौर बनाने की मुहिम हुई शुरू

नगर निगम के मेगा स्वच्छता अभियान के तहत रविवार को शहर में मेगा सफाई अभियान चलाया गया।

JagranSun, 05 Dec 2021 08:28 PM (IST)
औद्योगिक नगरी को इंदौर बनाने की मुहिम हुई शुरू

जागरण संवाददाता, फरीदाबाद : नगर निगम के मेगा स्वच्छता अभियान के तहत रविवार को शहर का नजारा कुछ अलग ही था। चौक-चौराहों पर सफाई कर्मी सफाई अभियान में जुटे थे। गंदगी से अटे पड़े नाले साफ होते नजर आए। ग्रीन बेल्ट को अतिक्रमण से मुक्त कराने का कार्यक्रम चला, तो आमतौर पर कार्य दिवस वाले दिन भी गायब रहने वाले स्वच्छता सैनिक गली-मोहल्लों में पूरे संसाधनों के साथ दिखाई दिए। दूसरी ओर नगर निगम की अलग-अलग टीमें अतिक्रमण के खिलाफ लोगों को जागरूक करती दिखीं।

रविवार सुबह की शुरुआत औद्योगिक नगरी एनआइटी के प्रवेश द्वार नीलम चौक से हुई, जहां शहर को सुंदर बनाने की दिशा में नगर निगम आयुक्त यशपाल यादव की ओर से बढ़ाए गए कदम के साथ सामाजिक संगठन और मास्टर ट्रेनर भी कदम मिलाते हुए नजर आए। निगमायुक्त सुबह 8:30 बजे ही इंजीनियरिग शाखा की टीम के साथ नीलम चौक पर आ गए थे। यहां उन्हें फरीदाबाद इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के प्रधान बीआर भाटिया, ईको सवेरा की संयोजक मृणालिनी गुप्ता सहित अन्य सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों का साथ मिला। बीआर भाटिया ने कहा कि पहली बार इस तरह का प्रयास होता दिख रहा है और यह अभियान रंग लाएगा। सभी सहयोग करें।

निगमायुक्त ने नारियल फोड़ कर स्वच्छता अभियान का आगाज किया और जुड़ी टीम को बड़खल क्षेत्र के वार्ड नंबर 11, 12, 14 तथा 15 के विभिन्न क्षेत्रों के लिए रवाना किया। निगमायुक्त स्वयं भी अधीनस्थ अधिकारियों संग अभियान का निरीक्षण करने शहर के विभिन्न हिस्सों में पहुंचे। अभियान के तहत शहर के विभिन्न पार्कों में सफाई कर लोग स्वच्छता का संदेश देते नजर आए। इस अभियान के तहत शहर से करीब 260 टन कचरा बाहर किया गया। स्वच्छता अभियान में मिशन जागृति के अध्यक्ष प्रवेश मलिक, राजेश कुमार भूटिया, प्रक्रुथी से अध्यक्षा रमा सरना, ऊषा किरण, किरन शर्मा, मोनिका, नीरज, ऊषा शर्मा, वंदना कलसी, महासचिव सुरेन्द्र जग्गा, विवेक सरना, पुष्पेंद्र, मास्टर ट्रेनर उमेश अरोड़ा तथा एकता रमन ने सहयोग किया। निगमायुक्त ने इंदौर जैसा शहर बनाने में सभी का मांगा सहयोग

निगमायुक्त यशपाल यादव ने दोपहर बाद निगम के कान्फ्रेंस हाल में पत्रकार वार्ता में कहा कि शहर को इंदौर की तरह स्वच्छ बनाने में हरजन का सहयोग जरूरी है। यह अभियान उसी दिशा में बढ़ाया गया कदम है। प्रयास किया जाएगा कि डेढ़ महीने में सभी 40 वार्डों में अभियान को पूरा कर लिया जाए। किसी भी नाले या सड़क पर अतिक्रमण को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल औद्योगिक नगरी को साफ देखना चाहते हैं और उन्हें केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर, परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा सहित सभी विधायकों सीमा त्रिखा, नरेंद्र गुप्ता, राजेश नागर, नीरज शर्मा, नयनपाल रावत का पूरा सहयोग मिल रहा है। उन्होंने जनप्रतिनिधियों का आभार भी प्रकट किया। यहां बता दें कि दैनिक जागरण ने स्वच्छता रैंकिग में फिसड्डी आने पर हमारा शहर इंदौर क्यों नहीं कैच वर्ड के साथ समाचारीय अभियान भी चलाया था, जिसमें विभिन्न बिदुओं की पड़ताल की गई थी। तब निगमायुक्त ने आश्वासन दिया था कि इस बारे में सामूहिक प्रयास किए जाएंगे। खुद अतिक्रमण हटाने को आगे आए लोग

नगर निगम की टीमों ने एक-दो नंबर चौक, हार्डवेयर चौक से शहीद बाबा दीप सिंह चौक के नाले से अतिक्रमण हटाया। दो नंबर मार्केट में कई जगह जमा मलबे को उठाया गया। निगम के सफाई कर्मी विभिन्न क्षेत्रों में सफाई करते दिखे। ऐसे ही पांच नंबर शिवाजी पार्क के बाहर भी दिन भर सफाई चलती रही। निगम के इस अभियान के दौरान कई जगह लोग स्वयं ही अतिक्रमण हटाने को आगे आए। यह मुहिम बेहद बड़े पैमाने पर और बहुत ही सुनियोजित तरीके से शुरू की गई है। मैं इससे जुड़े हुए हर शहरवासी को धन्यवाद देना चाहती हूं। स्वच्छता का संदेश बेहद स्पष्ट गया है कि अब बदलाव आएगा और जरूर आएगा और सब के सहयोग से आएगा। यह संदेश पूरे शहर तक पहुंचाना बहुत जरूरी भी था। इससे लोगों का नगर निगम पर विश्वास बढ़ेगा। और लोग भी इस अभियान से जुड़ेंगे।

-मृणालिनी गुप्ता, संस्थापक, ईको सवेरा। निगमायुक्त यशपाल यादव ने जिस तरह से अभियान को गति दी है, उससे लगता है कि हम आने वाले दिनों में स्वच्छता के मामले में नंबर वन होंगे। व्यापारी भाई इस अभियान में पूरा सहयोग करेंगे।

-राम जुनेजा, प्रधान, भारतीय उद्योग व्यापार मंडल। हम सबको नगर निगम के साथ मिल कर काम करना चाहिए, तभी शहर सुंदर बन पाएगा।

-अर्चना गुप्ता, ग्रेटर फरीदाबाद। हमें समझना चाहिए कि स्वच्छता है, तो स्वास्थ्य है। सभी सहयोग करें, तो इंदौर जैसे नंबर एक पर आएंगे।

-मंजू गुलाटी हम सफाई के मामले में सिर्फ नगर निगम कर्मचारी पर निर्भर न रहें। खुद भी जिम्मेदारी समझें।

-राकेश भाटिया। शहर को स्वच्छता में नंबर वन बनाना है, तो हर नागरिक को आगे तो आना पड़ेगा। हम नगर निगम का साथ दें।

-संजीव ग्रोवर। हर वार्ड में यह अभियान चलाया जाना है। वार्ड कमेटी के सभी सदस्य इस अभियान को सफल बनाने में जुटे हैं।

-दीपा भाटिया। देश और समाज के प्रति सबको अपनी-अपनी जिम्मेदारी निभानी होगी, तभी हम स्वच्छता के मामले में आगे बढ़ पाएंगे।

-सपना सूरी। बहुत से लोग इधर-उधर कचरा फैला देते हैं। हमें अपनी आदत में सुधार करना होगा। इस अभियान में हम निगमायुक्त के साथ हैं।

-आलोक कुमार। हम स्वच्छता अभियान में नगर निगम का साथ दे रहे हैं। लोग जागरूक होंगे, तो हम स्वच्छता रैंकिग में भी अव्वल होंगे।

-प्रमोद मिनोचा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.