एसडीएम ने संभाला दादरी नगर परिषद प्रशासक का कार्यभार, चल रहे विकास कार्यों की ली जानकारी

सचिन गुप्ता चरखी दादरी दादरी नगर परिषद के चेयरमैन वाइस चेयरमैन व पार्षदों का कार्यकाल पू

JagranTue, 22 Jun 2021 09:14 AM (IST)
एसडीएम ने संभाला दादरी नगर परिषद प्रशासक का कार्यभार, चल रहे विकास कार्यों की ली जानकारी

सचिन गुप्ता, चरखी दादरी

दादरी नगर परिषद के चेयरमैन, वाइस चेयरमैन व पार्षदों का कार्यकाल पूरा होने पर सरकार के निर्देशानुसार सोमवार को एसडीएम डा. विरेंद्र सिंह ने नगर परिषद प्रशासक का कार्यभार संभाल लिया है। सोमवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे एसडीएम डा. विरेंद्र सिंह नगर परिषद कार्यालय में पहुंचे। यहां पर नगर परिषद सचिव प्रशांत पराशर व अन्य कर्मचारियों ने एसडीएम का स्वागत किया। इनके साथ ही नगर परिषद के निवर्तमान वाइस चेयरमैन दीपक श्योराण, निवर्तमान पार्षद विरेंद्र पप्पू, विनोद वाल्मिकी, रोहित राजपूत, प्रतिनिधि सतबीर चौहान, प्रवीन सैनी, विरेंद्र सांगवान चरखी इत्यादि ने भी बुके भेंट कर एसडीएम का स्वागत किया। बतौर प्रशासक कार्यभार संभालने के बाद एसडीएम डा. विरेंद्र सिंह ने नगर परिषद अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ बैठक कर नप स्टाफ व विकास कार्यों की जानकारी ली। इस दौरान नगर परिषद चेयरमैन की कार को भी एसडीएम कार्यालय में खड़ा करवा दिया गया। वहीं नगर परिषद में चेयरमैन के कार्यालय के बाहर लगी नेम प्लेट को भी हटा दिया गया। गौरतलब है कि दादरी नगर परिषद के निवर्तमान चेयरमैन, वाइस चेयरमैन व पार्षदों की पहली बैठक 21 जून 2016 को आयोजित की गई थी। म्युनिसिपल एक्ट के अनुसार पहली बैठक से लेकर पांच वर्ष पूरे होने पर गत 20 जून को चेयरमैन, वाइस चेयरमैन व पार्षदों का कार्यकाल पूरा हो गया था। तीन योजनाओं में पांच बार नियुक्त हो चुके प्रशासक

बता दें कि 23 मई 2005 को मोतीलाल बिदल दादरी नगर पालिका के चेयरमैन बने थे। उनके निलंबित होने पर तीन जनवरी 2008 से लेकर 13 फरवरी 2008 तक तत्कालीन एसडीएम सतबीर सिंह लोहचब को नगर पालिका प्रशासक का कार्यभार दिया गया था। बाद में 14 फरवरी 2008 से एक अप्रैल 2008 तक मोतीलाल बिदल फिर से चेयरमैन बने। लेकिन एक बार फिर तत्कालीन एसडीएम सतबीर सिंह लोहचब चार अप्रैल 2008 से छह जून 2008 तक नप के प्रशासक रहे। दोबारा फिर से करीब तीन महीने के लिए मोतीलाल बिदल नप चेयरमैन बने। उसके बाद 9 सितंबर 2008 से 18 मार्च 2009 तक तत्कालीन एसडीएम सतबीर सिंह लोहचब तथा 23 मार्च 2009 से सात जुलाई 2009 तक तत्कालीन एसडीएम गिरिश अरोड़ा नगर पालिका दादरी के प्रशासक रहे। उनके बाद आठ जुलाई 2009 से 25 अप्रैल 2010 तक अजीत सिंह फौगाट दादरी नप के चेयरमैन बने। वर्ष 2010 में अगली योजना के चुनाव में चंद्रकला मकड़ानिया दादरी नगर पालिका की चेयरपर्सन बनीं। वे इस पद पर 14 जुलाई 2010 से 31 मई 2015 तक रही। इसी बीच दादरी नगर पालिका को परिषद का दर्जा दिया गया। मकड़ानियां का कार्यकाल पूरा होने के बाद समय पर चुनाव न होने से दादरी के तत्कालीन एसडीएम विजेंद्र हुड्डा एक जून 2015 से 18 जुलाई 2016 तक दादरी नगर परिषद के प्रशासक रहे। अगली योजना में 18 जुलाई 2016 को संजय छपारिया दादरी नगर परिषद के चेयरमैन चुने गए। अब 20 जून को उनका कार्यकाल पूरा होने पर दादरी के एसडीएम डा. विरेंद्र सिंह को नगर परिषद प्रशासक का कार्यभार दिया गया है। सुचारू रहेंगे कार्य : एसडीएम

नप प्रशासक का कार्यभार संभालने के बाद एसडीएम डा. विरेंद्र सिंह ने कहा कि सबसे पहले नप के लंबित कार्यों को निपटाया जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि लोगों को किसी भी प्रकार की परेशानी है तो वे पहले की तरह ही नगर परिषद कार्यालय में आकर बता सकते हैं। रूटीन के सभी कार्य पहले की तरह सुचारू रहेंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.