10 वर्ष पुरानी रंजिश के चलते गांव साहुवास के निवर्तमान सरपंच संदीप की थी हत्या

गांव साहूवास के निवर्तमान सरपंच संदीप की हत्या करीब 10 वर्ष पु

JagranMon, 14 Jun 2021 08:48 PM (IST)
10 वर्ष पुरानी रंजिश के चलते गांव साहुवास के निवर्तमान सरपंच संदीप की थी हत्या

जागरण संवाददाता, चरखी दादरी : गांव साहूवास के निवर्तमान सरपंच संदीप की हत्या करीब 10 वर्ष पुरानी रंजिश के चलते ही की गई थी। पुलिस ने मृतक संदीप के पिता प्रीत सिंह के बयान के आधार पर पांच युवकों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। रविवार को दादरी के सरकारी अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम करवाया गया। इस दौरान काफी संख्या में पुलिसकर्मी भी अस्पताल परिसर में तैनात रहे।

गौरतलब है कि गांव साहूवास का निवर्तमान सरपंच संदीप शनिवार सुबह कपूरी पहाड़ी धाम पर गया हुआ था। शनिवार दोपहर करीब दो बजे बाइक पर सवार होकर आए अज्ञात बदमाशों ने धाम में ही संदीप पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाकर हत्या कर दी थी। घटना की जानकारी पाकर डीएसपी बली सिंह के नेतृत्व में पुलिस की विभिन्न टीमें मौके पर पहुंची थी। सीन आफ क्राइम टीम द्वारा जांच के बाद शनिवार शाम को शव को पोस्टमार्टम के लिए दादरी के सरकारी अस्पताल में रखवाया गया था। रविवार सुबह एक्स-रे होने के बाद शव का पोस्टमार्टम करवाया गया। 10 साल से चल रही है रंजिश

जानकारी के अनुसार गांव साहूवास निवासी सतेंद्र उर्फ काला ने वर्ष 2011 में अपने साथियों के साथ मिलकर शराब ठेकेदार संदीप कासनी की गोली मारकर हत्या कर दी थी। जिसके बाद संदीप कासनी के भाई प्रदीप कासनी ने अपने भाई की मौत का बदला लेने की ठानी। इसी के चलते उसने अपने साथियों के साथ मिलकर अगस्त 2016 में गांव ढाणी फौगाट निवासी खिलावचंद की हत्या की थी। गांव ढाणी फौगाट निवासी खिलावचंद गांव साहूवास निवासी सतेंद्र उर्फ काला का करीबी था। उसके करीब पांच माह बाद ही जनवरी 2017 में प्रदीप ने पवन बौंद, सतीश दुबलधन व लक्की दादरी के साथ मिलकर गांव साहूवास निवासी सतेंद्र उर्फ काला की घर में घुसकर गोलियां मारकर हत्या कर दी थी। अब शनिवार को गांव साहूवास निवासी सतेंद्र उर्फ काला के छोटे भाई गांव के निवर्तमान सरपंच संदीप की गोलियां मारकर हत्या कर दी गई। मृतक संदीप के पिता प्रीत सिंह ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि उसके परिवार की प्रदीप कासनी के साथ रंजिश चल रही है। यहां यह भी उल्लेखनीय है कि काला हत्याकांड मामले में प्रदीप कासनी, सतीश दुबलधन व पवन बौंद फिलहाल जेल में बंद हैं। स्वजनों के बयान पर मामला दर्ज : एसएचओ

झोझू कलां थाना प्रभारी दिलबाग सिंह ने बताया कि मृतक निवर्तमान सरपंच संदीप के पिता प्रीत सिंह के बयान के आधार पर प्रदीप कासनी, सतीश दुबलधन व पवन बौंद पर हत्या की साजिश रचने तथा गांव कासनी निवासी प्रवीण मांढू व गांव फतेहगढ़ निवासी अमित पर कपूरी पहाड़ी धाम में आकर गोलियां चलाकर संदीप की हत्या करने का मामला दर्ज कर लिया है। गांव कासनी निवासी प्रवीण उर्फ मांढू वर्ष 2016 में गांव ढाणी फौगाट में हुए खिलावचंद हत्याकांड मामले में जेल में था। फिलहाल वह पेरोल पर बाहर आया हुआ था। गिरफ्तारी के लिए टीमें गठित : डीएसपी

दादरी के सरकारी अस्पताल में पहुंचे डीएसपी बली सिंह ने बताया कि मृतक के स्वजनों के बयान के आधार पर विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें गठित कर दी गई है। पुलिस द्वारा मामले में गंभीरता से कार्रवाई की जा रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.