किसानों के समर्थन में उतरीं खाप, महापंचायत आज

किसानों के समर्थन में उतरीं खाप, महापंचायत आज

जागरण संवाददाता भिवानी किसानों के आंदोलन में हर कोई भागीदारी के लिए आगे आ रहा है।

Publish Date:Tue, 01 Dec 2020 05:10 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, भिवानी:

किसानों के आंदोलन में हर कोई भागीदारी के लिए आगे आ रहा है। खापों ने किसानों के आंदोलन का समर्थन करते हुए पूरी तरह उनके साथ खड़े होने का मन बना लिया है। श्योराण खाप 84 ने मंगलवार को लोहारू के शहीद किसान महावीर भवन में महापंचायत बुलाई है। इस पंचायत में आंदोलन को लेकर चर्चा होगी। साथ ही अखिल भारतीय कालीरामण खाप ने भी पूर्ण रूप से आंदोलन का समर्थन किया। मुंढाल से किसानों ने कूच कर दिल्ली में भागीदारी भी की।

भिवानी से गए किसान भी प्रदर्शन कर मांगों के समर्थन में लगे हैं। इसके साथ किसान संगठन और गांव से किसानों से इस प्रदर्शन में भाग लेने का मन बना लिया है। खापों के आगे आने के साथ इस आंदोलन में किसानों की भागीदारी भी बढ़ेगी। किसानों की आवाज दबाना चाहती है सरकार: जोगिद्र जागरण संवाददाता, भिवानी:

आंदोलन में हरियाणा के किसानों की भागीदारी बढ़ रही है। खापों ने एलान किया कि वे किसान आंदोलन को समर्थन करती हैं और दिल्ली कूच करेंगी। सोमवार को किसान नेता जोगेंद्र तालु की अध्यक्षता में किसानों का जत्था मुंढाल चौक से दिल्ली के रवाना हुआ। किसान नेता जोगेंद्र तालु ने बताया कि तीन कृषि कानूनों के विरोध में किसान लड़ाई लड़ रहा है। लेकिन सरकार किसानों की आवाज को दबाना चाहती है जो कि किसान सहन नही करेगा। उन्होंने कहा कि जितना सरकार किसानों को दबाने का काम करेगी किसान उतना ही मजबूत होगा और किसानों की आवाज बुलंद होती चली जाएगी। किसान नेता जोगिदर तालु ने कहा कि सरकार द्वारा लाए गए तीन नए कृषि कानून किसानों के लिए फांसी के फंदे जैसे है। और यह बात है देश का हर नागरिक जानता है इसलिए आज किसानों की इस लड़ाई में देश के बच्चे से लेकर बूढ़े व्यक्ति आंदोलन का समर्थन कर रहे हैं। कालीरमन खाप का भी समर्थन

जासं, भिवानी: अखिल भारतीय कालीरामण खाप ने कृषि कानूनों को लेकर आंदोलनरत किसानों का समर्थन किया है। खाप ने कहा है कि केंद्र सरकार को बिना किसी देरी के किसानों से बात करनी चाहिए और कृषि कानूनों में आवश्यक बदलाव को लेकर विचार करना चाहिए। खाप के जोन प्रधान ताशकंवर, पूर्व जोन प्रधान मीर सिंह और जोन संरक्षक डीएसपी दरियाव सिंह ने कहा कि खापे समाज का हिस्सा हैं। समाज के लिए बनी हैं। समाज हित में ही काम करती हैं। अनगिनत लोगों ने अपना जीवन समाज सेवा में लगाया है। उन्होंने खापों ने किसान आंदोलन को समर्थन देने का निर्णय लिया है। खाप नेताओं ने कहा कि सरकार किसानों को उनका जायज हक दे। जब इतना विरोध हो रहा है तो सरकार को भी इन कृषि कानूनों पर पुनर्विचार करना चाहिए। रुपये और अनाज देगी श्योराण खाप

किसान आंदोलन में सर्वजातीय श्योराण खाप-84 भी कूद गई है। खाप के प्रधान कर्मवीर फरटिया ने बताया कि श्योराण खाप प्रदेश और देश की सभी खापों के निर्णय के साथ चल रही है। वे रविवार को भी आंदोलन में थे और मंगलवार को भी जाना है। आंदोलित किसानों की मदद करने के लिए खाप के प्रत्येक गांव से लोग अपने साथ रुपये और अनाज एकत्र करके आंदोलन में हिस्सा लेंगे। लोहारू क्षेत्र से खाप के लोग कब जाएंगे, इसके बारे में उन्होंने बताया कि वे बैठक करके फैसला लेंगे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.