top menutop menutop menu

दिनभर चलती रही गर्म हवाएं, उमस से लोग परेशान

जागरण संवाददाता, चरखी दादरी : भारी उमस के चलते शनिवार को दिनभर लोगों को खासी परेशानियों से जूझना पड़ा। सुबह से ही गर्म हवाओं के चलने, धूप निकलने से लोग पसीने से तरबतर रहे। पिछले 24 घंटों के दौरान दादरी जिले में अधिकतम तापमान 40 व न्यूनतम 29 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

मौसम के जानकारों का कहना है कि अगले दो-तीन दिनों के दौरान हल्की बूंदाबांदी होने से दादरी जिले में मौसम में बदलाव व तापमान में गिरावट का सिलसिला शुरू हो सकता है। इसके बाद जुलाई के दूसरे सप्ताह तक प्री-मानसून की वर्षा शुरू होने से लोगों को गर्मी से काफी राहत मिलेगी लेकिन उमस का माहौल बना रह सकता है। शनिवार को दोपहर एक बजे तक दादरी नगर के बाजारों में खासी चहल पहल रही। इसके बाद गर्मी बढ़ने के कारण कहीं कहीं ही ग्राहक नजर आ रहे थे। बाजारों में शीतल पेयजल पदार्थो, कोल्ड ड्रिक्स, कुल्फा, आइसक्रीम, मैंगो शेक, मिल्क शेक, लस्सी, फलों के जूस, गन्ने के जूस इत्यादि की खासी मांग बनी रही। स्थानीय बिजली के सामान की दुकानों पर सिलिग फेन, कूलर इत्यादि की अधिक बिक्री बढ़ी रही। पहले की अपेक्षा सूती कपड़ों की बिक्री अधिक हो रही है। मौसम के मुताबिक लोगों के खान-पान, पहनवाने में बदलाव आया है।

पिछले कुछ दिनों से दादरी नगर की कई घनी जनसंख्या वाली कालोनियों में पेयजल संकट गहराता जा रहा है। विशेषकर नगर के पुराने शहर की कालोनियों व बाहरी बस्तियों में दिनभर लोग पानी के लिए परेशानियों से जूझते देखे जा रहे है। उनका कहना है कि उनके घरों में दो-दो दिनों में केवल एक बार पानी की सप्लाई छोड़ी जाती है। वह भी काफी कम समय के लिए होती है। इसी प्रकार कई कालोनियों से दूषित पेयजल आपूर्ति की समस्या पहले की तरह बदस्तूर जारी है। ऐसे में लोग महंगे दामों में कैंपर व टैंकर लेकर पेयजल की जरूरतें पूरी करते नजर आते है। सावधानियां रखना जरूरी : डा. सहरावत

दादरी नगर के चिकित्सक डा. आरएस सहरावत ने कहा कि तापमान में उतार चढ़ाव, हवाओं में नमी, उमस के चलते इन दिनों विभिन्न प्रकार की संक्रामक बीमारियों का प्रसार तेजी से होता है। इसलिए खान-पान, रहन-सहन में मौसम के अनुसार बदलाव करने जरूरी है। हमें अपने घरों व आसपास स्वच्छता के प्रति विशेष रूप से जागरूक रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मास्क पहनने, हाथों को साबुन से लगातार साफ करने, शारीरिक दूरी रखने जैसे नियमों की पालना करनी जरूरी है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.