:: पंजाब के ध्यानार्थ : कबड्डी में हरियाणा ने पंजाब को हरा कर जीता पहला इनाम

तोशाम स्थित चौ. सुरेन्द्र सिंह खेल स्टेडियम में गुरु द्रोणाचार्य अवार्ड मिलने पर अशन सांगवान का भव्य सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। उनको काफिले के साथ लाया गया और तोशाम पहुंचने पर अशन कुमार ने बाबा मुंगीपा धाम पर माथा टेका। समारोह में मंच संचालन कुलदीप पटौदी ने किया। सम्मान समारोह में सांस्कृतिक कार्यक्रम व पंजाब हरियाणा का कबड्डी मैच भी करवाया गया। पहला कबड्डी मैच हरियाणा दो टीमों में हुआ जिसमें रामभतेरी समैण व सुमीत मतलौडा के बीच आयोजित किया गया।

JagranPublish:Sat, 04 Dec 2021 07:58 PM (IST) Updated:Sat, 04 Dec 2021 07:58 PM (IST)
:: पंजाब के ध्यानार्थ : 
कबड्डी में हरियाणा ने पंजाब को हरा कर जीता पहला इनाम
:: पंजाब के ध्यानार्थ : कबड्डी में हरियाणा ने पंजाब को हरा कर जीता पहला इनाम

संवाद सहयोगी, तोशाम : तोशाम स्थित चौ. सुरेन्द्र सिंह खेल स्टेडियम में गुरु द्रोणाचार्य अवार्ड मिलने पर अशन सांगवान का भव्य सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। उनको काफिले के साथ लाया गया और तोशाम पहुंचने पर अशन कुमार ने बाबा मुंगीपा धाम पर माथा टेका। समारोह में मंच संचालन कुलदीप पटौदी ने किया। सम्मान समारोह में सांस्कृतिक कार्यक्रम व पंजाब हरियाणा का कबड्डी मैच भी करवाया गया। पहला कबड्डी मैच हरियाणा दो टीमों में हुआ जिसमें रामभतेरी समैण व सुमीत मतलौडा के बीच आयोजित किया गया। इसमें आठ अंकों से रामभतेरी समैण की टीम विजेता रही। दूसरा कबड्डी मैच पंजाब व हरियाणा की महिला टीम के बीच हुआ जिसमें हरियाणा की टीम ने पंजाब की टीम को 10 अंकों से हरा दिया। वहीं पुरुषों के हरियाणा व पंजाब की टीम में रोमांचक मुकाबला हुआ। मुकाबले में हरियाणा की टीम पहले पांच अंकों से पिछड़ रही थी लेकिन हरियाणा के खिलाड़ियों ने बढि़या प्रदर्शन करते हुए पंजाब की टीम को चार अंकों से हराया और पहला इनाम दो लाख रुपए प्राप्त किया व दूसरा इनाम पंजाब की टीम एक लाख 51000 हजार रुपए दिया गया। वहीं महिला वर्ग में पहला इनाम हरियाणा की टीम को एक लाख एक हजार रुपए व दूसरा इनाम पंजाब की टीम को 75 हजार रुपए दिया गया। काला अलखपुरा व रामभतेरी को बेस्ट रैडर का खिताब देकर सम्मानित किया।

सम्मान समारोह में शहीद परिवारों को किया सम्मानित

सम्मान समारोह में तोशाम क्षेत्र के सात शहीद परिवारों को सम्मानित किया गया जिसमें आमलपुर से शहीद प्रदीप नेहरा, सागबन से शहीद हवलदार विजय कुमार, तोशाम से ईशवर पंघाल, चनाना से शहीद सत्यवान, देवावास से शहीद रामकुमार, भारीवास से शहीद रमेश व मिरान से शहीद धर्मबीर सिंह के परिवार को सम्मानित किया गया। समारोह में लंदन से आने वाली गीतांजलि बहल, कोच हवासिंह सांगवान,कोच सुनील डबास,प्रसिद्ध समाजसेवी वेदपाल तंवर, मास्टर सतबीर रतेरा, राजेंद्र जैन, सूबे सिंह पूर्व सरपंच, शिवानी गुप्ता,सरपंच देवराज गोयल, मास्टर अश्वनी, सत्यवान टापली, कृष्ण चहल,राकेश नहरा,कोच बिजेन्द्र बागनवाला,कोच सुमन, हरियाणा केसरी पहलवान हवासिंह, कृष्ण गोदारा को सम्मानित किया। समारोह में गायक कलाकार विश्वजीत चौधरी, नवीन नारू, पीके राजली, बिन्नू गौड अपनी मधुर वाणी से प्रस्तुति देकर दर्शकों का मनोरंजन करवाया।

अशन सांगवान भारत की कबड्डी टीम के मुख्य कोच रहे और उनके प्रशिक्षण से 2019 में गोल्ड मेडल मिला व 2018 में टीम ने सिल्वर मेडल मिला था। ईरान कबड्डी टीम के मुख्य कोच जिसमें प्रशिक्षण के 2010 में सिल्वर मेडल जीता था। भारतीय टीम के मुख्य चयनकर्ता 2002 से 2006 तक रहे। राष्ट्रपति द्वारा अर्जुन पुरस्कार 1998 में मिला और 1998 में कोच रहते हुए जिनके प्रशिक्षण से बैंकों के एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल जीता। एकेएफआइ द्वारा अशन सांगवान को 1996 में भारत गौरव से सम्मानित किया गया। हरियाणा सरकार द्वारा 1994 में भीम पुरस्कार से नवाजा गया। भारतीय टीम के कप्तान 1985 से 1993 तक जिसमें एशियन खेलों में गोल्ड मेडल जीता। अशन सांगवान अर्जुन अवार्डी कबड्डी खिलाड़ी हैं, जो 1998 व 2006 में इंडिया तथा 2010 में ईरान व 2018 में साउथ कोरिया कबड्डी टीम के कोच रह चुके हैं। कबड्डी खिलाड़ी व कोच रहे अशन कुमार सांगवान को 13 नवंबर को राष्ट्रपति द्वारा गुरु द्रोणाचार्य अवार्ड से नवाजा गया था।