बारिश के 36 घंटों के बाद भी शहर में जल जमाव, ठहरा जनजीवन

जागरण संवाददाता चरखी दादरी बरसात रुकने के करीबन 36 घंटे बाद भी शहर की सड़कों व क

JagranSun, 01 Aug 2021 04:40 AM (IST)
बारिश के 36 घंटों के बाद भी शहर में जल जमाव, ठहरा जनजीवन

जागरण संवाददाता, चरखी दादरी : बरसात रुकने के करीबन 36 घंटे बाद भी शहर की सड़कों व कालोनियों पानी की निकासी नहीं हो सकी है। अभी भी जल जमाव की स्थिति होने से हर वर्ग प्रभावित है। कहीं-कहीं तो पानी की निकासी नहीं होने के कारण बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं। फर्क केवल इतना है कि कई स्थानों पर बाढ़ काफी मात्रा में नुकसान कर देती है और कुछ जगहों पर स्थिति नियंत्रण में रहती है। ये स्थिति तो तब है जब दादरी जिले में तीन दिनों के दौरान महज 100 एमएम बरसात हुई है। जबकि सामान्य तौर पर मानसून के दौरान जिले में करीब 450 एमएम तक बरसात होती है। लोगों का कहना है कि यदि इन हालातों में बरसात की मात्रा बढ़ती है तो दादरी के विभिन्न क्षेत्रों में बाढ़ आने की पूरी संभावनाएं हैं। लोगों का कहना है कि आगामी करीब एक माह तक बरसात होने के आसार है। ऐसे में यदि समय रहते प्रशासन द्वारा पानी निकासी के पुख्ता इंतजामात नहीं किए गए तो हालात और अधिक विकट बन सकते हैं। जिसका खामियाजा दुकानदारों व अन्य लोगों को भुगतना पड़ेगा। दूसरे दिन भी बाजारों में भरा रहा पानी

बता दें कि शुक्रवार सुबह करीब एक घंटे तक हुई बरसात के बाद दादरी के सदर थाना के बैक साइड स्थित डूंगरवाला जोहड़ ओवरफ्लो हो गया था। इसके बाद इसके साथ लगते नगर के मुख्य व्यावसायिक केंद्र माने जाने वाले रेलवे रोड, मेन बाजार, लाला लाजपतराय चौक, गांधी मार्केट बैक साइड, काठ मंडी, पुरानी अनाज मंडी इत्यादि क्षेत्रों में काफी मात्रा में पानी आ गया था। यह पानी बाजारों में स्थित सैकड़ों दुकानों में घुस गया। दूसरे दिन शनिवार को भी बाजारों में यही हालात बने रहे। जिसके चलते दूसरे दिन भी कई बाजारों में दुकानें नहीं खुल सकी। लगातार दो दिन तक बाजारों में पानी भरा रहने से दुकानदारों के साथ-साथ राहगीरों, वाहन चालकों को भी भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.