top menutop menutop menu

किसान के बेटे मुनीश ने यूपीएससी में पाया 604वां स्थान

किसान के बेटे मुनीश ने यूपीएससी में पाया 604वां स्थान
Publish Date:Wed, 05 Aug 2020 05:01 AM (IST) Author: Jagran

संवाद सहयोगी, बहल: क्षेत्र के गांव मोरकां के साधारण किसान सूरत सिंह के बेटे मुनीश ने 604वां स्थान हासिल करके यूपीएससी की परीक्षा में शानदार प्रदर्शन किया है। मुनीश ने परीक्षा की तैयारी के लिए नियमित करीब 10 घंटे पढ़ाई की है। तीसरे प्रयास में मुनीश ने परीक्षा उत्तीर्ण की है। वे मोरकां गांव के पहले युवा हैं, जिसने यूपीएससी परीक्षा पास की है। मुनीश के पिता सूरत सिंह ने कहा कि इससे गांव व क्षेत्र के अन्य विद्यार्थियों को भी प्रेरणा मिलेगी। मुनीश कुमार के यूपीएससी परीक्षा में पास होने की खबर सुनते ही गांव में खुशी की लहर छा गई और ग्रामीणों ने मुनीश के पिता सूरत सिंह को बधाई दी है। वहीं बीआरजेडी के प्राचार्य डा.डीपी सिंह, अनिल मुदगल व शिक्षकों ने बधाई प्रेषित की है और कहा कि उन्हें मुनीश पर नाज है। गांव के सरपंच राजू मोरकां, प्रवक्ता प्रहलाद सिंह आदि ने भी मुनीश को बधाई दी है।

---------

बड़े भाई व माता-पिता से मिली प्रेरणा

खेती बाड़ी करके गुजारा कर रहे सूरत सिंह रणवां ने बच्चों की शिक्षा के लिए जी तोड़ मेहनत करते हुए अच्छी परवरिश दी। मुनीश कुमार का बड़ा भाई विरेन्द्र सिंह राजकोट में कस्टम ऑफिसर के पद पर कार्यरत है। मुनीश ने बताया कि माता-पिता के उत्साहवर्धन और बड़े भाई के मागदर्शन से उसने कड़ी मेहनत करते हुए परीक्षा में सफलता हासिल की है। माता कृष्णा देवी ने खेती बाड़ी करने के साथ-साथ बच्चों में अच्छे संस्कार डालते हुए हमेशा उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए प्रेरित किया है।

-----

गांव के स्कूल में हुई प्रारंभिक शिक्षा

मुनीष कुमार ने आठवीं तक की शिक्षा गांव के सरकारी स्कूल में ग्रहण की। इसके बाद बहल के बीआरसीएम पब्लिक स्कूल ज्ञानकुंज में नौवीं और दसवीं की शिक्षा प्राप्त की। बीआरजेडी पब्लिक स्कूल भोरूग्राम से 12वीं करने के बाद मुनीश कुमार ने आइआइटी रूड़की से बीटेक की डिग्री हासिल की। स्कूली शिक्षा के दौरान मुनीश ने कोई ट्यूशन का सहारा नहीं लिया और अच्छे अंकों से डिग्री हासिल की है।

---------

एक साल जॉब के बाद यूपीएससी की तैयारी शुरू की

बीटेक की शिक्षा ग्रहण करने के दौरान कैम्पस प्लेसमेंट के तहत मुनीश कुमार का सॉफ्टवेयर कम्पनी में चयन हो गया। जिसमें एक साल तक नौकरी करने के बाद मुनीश ने यूपीएससी की तैयारी शुरू की और दिल्ली में कोचिग करते हुए नियमित रूप से 10 घंटे पढ़ाई की है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.