साइबर अपराध व फर्जी कस्टमर केयर नंबरों से लोगों को किया सावधान

जागरण संवाददाता चरखी दादरी साइबर अपराध व फर्जी कस्टमर केयर नंबरों से लोगों को सावधान

JagranFri, 22 Oct 2021 07:51 AM (IST)
साइबर अपराध व फर्जी कस्टमर केयर नंबरों से लोगों को किया सावधान

जागरण संवाददाता, चरखी दादरी : साइबर अपराध व फर्जी कस्टमर केयर नंबरों से लोगों को सावधान रखने के लिए दादरी जिला पुलिस ने एडवाइजरी जारी की है। पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार ने बताया कि तकनीक के इस युग में लगभग सभी व्यक्ति कंप्यूटर या मोबाइल से जुड़े हुए हैं। ऐसे में साइबर अपराधी भी अपराध करने के नए-नए तरीके अपना रहे हैं। जिसमें एक तरीका फर्जी कस्टमर केयर के माध्यम से लोगों के रुपये ठगना भी शामिल है। उन्होंने बताया कि आमजन किसी भी कंपनी के कस्टमर केयर का नंबर पाने के लिए सर्च इंजन का सहारा लेते हैं। ऐसा करते समय कुछ सावधानियां बरतने की जरूरत है। क्योंकि साइबर अपराधी किसी भी तरह की चूक की ताक में रहते हैं। इंटरनेट मीडिया के माध्यम से फेसबुक और ट्विटर से लेकर गूगल तक ये अपराधी फर्जी कस्टमर केयर नंबर डालकर अपना जाल फैलाते हैं। किसी भी व्यक्ति द्वारा की गई जरा ली लापरवाही पर वह साइबर अपराधियों के जाल में फंस जाता है। साइबर अपराधी किसी बैंक, कंपनी या संस्था की वेबसाइट से मिलती-जुलती वेबसाइट बनाने से लेकर वेबसाइट व गूगल मैप इत्यादि पर गलत फोन नंबर डालकर रखते हैं। जिसके कारण लोग असली और फर्जी वेबसाइट में फर्क नहीं पहचान पाते और साइबर ठगी का शिकार हो जाते हैं। इन बातों का रखें ध्यान

पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार ने बताया कि इंटरनेट मीडिया पर विभिन्न साइटों का इस्तेमाल करते समय इन बातों का ध्यान रखना जरूरी है : - आनलाइन एप पर सर्च करते समय रिजल्ट में सबसे ऊपर दिखी वेबसाइट को ही सही ना मानें। सबसे ऊपर के रिजल्ट के साथ यदि विज्ञापन लिखा दिख रहा है तो उस पर क्लिक करने से परहेज करें। - यदि कोई सरकारी वेबसाइट है तो उसके अंत में जीओवी डाट आइएन या एनआइसी डाट आइएन जरूर होता है। अगर ऐसा है तो वेबसाइट सही है। - कोई भी वेबसाइट खोलते समय यह अवश्य जांच ले कि वह सुरक्षित है या नहीं। - गूगल मैप के रिजल्ट पर एकदम से कभी भी भरोसा न करें, इसे कोई भी एडिट कर सकता है। - ट्विटर और फेसबुक पर ब्ल्यू टिक जरूर चेक करें। अगर ये सत्यापित है तो सुरक्षित हैं। - किसी भी तरह के लालच में न आएं। वर्तमान समय में साइबर अपराधी सस्ता लोन या प्रलोभन इत्यादि किसी भी तरह का आफर देने के बहाने लोगों के साथ ठगी कर रहे हैं। पोर्टल पर दें शिकायत : एसपी

जिला पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार ने कहा कि यदि किसी व्यक्ति के साथ किसी भी प्रकार का साइबर अपराध घटित हो जाता है तो वह इसकी शिकायत नेशनल साइबर क्राइम पोर्टल साइबरक्राइम डाट जीओवी डाट आइएन पर, सरकार द्वारा जारी हेल्पलाइन नंबर 155260 पर भी अपनी शिकायत दर्ज करवा सकता है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.