किसानों को ठंड से बचाने के लिए कहीं पर रैन बसेरा तो कहीं बनाए रेस्ट हाउस

किसानों को ठंड से बचाने के लिए कहीं पर रैन बसेरा तो कहीं बनाए रेस्ट हाउस

100 लोगों के ठहरने के लिए रैन बसेरे बनाए गए हैं

Publish Date:Wed, 20 Jan 2021 07:20 AM (IST) Author: Jagran

100 लोगों के ठहरने के लिए रैन बसेरे बनाए गए हैं फोटो-17,18 व 19: जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़:

तीन कृषि कानूनों को रद करने की मांग को लेकर आंदोलनरत किसानों को ठंड से बचाने के लिए कहीं पर रैन बसेरा तो कहीं पर रेस्ट हाउस बनाए गए हैं। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की ओर से 100 लोगों के ठहरने के लिए रैन बसेरे बनाए गए हैं। नया गांव चौक के आसपास ये रैन बसेरे बनाए गए हैं। नेशनल हाइवे नौ पर ही तंबू तान कर रैन बसेरे बनाए गए हैं। चार रैन बसेरे बनाए गए हैं जिसमें 25-25 लोगों के ठहरने की सुविधा दी गई है। कमेटी के पदाधिकारी मनजिदर सिंह सिरसा ने बताया कि इन बसेरों में किसानों को रात गुजारने और ठंड से बचाने के लिए प्रबंध किए गए हैं। इससे किसानों को काफी सुविधा मिली है। किसान रात में यहां सो जाते हैं। यहां पर रजाई गद्दे व कंबल आदि की सुविधा है ताकि किसान आसानी से ठंड में रात गुजार सकें। इसके अलावा पंजाब के मालेरकोटला से भी मुस्लिम ब्रदरहुड संगठन की ओर से नया गांव चौक के पास 250 लोगों के ठहरने के लिए एक रेस्ट हाउस बनाया जाता है। हां पर 100 महिलाएं भी ठहर सकती हैं। संगठन से मोहम्मद आजाद हर रोज यह सुविधा यहां पर ठहरने के लिए दे रहे हैं। साथ ही दिन में लंगर सेवा भी करते हैं। यहां पर नमकीन चावल व मीठे चावल की सेवा के लिए लंगर चलाया जा रहा है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.