केएमपी के साथ सोनीपत-पलवल रेल लाइन: एनएच-9 और दिल्ली-रोहतक रेल लाइन को क्रॉस करने के लिए एलिवेटिड ट्रैक का प्रस्ताव, मौजूदा लाइन पर नया आसौदा स्टेशन

केएमपी के साथ सोनीपत-पलवल रेल लाइन: एनएच-9 और दिल्ली-रोहतक रेल लाइन को क्रॉस करने के लिए एलिवेटिड ट्रैक का प्रस्ताव, मौजूदा लाइन पर नया आसौदा स्टेशन

- मांडौठी से जसौर खेड़ी के बीच एलिवेटिड ट्रैक बनाने का प्रस्ताव किया गया तैयार

JagranSat, 20 Feb 2021 07:10 AM (IST)

- मांडौठी से जसौर खेड़ी के बीच एलिवेटिड ट्रैक बनाने का प्रस्ताव किया गया तैयार, मांडौठी टोल प्लाजा के पास केएमपी के एंट्री-एग्जिट डिजाइन में भी फेरबदल की संभावना - केएमपी व एनएच-9 को लेकर होने वाले फेरबदल को लेकर एचएसआइआइडसी, एनएचएआइ व एचआरआइडीसी के अधिकारी मिलकर तैयार करेंगे प्रस्ताव फोटो-9 व 10: जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़:

कुंडली मानेसर पलवल (केएमपी) के साथ पलवल से सोनीपत के बीच बनने वाले रेल कॉरिडोर को राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या नौ (एनएच-9) व दिल्ली-रोहतक रेल लाइन को क्रॉस करने के लिए हरियाणा रेल इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलेपमेंट कार्पोरेशन (एचआरआइडीसी) की ओर से एलिवेटिड ट्रैक का प्रस्ताव तैयार किया गया है। इस लाइन के मांडौठी रेलवे स्टेशन से लेकर जसौर खेड़ी रेलवे स्टेशन के बीच एलिवेटिड ट्रैक का प्रस्ताव है। इसी ट्रैक पर दिल्ली-रोहतक रेल लाइन के ऊपर नया आसौदा स्टेशन बनाने का भी प्रस्ताव है। एनएच-9 के पास बनने वाले इस जंक्शन के कारण केएमपी के एंट्री-एग्जिट व एनएच-9 के डिजाइन में भी फेरबदल की संभावना है। इसके लिए हरियाणा राज्य औद्योगिक आधारभूत संरचना विकास निगम (एचएसआइआइडीसी), भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआइ) और एचआरआइडीसी के अधिकारी जल्द ही आपस में बैठक कर इस फेरबदल वाले डिजाइन को अंतिम रूप देंगे। इसके अलावा आसौदा व जसौर खेड़ी के ग्रामीणों की मांग पर जसौर खेड़ी से आसौदा रेलवे स्टेशन और आसौदा रेलवे स्टेशन से मांडौठी रेलवे स्टेशन तक नई लिक रेल लाइन बिछाने का भी प्रस्ताव तैयार किया गया है। मगर यह सब सभी संबंधित अधिकारियों की ओर से मौके का निरीक्षण कर फिजिबलिटीके आधार पर तय होगा कि एचआरआइडीसी की ओर से बनाए गए इनमें से कौन सा प्रस्ताव फाइनल होता है या कोई और नया प्रस्ताव तैयार होता है। फिलहाल अधिकारियों की ओर से ग्रामीणों की मांग पर विचार करते हुए अलग-अलग प्रस्ताव तैयार किए जा रहे हैं। पलवल से सोनीपत के बीच रेल लाइन के कुछ तथ्य:

- सोनीपत से पलवल के बीच दौड़ेंगी सेमी हाईस्पीड सब-अर्बन ट्रेन

- 160 किलोमीटर प्रति घंटे की होगी स्पीड

- सालाना 60 लाख टन माल ढुलाई करने के लिए प्रोजेक्ट किया डिजाइन

- सालाना 40 लाख यात्री सफर कर सकेंगे

- इस रेल मार्ग पर यात्री ट्रेनों के साथ मालगाड़ी भी चलेंगी, जो सीधे गुरुग्राम के क्षेत्र को दिल्ली के बाहर से राज्य की राजधानी चंडीगढ़ से जोड़ेंगी।

- यह मार्ग यात्रा के समय को कम करेगा।

- दिल्ली को बाईपास करते हुए इस रेल मार्ग पर शताब्दी, सुपरफास्ट एक्सप्रेस जैसी ट्रेनें चलेंगी ताकि राज्य के लोगों को तेज, विश्वसनीय, सुरक्षित और आरामदायक यात्रा प्रदान की जा सके।

- इस प्रोजेक्ट से हरियाणा के एनसीआर क्षेत्र में मल्टीमॉडल हब विकसित करने में मदद मिलेगी।

- यह रेल मार्ग राज्य के सभी प्रमुख औद्योगिक शहरों को जोड़ने वाला होगा।

- इसके तीन साल में 2023-24 तक पूरा होने की उम्मीद

- यह दिल्ली से पलवल और सोनीपत के बीच सीधी रेल कनेक्टिविटी और असावटी (दिल्ली-मथुरा मार्ग पर), पाटली (दिल्ली-रेवाड़ी मार्ग पर), आसौदा (दिल्ली-रोहतक मार्ग पर) और हरसाना कलां (दिल्ली-अंबाला मार्ग) को जोड़ने का काम करेगा।

- पलवल से सोनीपत तक हरियाणा ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर प्रोजेक्ट की लंबाई करीब 130 किलोमीटर किलोमीटर है

- भूमि अधिग्रहण और निर्माण के दौरान ब्याज सहित कुल परियोजना लागत 5,566 करोड़ रुपये

- इसमें 14 नए स्टेशन और तीन मौजूदा स्टेशन

- 23 प्रमुख जलमार्ग पुल

- 195 मामूली जलमार्ग पुल

- तीन नए फ्लाईओवर सहित 17 स्टेशन होंगे।

- दो रोड ओवर ब्रिज और 153 रोड अंडरब्रिज होंगे।

- सोहना के पास पहाड़ी होने की वजह से करीब चार किलोमीटर लंबी टनल बनाई जाएगी।

- बहादुरगढ़ के आसौदा रेलवे स्टेशन को जोड़ने के लिए मेन लाइन से लिक लाइन बिछाने का प्रस्ताव ये होंगे स्टेशन:

- न्यू पलवल

- सिलानी

- सोहना

- धूलावत

- चंदला डूंगरवास

- मानसेर

- न्यू पाटली

- बाढ़सा

- देवरखाना

- बादली

- मांडौठी

- जसौर खेड़ी

- खरखौदा

- तुर्कपुर

- हरसाना कलां जमीन के अधिग्रहण का चल रहा काम:

केएमपी के साथ बिछाई जाने वाली इस रेल लाइन के लिए पलवल, नूह, गुरुग्राम, झज्जर व सोनीपत जिले की सीमा में पड़ने वाली जमीन के अधिग्रहण का काम चल रहा है। गुरुग्राम की ओर से जमीन का प्रपोजल आ चुका है। अन्य जिलों में यह प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। झज्जर के बादली व बहादुरगढ़ उपमंडल के 18 गांवों की जमीन इस प्रोजेक्ट में अधिग्रहित की जाएगी। प्रोजेक्ट के लिए कुल करीब 655.92 हेक्टेयर जमीन चाहिए। इसमें से करीब 97 हेक्टेयर जमीन सरकार की विभिन्न एजेंसियों की ओर से पहले ही अधिग्रहित कर रखी है। ऐसे में इस रेलवे लाइन के लिए किसानों की 558.25 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण किया जाना है। केएमपी के साथ 150 से 200 फीट जगह में यह रेल लाइन बिछाई जाएगी। इसके लिए जमीन को चिन्हित कर लिया गया है। निशानदेही करके पिलर भी लगा दिए गए हैं। वर्जन.

पलवल से सोनीपत रेल लाइन बिछाने को लेकर जमीन के अधिग्रहण की प्रक्रिया चल रही है। केएमपी के साथ एनएच-9 को क्रॉस करने के लिए फिलहाल एलिवेटिड ट्रैक बनाने का प्रस्ताव है। यहीं पर दिल्ली-रोहतक रेल लाइन के ऊपर नया आसौदा रेलवे स्टेशन बनाया जाएगा। एस्केलेटर से यात्री इस स्टेशन पर आ-जा सकेंगे। यह मौजूदा रेलवे स्टेशन से कुछ ही दूरी पर होगा। जसौर खेड़ी व आसौदा के ग्रामीणों की मांग पर अलग से लिक लाइन का भी प्रस्ताव बनाया गया है। जल्द ही फिजिबलिटी चैक करके किसी एक प्रस्ताव को अंतिम रूप दिया जाएगा।

-हितेंद्र कुमार, एसडीएम, बहादुरगढ़

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.