अब औद्योगिक क्षेत्र में सड़क पर कूड़ा फेंकने व जलाने वालों पर होगा दस गुणा जुर्माना, पांच की बजाय 50 हजार का कटेगा चालान

अब औद्योगिक क्षेत्र में सड़क पर कूड़ा फेंकने व जलाने वालों पर होगा दस गुणा जुर्माना, पांच की बजाय 50 हजार का कटेगा चालान
Publish Date:Sat, 31 Oct 2020 08:10 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़ : शहर के औद्योगिक क्षेत्रों में सड़कों पर कूड़ा डालने और भवन निर्माण सामग्री खुले में डालने की 20 से 30 शिकायतें हर रोज एचएसआइआइडीसी को मिल रही हैं। ये शिकायतें फोटो समेत केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से गठित टीमें भेज रही हैं।

बोर्ड की टीमें एनसीआर क्षेत्र में हर रोज प्रदूषण पर अंकुश लगाने के लिए निरीक्षण कर रही हैं और संबंधित क्षेत्रों के विभागों को इन शिकायतों का समाधान तथा उनके खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए जा रहे हैं। इन शिकायतों को दूर करने के लिए एचएसआइआइडीसी के अधिकारियों के भी पसीने छूट रहे हैं। इसी के चलते निगम की ओर से अब तक सड़क पर कूड़ा डालने व खुले में भवन निर्माण सामग्री डालने वालों पर पांच हजार रुपये जुर्माना किया जाता था। मगर शिकायतें बढ़ती देख अब निगम ने पांच की बजाय 50 हजार रुपये का जुर्माना लगाने का निर्णय लिया है ताकि लोग जुर्माने से बचने के लिए जागरूक होकर सड़क पर कूड़ा डालना व खुले में भवन निर्माण सामग्री डालने से परहेज करने लगे। शहर में बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए निगम ने यह कठोर कदम उठाने का निर्णय लिया है। नहीं रुक रहीं खुले में कूड़ा जलने की घटनाएं और सड़कों पर उड़ती धूल, पीएम 2.5 पहुंचा 366 माइक्रोग्राम:

प्रशासन की ओर से प्रदूषण पर अंकुश लगाने के लिए आवश्यक कदम उठाने के कितने भी दावे किए जाएं लेकिन यहां पर सड़कों पर धूल अब भी उड़ रही है। कूड़ा जलने की घटनाएं नहीं रूक रही हैं। इसके अलावा प्रदूषण फैलाने वाले अन्य कारकों पर भी अंकुश नहीं लग रहा है। भवन निर्माण सामग्री अब भी खुले में ही पड़ रही है। इन सबकी वजह से क्षेत्र का प्रदूषण बढ़ता ही जा रहा है। शुक्रवार को पीएम 2.5 का स्तर 366 माइक्रोग्राम दर्ज किया गया।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की टीम अब औद्योगिक क्षेत्र को लेकर सख्त हो गई है। यहां पर सड़कों पर कूड़ा पड़ा होने और भवन निर्माण सामग्री खुले में पड़ा होने पर तुरंत फोटो समेत रिपोर्ट उनके पास भेज रही है। हमने भी 20 से ज्यादा लोगों को नोटिस दिया है। उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। अब सड़कों पर कूड़ा डालने वालों पर पांच की बजाय 50 हजार रुपये जुर्माना करने का निर्णय लिया है। इसके लिए औद्योगिक क्षेत्रों में मुनादी भी करवाई जाएगी। लोग जागरूक नहीं हुए तो जुर्माना वसूलने की कार्रवाई भी शुरू की जाएगी।

नवीन मलिक, सहायक प्रबंधक, एचएसआइआइडीसी, बहादुरगढ़।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.