नाहरा-नाहरी रोड पर तीन घंटे चली कार्रवाई, दुकानदारों ने किया कड़ा विरोध

जेसीबी के आगे अड़ गए। खूब तू-तू मै मैन की गई। सेंट्रल बैंक वाले भवन के सामने रखे जनरेटर को हटाने पर दुकानदार व अधिकारियों में नोक-झोंक हो गई।

JagranPublish:Wed, 04 Aug 2021 07:00 AM (IST) Updated:Wed, 04 Aug 2021 07:00 AM (IST)
नाहरा-नाहरी रोड पर तीन घंटे चली कार्रवाई, दुकानदारों ने किया कड़ा विरोध
नाहरा-नाहरी रोड पर तीन घंटे चली कार्रवाई, दुकानदारों ने किया कड़ा विरोध

जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़:

नाहरा-नाहरी रोड पर नगर परिषद की टीम ने करीब तीन घंटे तक कार्रवाई करते हुए 20 से ज्यादा दुकानों के आगे बने बरामदे से अवैध कब्जे हटा दिए। यहां पर दुकानदारों ने कार्रवाई का कड़ा विरोध किया। जेसीबी के आगे अड़ गए। खूब तू-तू मै मैन की गई। सेंट्रल बैंक वाले भवन के सामने रखे जनरेटर को हटाने पर दुकानदार व अधिकारियों में नोक-झोंक हो गई। दुकानदारों पर एमई अमन राठी, जेई रोहित व राजकुमार के साथ गाली-गलौच करने, जातिसूचक शब्द कहने व हाथापाई का प्रयास करने का आरोप है। पुलिस को दुकानदार तिलकराज व ऋषि प्रकाश के खिलाफ शिकायत दी गई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

एसडीएम के आदेश पर नगर परिषद के एमई अमन राठी, जेई रोहित, जेई राजकुमार, जेई दलबीर देशवाल, भू अधिकारी नीरज शर्मा, सफाई निरीक्षक सुनील हुड्डा के नेतृत्व में भारी संख्या में सफाई कर्मचारी व पुलिस बल के साथ पूरी टीम करीब साढ़े 12 बजे नाहरा-नाहरी रोड पर पहुंची। यहां पर नप की दुकानों के आगे बरामदे में दुकानदारों की ओर से अवैध कब्जा कर रखा था। इस बारे में शिकायत होने पर दुकानदारों को ये अवैध कब्जे हटाने के लिए तीन बार नोटिस भी दिया था। दुकानदारों की ओर से अवैध कब्जे न हटाने की वजह से मंगलवार को नप की टीम कार्रवाई कर दी। सबसे पहले एसके ज्वैलर्स के बरामदे में बनाए गए कैंचीनुमा गेट को हटाने लगे। उन्होंने कुछ देर का समय मांगा। फिर दूसरी दुकानों के सामने बने अवैध कब्जों को तोड़ने लगे तो दुकानदारों ने पहले तो समय मांगा। नप के अधिकारियों ने कोई मोहलत नहीं दी और तोड़फोड़ शुरू की तो कुछ दुकानदार जेसीबी के आगे अड़ गए। पुलिस ने उन्हें हटाकर कार्रवाई जारी रखी। फिर दोबारा से एसके ज्वैलर्स के यहां अवैध गेट को हटाने लगे तो यहां पर भारी संख्या में दुकानदार इकट्ठा हो गए नाहरा-नाहरी रोड पर जाम लगाने का प्रयास किया। उन्हें भी पुलिस बल ने तुरंत हटा दिया और तोड़फोड़ कार्रवाई जारी रखी। इस कार्रवाई को लेकर कुछ दुकानदारों ने तुरंत खुद भी अपने अवैध कब्जे हटा लिए। साढ़े तीन बजे तक चली इस कार्रवाई में नप ने 20 से ज्यादा दुकानों के आगे से अवैध कब्जे हटा दिए। ये है नप की दुकानों के आगे बरामदे में अवैध कब्जे का पूरा मामला:

कुछ माह पहले एसडीएम हितेंद्र कुमार की कोर्ट ने रेलवे रोड व नाहरा-नाहरी रोड पर दुकानदारों की ओर से दुकानों के आगे बने छह फीट के बरामदे में किए गए अवैध कब्जे को लेकर बड़ा फैसला दिया था। सामाजिक कार्यकर्ता राहुल मंडोरा की ओर से दायर किए गए दावे पर करीब पांच साल लंबी चली सुनवाई के बाद एसडीएम ने अपना फैसला लिया था। रेलवे रोड पर 69 और नाहरा-नाहरी रोड 99 दुकानें हैं। फैसले में एसडीएम हितेंद्र कुमार ने कहा था कि दुकानों के आगे बने बरामदे पर दुकानदारों का हक नही है। ऐसे में यहां किए गए अवैध कब्जों को तोड़ने के आदेश दिए गए थे। इस पर नप ने गत 19 मार्च, 13 अप्रैल और फिर जुलाई के मध्य में इन दुकानदारों को नोटिस दिए गए थे। नाहरा-नाहरी रोड पर दुकानों के आगे बने बरामदे से अवैध कब्जे हटाए गए हैं। नाहरा-नाहरी रोड पर कुछ और दुकानदारों को भी अतिक्रमण हटाने की चेतावनी दी गई है। इसी दौरान सेंट्रल बैंक आफ इंडिया वाले भवन के मालिकों की ओर से उनके साथ बदतमीजी की गई और गाली-गलौच किया गया। इस पर उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

-अमन राठी, एमई, नगर परिषद, बहादुरगढ़।