मुंगेशपुर ड्रेन की क्षमता 2400 क्यूसिक की, बह रहा तीन हजार, और बारिश हुई तो कई कालोनियां डूबने का बढ़ा खतरा

शहर से गुजर रही मुंगेशपुर ड्रेन की क्षमता 2400 क्यूसिक पानी है लेकिन सितंबर माह में अब तक भारी बारिश होने की वजह से इसमें 20 फीसद से ज्यादा पानी बह रहा है।

JagranFri, 17 Sep 2021 07:40 AM (IST)
मुंगेशपुर ड्रेन की क्षमता 2400 क्यूसिक की, बह रहा तीन हजार, और बारिश हुई तो कई कालोनियां डूबने का बढ़ा खतरा

जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़:

शहर से गुजर रही मुंगेशपुर ड्रेन की क्षमता 2400 क्यूसिक पानी है लेकिन सितंबर माह में अब तक भारी बारिश होने की वजह से इसमें 20 फीसद से ज्यादा पानी बह रहा है। इसमें फ्लड लेवल से ऊपर पानी बह रहा है। कई जगह किनारों से भी ऊपर पानी बह रहा है। इसमें करीब तीन हजार क्यूसिक पानी बह रहा है। इस कारण से छोटूराम नगर की कई गलियों में पानी भर गया है। सैंकड़ों मकान डूब गए हैं। वीरवार को भी 15.8 मिलीमीटर बारिश हुई है। अभी एक-दो दिन और बारिश के आसार हैं। सितंबर माह में अब तक 200 एमएम बारिश हो चुका है। अगर आगे भी बारिश की ऐसी ही स्थिति रही तो ड्रेन के साथ लगती कई और कालोनियों में पानी घुस सकता है। ड्रेन के ओवरफ्लो होने से छोटूराम नगर का सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट भी डूब गया है। यह तीन दिन से बंद पड़ा है। ऐसे में वार्ड एक से लेकर 10 तक सीवर व्यवस्था ठप पड़ी है। कई कालोनियों में सीवर ओवरफ्लो होकर गलियों में दूषित पानी भर रहा है। नजफगढ़ रोड के सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट में भी पानी घुसा हुआ है। जनस्वास्थ्य विभाग के एसडीओ संदीप दूहन ने बताया कि इस प्लांट से पानी की निकासी के लिए डीजल के तीन पंप सेट लगाए हैं। उधर, झाड़ौदा गांव में भी ड्रेन से पानी भर गया है। यहां के खेतों में पानी ही पानी दिखाई दे रहा है। बहादुरगढ़ से पंप सेट से ड्रेन में पानी डालने का झाड़ौदा के ग्रामीणों ने कड़ा विरोध किया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.