कृषि तकनीक के साथ डिजिटल क्राति का हो रहा है सूत्रपात

जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़:

सूचना, जन संपर्क एवं भाषा विभाग की ओर से बुधवार देर साय गाव जाखौदा में चौपाल पर संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया। गाव के बीच में स्थित बड़ी चौपाल पर आयोजित चौपाल पर संवाद कार्यक्रम में ग्रामीणों के बीच बैठकर विभागीय अधिकारियों ने सरकार की जनहितकारी नीतियों व योजनाओं की जानकारी ग्रामीणों के साथ साझा की। कृषि विभाग के एसडीओ डा.सुनील कौशिक ने विभागीय गतिविधियों से ग्रामीणों को अवगत कराते हुए सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को लेकर विस्तार से चर्चा की।

चौपाल पर संवाद कार्यक्रम के तहत ग्रामीणों से रूबरू होते हुए कृषि विभाग के एसडीओ डा.सुनील कौशिक ने विभागीय रूपरेखा से अवगत कराते हुए कहा कि पर्यावरण सरंक्षण के लिए फसल अवशेष प्रबंधन सरकार की प्राथमिकता में शामिल है। पराली प्रबंधन को लेकर सरकार की ओर से अनुदान योजना के तहत झज्जर जिला में 30 कस्टमर हायरिंग सेंटर भी खोले जा रहे है ताकि किसानों को आसानी से सस्ती दर पर कृषि यंत्र उपलब्ध हो सकें । उन्होंने बताया कि कृषि यंत्र बैंक कलस्टर वार काम करेंगे। कस्टमर हायरिंग सेंटर्स के जरिए लाखों रुपये कीमत के कृषि संयंत्र अब सीधे किसानों की पहुंच में होंगे। इन संयंत्रों के उपयोग से धान की कटाई के बाद पराली व अन्य अवशेष अब किसानों को जलाने नहीं पड़ेंगे। फसल अवशेष प्रबंधन के लिए कृषि यंत्र खरीदने के लिए हरियाणा सरकार द्वारा सीएचसी के माध्यम से कृषि यंत्र खरीदने के लिए 80 फीसद अनुदान व सिंगल व्यक्ति के लिए यंत्र खरीदने पर 50 फीसद अनुदान देने का प्रावधान किया गया है।

समारोह में डीआइओ अमित बंसल ने कहा कि झज्जार जिले के बहादुरगढ़, बेरी व झज्जार में सरल केंद्र शुरू किए गए है ताकि लोगों को एक ही छत के नीचे सरकार की योजनाओं का लाभ सीधे तौर पर डिजिटल तरीके से लोगों को जल्द मिले। अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस सरल केंद्र आमजन के लिए सुविधापूर्ण है। जिला सूचना एवं जन संपर्क अधिकारी कार्यालय की सास्कृतिक मंडली और सिनेमा यूनिट द्वारा गाव जाखौदा में अपने रात्रि ठहराव कार्यक्रम के तहत पहुंचकर लोक शैली के जरिए सरकार की नीतियों को बताया गया। जिला सूचना एवं जन संपर्क अधिकारी नीरज कुमार ने ग्रामीणों से सीधा संवाद करते हुए विभागीय योजनाओं पर विस्तार से चर्चा की।

इस अवसर पर एआइपीआरओ बहादुरगढ़ दिनेश कुमार, एआइपीआरओ झज्जार सतीश कुमार, एआइपीआरओ बेरी बिजेंद्र, कृषि विभाग के ब्लाक कृषि अधिकारी डा.प्रदीप राठी, विकास ठुकराल व नवीन कुमारी आदि मौजूद थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.